इलाहाबाद हाईकोर्ट ने देशद्रोह के आरोपी पार्षद फज़ल खान को दी सशर्त जमानत  | allahabad – News in Hindi

0
69
.
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने देशद्रोह के आरोपी पार्षद फज़ल खान को दी सशर्त जमानत 

इलाहाबाद हाईकोर्ट (फाइल फोटो))

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने देशद्रोह के आरोप में जेल में बंद करेलाबाग के पार्षद फज़ल खान (Councilor Fazal Khan) की जमानत सशर्त मंजूर कर ली है.

प्रयागराज. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने देशद्रोह के आरोप में जेल में बंद करेलाबाग प्रयागराज के पार्षद  फज़ल खान (Councilor Fazal Khan) की जमानत सशर्त मंजूर कर ली है. कोर्ट ने याची पार्षद को जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया है. यह आदेश जमानत अर्जी पर सुनवाई करते हुए जस्टिस राम कृष्ण गौतम (Justice Ram Krishna Gautam) की एकल पीठ ने दिया है.

हाईकोर्ट ने रखी ये शर्त
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने साक्ष्यों से छेड़छाड़ न करने और गवाहों को प्रभावित न करने की शर्त पर जमानत मंजूर की है. साथ ही कहा है कि मुकदमे के ट्रायल में वह पूरा सहयोग करेगा और केस की तारीख पर हाजिर होगा. याची पर आरोप है कि उसने सीएए-एनआरसी के खिलाफ आंदोलन में भारत सरकार और देश विरोधी पम्फलेट बांटे थे. 22 मार्च को पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. याची 23 मार्च से प्रयागराज की नैनी सेंट्रल जेल में बंद है. पार्षद फज़ल खान पर देशद्रोह का मामला भी थाना करेली में दर्ज है. यही नहीं, करेलाबाग प्रयागराज के पार्षद फज़ल खान को धारा 153 बी, 124 ए आईपीसी में आरोपी बनाया गया है.

ये भी पढ़ें- COVID-19 Update: UP में कोरोना के 3490 नए मामले, अब तक 1497 मरीजों की मौतयाची ने कोर्ट में कही ये बात

जिला कोर्ट ने करेलाबाग प्रयागराज के पार्षद फज़ल खान की जमानत अर्जी खारिज कर दी थी. याची का कहना था कि वह निर्दोष है. राजनीति के कारण उसे फंसाया गया है. उसके पास से और पम्फलेट नहीं मिले और न ही उसकी निशानदेही पर ही कोई सामग्री बरामद हुई है. एक केस में वह जमानत पर है. जबकि तीन अन्य मामलों की उसे जानकारी नहीं है. वह जमानत पर रिहा होने पर दुरूपयोग नहीं करेगा. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मेरिट पर कोई विचार व्यक्त न करते हुए पार्षद फज़ल खान की जमानत मंजूर कर रिहाई का निर्देश दिया है.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here