गोरखपुर अपहरण और हत्या मामले में एक दारोगा और दो हेड कॉन्सटेबल सस्पेंड

0
120
.

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश अपराधों का प्रदेश बनता जा रहा है। यूपी से एक के बाद एक दिल दहलाने वाली वारदातें सामने आ रही हैं। जिनको सुन कर किसी के भी रोंगटे खड़े हो जाएगें। गोरखपुर में एक बच्चे के अपहरण के बाद हत्या से यूपी में हड़कंप मच गया है। हाल ही में कानपुर में हुए संजीत यादव का अपहरण और फिर हत्या के बाद गोरखपुर से ऐसा ही एक मामला सामने आने के बाद उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर अब सवालों की तलवार लटक रही है।

आपको बता दें कि गोरखपुर में बच्चे के अपहरण और हत्या के मामले में एसएसपी ने सोमवार रात हल्का दारोगा दिग्विजय सिंह और मुख्य हेड कॉन्सटेबल प्रदीप सिंह और सुरेन्द्र तिवारी को सस्पेंड कर दिया है। इनके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश भी दे दिए गए हैं। बता दें कि इनके ऊपर कार्य में शिथिलता और अपने दायित्यों का निर्वहन न करने का आरोप है।

जेल में बंद भाइयों की कलाइयां इस बार रहेंगी सूनी, नहीं बंधवा पाएंगे बहनों से राखी

इस मामले में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने सख्त कार्रवाही के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले में सख्त रुख अपनाते हुए कहा कि उन्होंने दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई और इस मामले में पुलिस की जवाबदेही तय करने के साफ निर्देश दिए हैं। सीएम योगी ने बच्चे के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए पांच लाख रुपए की आर्थिक मदद करने की घोषणा की है।

सीएम ने कहा कि राज्य सरकार मामले की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई कराकर अपराधियों को जल्द से जल्द सजा दिलाएगी। दरअसल गोरखपुर में पिपराइच थाना क्षेत्र स्थित जंगल छत्रधारी के मिश्रौलिया टोला निवासी महाजन गुप्ता घर में ही किराना की दुकान चलाने वाले और जमीन के कारोबारी हैँ। उनका बेटा बलराम कक्षा पांच में पड़ता था। रविवार को दोपहर 12 बजे उनका बेटा खेलने निकला था जिसके बाद ही उसका अपहरण हो गया। बलराम के घर वालों के पास रविवार के दिन 3 कॉल आईं। बतादें कि किडनैपर्स ने 1 करोड़ की फिरौती की रकम मांगी थी।

अयोध्या में पीएम मोदी के दौरे से पहले पंहुचे अफसर, राम मंदिर भूमि पूजन की व्यवस्थाओं का करेंगे जायजा

पहले तो महाजन ने इसे किसी की शरारत समझी लेकिन देर शाम तक बच्चे का कुछ पता नहीं चला तो उन्होंने पुलिस को इस बात की सूचना दी। बच्चे के अपहरण और एक करोड़ रुपए फिरौती मांगे जाने की सूचना ने पुलिस को हैरान कर दिया। आपको बतादें कि एसएसपी ने इस मामले में एसटीएफ और क्राइम ब्रांच को लगा दिया है। आधार पर उठाए गए दो युवकों की निशानदेही पर पुलिस ने किराना व्यापारी के बेटे बलराम की लाश को सोमवार की शाम जंगल के किनारे एक बोरे से बरामद की।

 

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here