BIRTHDAY SPECIAL: फ्री में ड्रग्स किया था ऑफर सिर्फ 1 सेकेंड ने बदली संजय दत्त की जिंदगी

0
81
.

मुंबई। बॉलीवुड के जाने माने एक्टर संजय दत्त का आज 61वां जन्मदिन है। मुन्नाभाई के नाम से जाने जाने वाले संजय दत्त ने फिल्म इंडस्ट्री में अपनी मेहनत और हुनर के दम पर खूब नाम कमाया है। भारी आवाज और नशीली आंखे संजय दत्त को और भी ज्यादा हैंडसम बनाती हैं। संजय दत्त का जन्म 29 जुलाई 1959 को मुंबई में हुआ था। आज हम आपको संजय दत्त के जीवन के बारे में कुछ ऐसी खास बाते बताएंगे जिनके बारे में आप शायद ही जानते होंगे। क्या आपको पता है कि संजय महज 9 साल के थे जब उनको सिगरेट की लत लग चुकी थी। उनको बहुत छोटी सी उम्र में ड्रग्स लेने की लत लग गई थी। अपनी लाइफ की कुछ डार्क स्टोरीज का एक किस्सा संजय दत्त ने शेयर किया।

संजय बताते हैं कि  ‘सुबह का समय था और मुझे बहुत जोरों की भूख लगी थी। मुझे नहीं पता था मेरी मां उस वक्त तक गुजर चुकी थीं। मैंने अपने नौकर से कहा कि मुझे खाना दे दीजिए। नौकर मुझे देखकर रोने लगा। जब मैंने उससे पूछा रो क्यों रहे हो तो उसने मुझसे कहा बाबा दो दिन हो गए आपने खाना नहीं खाया, बस सोते रहे। इसके बाद मैं उठा और सीधा बाथरूम में गया और मैंने अपने आपको देखा तो मैं मरने की हालत में था। मेरी नाक और मुंह से खून निकल रहा था।

सुशांत सिंह केस: सुशांत को ब्लैकमेल करती थी रिया, पिता ने दर्ज कराई FIR

इसी के साथ संजय ने आगे बताया कि ‘मैं अपनी हालत देखकर बहुत डर गया था और सुबह सात बजे अपने पिता के पास गया और मैने उनसे कहा कि मेरी मदद करिए, मुझे ड्रग्स की लत लग गई है। मैं इससे बाहर निकलना चाहता हूं। मुझे बचा लीजिए क्योंकि मैं जीना चाहता हूं।

संजय ने आगे बताया कि मेरी बाते सुनकर उनके पिता काफी दुखी हो गए थे। लेकिन उसके बाद वह मुझे अमेरिका पुनर्वास केंद्र ले गए। वहां मैं दो साल रहा। लेकिन पहले साल ऐसा लगा कि मैं बार फिर से ट्राई करूं, लेकिन मैंने कहा नहीं, न करूंगा न करने दूंगा।’ दो साल बाद अमेरिका से आने के बाद संजय दत्त मुंबई आ गए।  वहां से आने के बाद उनके दोस्तों को पता चल गया कि संजय वापस आ गए हैँ। उन्होंने बताया कि 2 दिन बाद उनसे मिलने सुबह 7 बजे एक पुराना ड्रग्स पेडलर दोबारा आ गया।

गोरखपुर अपहरण और हत्या मामले में शिवपाल की सरकार से 50 लाख मुआवजे और नौकरी की मांग

संजय बताते हैं कि जब वो उनसे मिलने आया तब उसने मुझसे कहा कि बाबा एक नया माल आया है। खास तौर से आपके लिए लेकर आया हूं। उसने कहा कि फ्री में रख लो। उस वक्त में सोच में पड़ गया कि मैं लूं या न लूं..मैने एक पल में फैसला किया कि नहीं मैं न तो जंदगी में कभी लूंगा और न लेने दूंगा।

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here