UP का एक और लाल फ्रांस से उड़ाकर ला रहा है राफेल, जानें कौन हैं विंग कमांडर मनीष सिंह | ballia – News in Hindi

0
52
.
UP का एक और लाल फ्रांस से उड़ाकर ला रहा है राफेल, जानें कौन हैं विंग कमांडर मनीष सिंह

फौजी मदन सिंह के पुत्र मनीष सिंह अपने भाई बहनों में सबसे बड़े हैं. (फाइल फोटो)

विंग कमांडर मनीष सिंह (Wing Commander Manish Singh) ने छठवीं कक्षा तक गांव में पढ़ाई की थी. इसके बाद उनकी आगे की शिक्षा करनाल के कुंजपुरा स्थित सैनिक स्कूल से हुई.

बलिया. बागी धरती के नाम से प्रसिद्ध बलिया (Baliya) के एक लाल ने इतिहास के पन्नो पर अपना नाम दर्ज कराया है. बलिया के रहने वाले विंग कमांडर मनीष सिंह (Wing Commander Manish Singh) ने चर्चित लड़ाकू विमान राफेल (Rafael) को लेकर फ्रांस (France) से उड़ान भरी है. जनपद के बांसडीह तहसील (Bansdih Tehsil) के छोटे से गांव बकवां (Bakwan) के लाल मनीष सिंह का परिवार शुरू से ही फौजी रहा है. इनके पिता मदन सिंह स्वयं थल सेना से अवकाश प्राप्त जवान हैं. विंग कमांडर मनीष सिंह देश के उन नामचीन पायलटों में शुमार हो गए हैं, जिन्होंने फ्रांस से लड़ाकू विमान राफेल को लेकर भारत के लिए उड़ान भरी है.

फिलहाल, राफेल दुबई पहुंच चुका हैं. बुधवार यानि 29 जुलाई को राफेल देश की सरजमीं पर उतरेगा. विंग कमांडर मनीष के गांव बकवां में खुशी का माहौल है. गांव के युवा मनीष को अपना प्रेरणास्त्रोत बता रहे हैं. लड़ाकू विमान राफेल लेकर मनीष के स्वदेश लौटने की सूचना मिलने के बाद गांव के उत्साही युवकों ने एक-दूसरे का मुंह मीठा कराकर खुशी का इजहार किया. फौजी मदन सिंह के पुत्र मनीष सिंह अपने भाई बहनों में सबसे बड़े हैं. गांव की गलियों से निकल कर विंग कमांडर तक पहुंचे मनीष की आरम्भिक शिक्षा गांव के एक निजी स्कूल नूतन शिक्षा निकेतन में हुई है.

अपने घर वालों के साथ विंग कमांडर मनीष सिंह.

मनीष वर्ष-2002 में इंडियन एयरफोर्स में पायलट हुएछठवीं कक्षा तक गांव में पढ़ाई करने के बाद उनकी आगे की शिक्षा करनाल के कुंजपुरा स्थित सैनिक स्कूल से हुई, जहां इनके पिता सेना में सेवारत रहे. मनीष वर्ष-2002 में इंडियन एयरफोर्स में पायलट हुए. अंबाला व जामनगर के बाद दो वर्ष पूर्व साल 2017- 2018 में इनकी तैनाती गोरखपुर में थी. उस समय मनीष अपने गांव बकवां आए थे. फ्रांस से लड़ाकू विमान राफेल की डील के बाद मनीष को प्रशिक्षण के लिए सरकार ने फ्रांस भेजा था. इनके साथ अन्य विंग कमांडर भी रहे.चर्चित लड़ाकू विमान को फ्रांस से भारत लाने वाली टीम में शामिल होकर विंग कमांडर मनीष सिंह ने बलिया का नाम पूरे देश मे रौशन किया है.

विंग कमांडर अभिषेक त्रिपाठी हरदोई के रहने वाले हैं
बता दें कि फ्रांस से राफेल उड़ाकर लाने में उत्तर प्रदेश के एक और लाला का नाम पहले ही आ चुका है. इस विंग कमांडर का नाम अभिषेक त्रिपाठी (Wing Commander Abhishek Tripathi) है. अभिषेक हरदोई (Hardoi) जनपद के संडीला कस्बे के मोहल्ला बरौनी के निवासी हैं. संडीला निवासी अनिल त्रिपाठी जयपुर में रहते हैं. अनिल त्रिपाठी के बेटे अभिषेक एयर फोर्स में विंग कमांडर हैं. ऐसे में अब फ्रांस से राफेल लाने वाले यूपी के दो लाल हो गए हैं.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here