कोरोना संक्रमण से बचाव में कौन है बेहतर फेस मास्क या फेसशील्ड, ऐसे करें चुनाव | health – News in Hindi

0
31
कोरोना संक्रमण से बचाव में कौन है बेहतर फेस मास्क या फेसशील्ड, ऐसे करें चुनाव

ज्यादातर डॉक्टर या केमिस्ट फेसशील्ड का उपयोग कर रहे हैं. जो लोग फेसशील्ड का उपयोग करते हैं वे मास्क पहनने वालों से ज्यादा सुरक्षित होते हैं.

कोरोना (Corona) से बचने के लिए कई डॉक्टर फेस शील्ड (Face Shield) का इस्तेमाल करते हैं. बाजार में भी फेसशील्ड उपलब्ध है, ऐसे में कई लोग फेसशील्ड का उपयोग करने लगे हैं.




  • Last Updated:
    July 30, 2020, 4:23 PM IST

कोरोना (Corona) संक्रमण से बचने के लिए सिर्फ लॉकडाउन (Lockdown) रखना किसी भी देश की अर्थव्यवस्था (Economy) के लिए संभव नहीं है. इसीलिए अब कहा जा रहा है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के बीच रहकर ही अर्थव्यवस्था चलानी होगी. आने वाले समय में कोरोना संक्रमण से बचने के लिए मास्क (Mask) पहनना, हाथ सेनिटाइज (Sanitize) करना सबसे अच्छे विकल्प रहेंगे. myUpchar से जुड़े एम्स के डॉ. अजय मोहन के अनुसार, जब तक कोरोना वायरस की वैक्सीन (Vaccine) इजाद नहीं हो जाती, सावधानी ही इलाज है. कोरोना से बचने के लिए कई डॉक्टर फेस शील्ड (Face Shield) का इस्तेमाल करते हैं. बाजार में भी फेसशील्ड उपलब्ध है, ऐसे में कई लोग फेसशील्ड का उपयोग करने लगे हैं. डॉक्टरों का यह मानना है कि पूरा फेस कवर करने से आंखों के जरिए संक्रमण से बच सकते हैं. आइए जानते हैं कि सिर्फ मास्क का उपयोग कर सुरक्षित रह सकते हैं या फैसशील्ड से ज्यादा सुरक्षित रहा जा सकता है –

फेसशील्ड के उपयोग से क्या मिलेगी सुरक्षा

जब से लॉकडाउन खुला है, कुछ लोग फेस शील्ड पहनते हुए नजर आते हैं. ज्यादातर डॉक्टर या केमिस्ट फेसशील्ड का उपयोग कर रहे हैं. जो लोग फेसशील्ड का उपयोग करते हैं वे मास्क पहनने वालों से ज्यादा सुरक्षित होते हैं. विशेषज्ञों के अनुसार, लोगों को यह बात समझ आ जाएगी कि फेसशील्ड ज्यादा सुरक्षित होती है और जल्द ही सभी फेसशील्ड का इस्तेमाल करने लगेंगे. फेसशील्ड से पूरा चेहरा ढका होता है, जिससे वायरस के सीधे संपर्क में आने से बच सकते हैं.सुविधाजनक होती है फेसशील्ड

फेसशील्ड से यदि मास्क की तुलना की जाए तो फेसशील्ड ज्यादा सुरक्षा देती है. इसके अतिरिक्त फेसशील्ड मास्क के मुकाबले अधिक सुविधाजनक होती है, क्योंकि मास्क बार-बार नाक से नीचे की ओर खिसक जाता है और मास्क को ठीक करने के लिए मुंह पर अधिक बार हाथ भी जाता है, जो संक्रमण के खतरे को बढ़ा सकता है. मास्क पहनने से नाक और मुंह पर खुजली की समस्या भी होती है और मास्क पहनने से थोड़े समय बाद सांस लेने में भी तकलीफ होने लगती है. वहीं फेसशील्ड पहनने से ऐसी कोई भी समस्या नहीं होती है, इसलिए फेसशील्ड को ज्यादा सुविधाजनक माना जा सकता है.

फेसशील्ड पर की गई ये स्टडी

फेसशील्ड पर हुए एक शोध में यह बात सामने आई है कि यदि कोई पास में खड़े होकर खांसता या छींकता है, तो फेसशील्ड 96 फीसदी तक सुरक्षा दे सकती है. फेसशील्ड कितना ही सुरक्षित हो, लेकिन इसमें भी कुछ बातों पर ध्यान देना जरूरी है. फेसशील्ड का इस्तेमाल करते हैं तो इसका मतलब यह नहीं कि सोशल डिस्टेंसिंग को अपनाना जरूरी नहीं है. myUpchar से जुड़े एम्स के डॉ. अजय मोहन के अनुसार, यदि कोई पास में रहकर छींकता या खांसता हो तो उसके ड्रॉपलेट्स हवा में कुछ समय तक मौजूद रह सकते हैं. ऐसे में फेसशील्ड के साथ ही अन्य सुरक्षा अपनाना भी बेहद जरूरी है.

बच्चों के लिए भी फेसशील्ड लगाना ज्यादा बेहतर

फेसशील्ड लगाना बच्चों के लिए ज्यादा सुविधाजनक होता है, क्योंकि बच्चे इसके प्रति ज्यादा सहज महसूस करते हैं. वहीं अधिकतर बच्चे मास्क लगाने के बाद चिढ़चिढ़ा महसूस करते हैं और लगातार मास्क लगाकर नहीं रखते हैं. इस स्थिति में संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है जबकि मास्क की तुलना में फेसशील्ड से बच्चों के दम घुटने या सांस लेने में दिक्कत नहीं आती है. वैसे मास्क लगाने के बाद यदि फेसशील्ड लगा ली जाए तो वह और भी ज्यादा बेहतर होता है. संक्रमण से पूरी तरह सुरक्षा मिल जाती है.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, कोविड-19: बड़ी उम्र के बच्चे वयस्कों की तरह ही कोरोना वायरस फैला सकते हैं – अध्ययन पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।



Source link

Authors

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here