वाह रे राबिया दादी! आपने तो 105 वर्ष की उम्र में कोरोना की छुट्टी ही कर दी

0
81

नोएडा। कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में कहर बरपा रखा है। आए दिन हजारों लोग इस वायरस के चपेटे में आ रहे हैं।  अब तक पूरी दुनिया में लाखों लोगों ने इस वायरस से जान गवाई है। एक तरफ इस खतरनाक वायरस ने जहां दुनियाभर में 1 करोड़ 70 लाख से ज्यादा लोगों को अपनी चपेट में लिया है तो वही दूसरी तरफ नोएडा में एक 105 वर्षीय अफगानी महिला ने अपने धैर्य और जीने के दृढ़ संकल्प का परिचय दिया है। इसी के दम पर महामारी से जीतने में उनहें सफलता मिली।

बता दें कि इतनी उमॅ में कोरोना को हराने वाली राबिया अहमदी ने कहा, “जब तक अल्लाह चाहता है तब तक मैं जीवित रहूंगी, कोरोना के बारे में नहीं सोचना ही बेहतर है। व्यक्ति को हमेशा जीवन में हमेशा आगे की ओर देखना चाहिए। मुझे लगता है कि मैं इसलिए अब तक जिंदा हूं। कल, मैं ईद-उल-जुहा पर नमाज भी पढ़ने जा रही हूँ।” उनका ये जज्बा और हिम्मत देख कर डॉक्टर तक हैरान रह गए।

बकरीद पर मौलाना खालिद रशीद ने लोगों से की अपील, कहा-घरों में ईदुल अजहा की नमाज अदा करें

आपको बता दें कि 15 जुलाई को राबिया कोरोना पॉजिटिव पाईं गई जिसके बाद उन्हे ग्रेटर नोएडा के शारदा अस्पताल की एल-3 सुविधा में भर्ती कराया गया था। बता दें कि वे अल्जाइमर की मरीज हैं और अस्पताल जाने के बाद वो अपने किसी रिश्तेदार को पहचान नहीं पाती थीं।

अब फोन पर बात करते चलाई गाड़ी तो भरना होगा 10 हजार रुपए का जुर्माना

शारदा अस्पताल की COVID-19 ICU यूनिट के प्रभारी डॉ. अभिषेक देसवाल ने कहा, “बुजुर्ग मरीज राबिया के इलाज में सबसे बड़ी चुनौतियां उनकी उम्र और भाषा की बाधा थी। अल्जाइमर के पुराने मामले ने हालत को और बदतर बना दिया था। उनकी गंभीर स्थिति को देखते हुए उन्हें सीधे ICU में रखा गया था। डॉक्टरों का कहना है कि अब राबिया का कोरोना टेस्ट नेगेटिव आया है तो उनको शुक्रवार को छुट्टी दे दी जाएगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here