आधे से ज्यादा पब्लिक सेक्टर बैंकों को प्राइवेट करने पर विचार जारी

0
174
.

नई दिल्ली। नीति आयोग द्वारा भारत सरकार को सुझाव दिया गया है कि तीन पब्लिक सेक्टर बैंक पंजाब एंड सिंध बैंक, यूको बैंक और बैंक ऑफ महाराष्ट्र का निजीकरण होना चाहिए। इसी के साथ ग्रामीण बैंकों को भी मर्ज करने का भू सुझाव दिया है। साथ ही एनबीएफसी को अधिक छूट देने की बात कही जा रही है।

दिल्ली: कोरोना काल में घर बने स्कूल, अभिभावकों को मनीष सिसोदिया का धन्यवाद

भारत सरकार अपने आधे से ज्यादा बैंकों के प्राइवेट करने की प्लानिंग कर रही है। योजना ये है कि इनकी संख्या कमकर के 5 पर ले आया जाए। आपको बता दें कि इसकी शुरुआत बैंक ऑफ इंडिया, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, इंडियन ओवरसीज बैंक, यूको बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र और पंजाब एंड सिंध बैंक के अपने शेयर्स बेचने से हो सकती है। बता दें कि इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैंकों और एनबीएफसी के प्रमुखों के साथ बैठक की जिसमें बैंकिंग सेक्टर को एक बार फिर से पटरी पर लाने के बारें में विचार किया जा रहा है।

मुख्तार अंसारी के करीबी के करीबी जुगनू वालिया की 3 करोड़ की संपत्ति कुर्क

पिछले साल IDBI बैंक ने भी अपनी हिस्सेदारी LIC को बेची थी। जिसके बाद IDBI बैंक प्राइवेट हो गया। LIC ने IDBI में 21000 करोड़ रुपये का निवेश करके 51 फीसदी हिस्सेदारी ख़रीदी थी। इसके बाद LIC और सरकार ने मिलकर 9300 करोड़ रुपये IDBI बैंक को दिये थे। इसमें एलआईसी की हिस्सेदारी 4,743 करोड़ रुपये थी।

 

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here