छोटी-छोटी बातों पर आता है गुस्‍सा? तो जरूर रखें इन बातों का ध्‍यान | health – News in Hindi

0
56
.
छोटी-छोटी बातों पर आता है गुस्‍सा? तो जरूर रखें इन बातों का ध्‍यान

छोटी-छोटी बातों पर गुस्‍सा करना न सिर्फ सेहत, बल्कि आपके संबंधों के लिए भी सही नहीं है.

लाइफ (Life) में हमेशा अच्‍छा ही हो, ऐसा नहीं है. कभी दिन खुशियों में बीतेंगे तो कभी किसी बात पर तनाव (Stress) होगा, गुस्‍सा आएगा. मगर अक्‍सर कुछ लोगों को छोटी से छोटी बात पर गुस्‍सा (Anger) आता है और वे इसकी वजह से कई बार नुकसान भी उठाते हैं.

हमारी लाइफ (Life) में हमेशा अच्‍छा ही हो, ऐसा नहीं है. कभी दिन खुशियों में बीतेंगे तो कभी किसी बात पर तनाव (Stress) होगा, गुस्‍सा आएगा. मगर अक्‍सर कुछ लोगों को छोटी से छोटी बात पर गुस्‍सा (Anger) आता है और वे इसकी वजह से कई बार नुकसान भी उठाते हैं. जैसे कि आपकी सुबह की ट्रेन में देरी हो रही हो या जब दफ्तर में आपका दिन अच्‍छा न गुजर रहा हो तब आपको गुस्‍सा आता है और आप खुद को बेहद तनाव में महसूस करते हैं. अगर आपको भी छोटी-छोटी बातों पर गुस्‍सा आता है, तो यह न सिर्फ आपकी सेहत (Health), बल्कि आपके काम, संबंधों के लिए भी सही नहीं है. आज हम आपको अपना गुस्‍सा शांत करने के कुछ टिप्‍स बता रहे हैं.

जब आप गुस्‍से में होते हैं, तो उन जगहों के बारे में सोचने की कोशिश करें, जहां आप खुद को खुश और शांत महसूस करते हैं. फिर एक गहरी सांसें लें और अपने मन ही मन में किसी खास शब्द या वाक्य को दोहराएं. इससे आपका ध्‍यान उस बात से हटेगा जिस पर गुस्‍सा आया हो और आप अपने गुस्‍से पर काबू कर पाएंगे.

गुस्‍सा अक्‍सर तब तक शांत नहीं होता, जब तक कि उसकी प्रतिक्रिया न दी जाए. ऐसे में आप अपना गुस्‍सा अपने शौक पर निकाल सकते हैं. जी, हां. इसका मतलब सिर्फ यही है कि अगर आप डांस में रुचि रखते हैं या फिर आपको दौड़ना पसंद है या फिर कुछ और आपका शौक है. तो अपने शौक में रम जाइए और तनावमुक्त हो जाइए. यह माहौल को बेहतर बनाने का अच्‍छा तरीका है.

अगर आपका दिन तनाव से भरा हुआ है और आप किसी बात पर गुस्‍सा दबाए बैठे हैं, तो इसे बाहर कड़े शब्‍दों में बाहर निकालने की बजाय अपना ध्‍यान किसी दूसरी बात पर लगाएं. जैसे कि जब आप अपने अंदर गुस्‍से के तूफान को उठता हुआ महसूस करते हैं, तो अपना ध्‍यान अपने परिवार या दोस्तों के साथ गुजारी हुई उन यादों पर लगाएं, जो आपके लिए अहमियत रखती हैं और जो आपको खुशी देती हैं.अगर किसी एक जगह पर रहते हुए आपको बोरियत महसूस हो रही है और आप वहां खुद को तनाव में महसूस कर रहे हैं, आपको गुस्‍सा आ रहा है, तो आप अपने परिवेश को बदलने की कोशिश करें. क्‍या आपको अपने काम की जगह या जिम जैसी जगहों पर किसी खास इंसान की वजह से गुस्‍सा आता है या किसी निश्चित स्थान पर आपका गुस्‍सा फूटता है, तो खुद से ये सवाल पूछें कि क्या मुझे यहां के लोग पसंद नहीं हैं? क्या मुझे यहां रहना, आना पसंद नहीं है? अगर इसका जवाब यह है कि ऐसा नहीं है, तो आपको जरूरत है कुछ बदलाव की. यानी आपको नई जगह खोजने की जरूरत हे, जहां आप खुद को कम उत्तेजित महसूस करें.

ये भी पढ़ें – डेली रुटीन में हो जाती हैं ये गलतियां, सेहत के लिए हैं बेहद बुरी

गुस्‍से को काबू में करना कुछ लोगों के लिए एक वास्तविक मुद्दा हो सकता है. अगर आप नियमित रूप से ऐसा महसूस करते हैं कि आप अपने स्वभाव पर नियंत्रण नहीं रख सकते हैं और आप मानते हैं कि यह आपके जीवन का एक बड़ा हिस्सा बन गया है, जिसे आप काबू में नहीं कर पा रहे हैं, तो इसके लिए किसी पेशेवर की मदद लें, ताकि आप अपनी भावनाओं पर नियंत्रण पा सकें.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here