दीपिका पादुकोण से सीखिए अपनी मेंटल हेल्थ को कैसे रखें चकाचक | health – News in Hindi

0
36
.
हमारे मानसिक स्वास्थ्य की देखभाल करना और जब हम अभिभूत महसूस कर रहे हों तब समर्थन की मांग करना हमेशा महत्वपूर्ण रहा है. ये पहलू ऐसे समय में और भी गंभीर हो गए हैं जब विश्व स्तर पर महामारी ने लाखों लोगों को प्रभावित किया है.

कई बार जब हम परेशान महसूस करते हैं तो अपने मानसिक स्वास्थ्य की देखभाल करना बेहद जरूरी हो जाता है. जब विश्व में कोरोना महामारी की वजह से त्राहि फैली हुई है, ऐसे समय में मेंटल हेल्थ का ध्यान रखना बेहद महत्वपूर्ण है. The Live Love Laugh Foundation जिसकी फाउंडर दीपिका पादुकोण हैं ने- अपनी मानसिक सेहत और दूसरों का भी ख्याल रखने के कुछ टिप्स बताए हैं.

इसे भी पढ़ें: Post COVID-19 care: इस डाइट से बढ़ेगी इम्यूनिटी, होगी तेज रिकवरी

लॉकडाउन में इन टिप्स की मदद से खुद को रखें मेंटली फिट:खुद के लिए शांतिपूर्ण माहौल तैयार करें:
मन स्थिर रहे इसके लिए बेहद जरूरी है कि आपके आस-पास की चीजें और वातावरण भी व्यवस्थित रहें. जब आपके आस-पास की चीजें फैली होती हैं तो मन भी व्यवस्थित होता है.

कोरोना काल में मानसिक स्वास्थ्य के लिए एक रूटीन मेंटेन करना:
कोरोना काल में जीवन काफी उलझा हुआ सब हो चुका है. इसलिए कोई ऐसा रूटीन फॉलो करें जिससे कि आप चिंता और तनाव मुक्त रह सकें.

हॉबीज पर काम करें:
आपकी हॉबीज क्या हैं? ऐसा क्या काम है जिसे करने के बाद आपको सुकून महसूस होता है. अगर आपको कुकिंग डर ख़ुशी मिलती है तो अपना मनपसंद खाना बनाइए.

अपने सपोर्ट सिस्टम से कनेक्ट रहें:
कोरोना वायरस संक्रमण और लॉकडाउन के कारण हम अपनों से मिल नहीं पा रहे हैं और दूरी बनी हुई है. लेकिन आप फोन या फिर वीडियो कॉल पर अपने दोस्तों और परिवार से कनेक्ट हो सकते हैं. उनसे बातें करें, अपना मन साझा करें. ऐसा करने से आप हल्का महसूस करेंगे.

प्रकृति से जुड़ें:
लॉकडाउन के इस समय को बेहतर तरीके से इस्तेमाल करें. अगर आपको गार्डनिंग का शौक है तो पेड़-पौधे लगाएं और अपने गार्डन में कुछ वक्त बिताएं. ऐसा करने से आप ऊर्जा से भरे हुए और अपनी जड़ों से जुड़ाव महसूस कर पाएंगे.

मेडिटेशन और एक्सरसाइज करें:
कोरोना काल के इस समय में मेडिटेशन और एक्सरसाइज का सहारा लें. मेडिटेशन और एक्सरसाइज अपनी डेली लाइफ में शामिल करें. ऐसा करने से आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर काफी पॉजिटिव प्रभाव पड़ता है.

अपनी खासियत को सराहें:
तुलना करने से हम खुद को काफी कम आंकने लगते हैं. ऐसे में खुद की खासियत को पहले खुद स्वीकारें और फिर देखें कि दुनिया किस तरह आपका स्वागत मुस्कुरा कर करती है.

अपना फेवरेट संगीत सुनें:
अपनी फेवरेट कोई मधुर धुन या संगीत सुनें. इससे आपका मूड तो फ्रेश रहेगा ही साथ ही मानसिक स्वास्थ्य भी बेहतर रहेगा.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here