राम मंदिर: भूमि पूजन के बाद अयोध्या के दलित परिवार को मिला CM योगी की ओर से पहला प्रसाद, जानें क्‍यों है खास | ayodhya – News in Hindi

0
81
.
राम मंदिर: भूमि पूजन के बाद अयोध्या के दलित परिवार को मिला CM योगी की ओर से पहला प्रसाद, जानें क्‍यों है खास

भूमि पूजन का पहला प्रसाद दलित परिवार को मिला.

प्रसाद पाने के बाद महावीर (Mahavir) ने कहा, ‘यह हमारे लिए दोहरी खुशी की तरह है. पहली यह कि राम मंदिर का हमारा सपना पूरा हुआ है और दूसरी ये कि हमें पहला प्रसाद मिला. ’

अयोध्या. अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण के लिए भूमि पूजन के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की ओर से भेजा गया प्रसाद सबसे पहले एक दलित परिवार को मिला. मुख्यमंत्री के सूचना सलाहकार शलभमणि त्रिपाठी (Shalbhamani Tripathi) ने बताया कि प्रसाद में लडडू, रामचरितमानस की प्रति और तुलसी की माला है. त्रिपाठी ने बताया कि राम जन्मभूमि पूजन का पहला प्रसाद महावीर हरिजन के यहां पहुंचा. ये वही महावीर हैं, जिनके घर मुख्यमंत्री योगी भी जा चुके हैं. उन्होंने बताया, ‘यह वही दलित महाबीर का परिवार है, जिन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास मिला था और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उनके घर भोजन करने गए थे.

महावीर ने बताई अपनी दोहरी खुशी

प्रसाद पाने के बाद महावीर ने कहा, ‘मैं दलित हूं. मुख्यमंत्री ने पहला प्रसाद मुझे और मेरे परिवार को भेजा. मैं उनका धन्यवाद करता हूं कि उन्होंने मुझे याद रखा .’ उन्होंने कहा, ‘यह हमारे लिए दोहरी खुशी की तरह है. पहली यह कि राम मंदिर का हमारा सपना पूरा हुआ है और दूसरी ये कि हमें पहला प्रसाद मिला. हमें उम्मीद है कि अब राज्य में जातीय भेदभाव समाप्त होगा और हर कोई विकास तथा सबके कल्याण के बारे में सोचेगा.’

कोविड-19 प्रोटोकॉल का ध्यान रखा गयाभूमि पूजन के लिए आमंत्रित अतिथियों के बारे में संपर्क करने पर अयोध्या के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि कोविड-19 प्रोटोकॉल के चलते भूमि पूजन के लिए काफी कम लोग आमंत्रित थे. अब श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट एवं प्रशासन अधिक से अधिक लोगों तक प्रसाद वितरित कर रहा है. अयोध्या में मुख्यमंत्री के निर्देश पर पहला प्रसाद महावीर के परिवार के पास भेजा गया. उन्होंने कहा कि भूमि पूजन के लिए आमंत्रित सभी लोगों को चांदी का सिक्का भेंट किया गया है, जिस पर राम दरबार का चित्र और ट्रस्ट का लोगो अंकित है.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here