लद्दाख में तैनात जालौन के लाल की ऑक्सीजन की कमी से मौत, परिवार में मचा कोहराम | jhansi – News in Hindi

0
61
.
लद्दाख में तैनात जालौन के लाल की ऑक्सीजन की कमी से मौत, परिवार में मचा कोहराम

लद्दाख में तैनात जालौन निवासी धर्मपाल शहीद हो गए हैं

भारतीय सेना (Indian Army) के जवान धर्मपाल ने आर्मी में 2001 में ज्वाइन की थी. वह जालौन के डाकोर थाना क्षेत्र के जैसारी कला के रहने वाले थे.

जालौन. भारत (India) और चीन (China) के बीच एलएसी (LAC) पर लद्दाख में तैनात भारतीय सेना के जवान धर्मपाल की ऑक्सीजन की कमी होने से मौत हो गई है. उनकी तैनाती लद्दाख (Ladakh) में थी. तैनाती के दौरान अधिक ऊंचाई पर आक्सीजन की कमी के चलते धर्मपाल की तबियत बिगड़ गई, जिसके बाद उन्हें गंभीर हालात में दिल्ली के आर्मी अस्पताल भेज दिया गया. यहां से उन्हें चंडीगढ़ रेफर किया गया. चंडीगढ़ में धर्मपाल ने 5 अगस्त को अंतिम सांस ली.

2005 में बेटा खोया 

धर्मपाल ने आर्मी में 2001 में ज्वाइन की थी. वह जालौन के डाकोर थाना क्षेत्र के जैसारी कला के रहने वाले थे. 2005 में उनकी शादी हुई. उनके 2 बच्चे हैं, जिसमे एक बच्चे की पिछले वर्ष जन्म दिन में हुई हर्ष फायरिंग में मौत हो गई थी. आज धर्मपाल का पार्थिव शरीर को पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनके गांव जैसारी लाया जायेगा. अचानक उनके निधन की सूचना से गांव में स्वजन व ग्रामीण स्तब्ध रह गए. स्वजन का रो-रो कर बुरा हाल है. पार्थिव शरीर घर भेजे जाने की जानकारी दी गई है.

Jalaun martyr2

जालौन के धर्मपाल की लद्दाख में पोस्टिंग के दौरान मौत

आर्टलरी में हवलदार थे धर्मपाल

जैसारी कला गांव निवासी राजाराम सिंह के 40 वर्षीय पुत्र धर्मपाल सिंह भारतीय थल सेना के आर्टिलरी में हवलदार थे. धर्मपाल सिंह की तैनाती लद्दाख की पहाड़ियों पर थी. पहाड़ों पर ऑक्सीजन की कमी से उनकी हालत बिगड़ गई. हालत गंभीर होने पर उन्हें चंडीगढ़ के हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. जहां उपचार के दौरान निधन हो गया. धर्मपाल सिंह की पहली तैनाती वर्ष 2001 में जोधपुर में हुई थी. तीन भाइयों में धर्मपाल सिंह दूसरे नंबर पर थे. बड़ा भाई महिपाल सिंह, छोटा भाई इंद्रपाल गांव में खेती करते है.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here