मीठा खाकर हो चुके हैं परेशान? इन टिप्स को करें फॉलो जल्द छूटेगी आदत | health – News in Hindi

0
49
.
मीठा खाकर हो चुके हैं परेशान? इन टिप्स को करें फॉलो जल्द छूटेगी आदत

माठी चीजों के ज्यादा सेवन से शरीर में मोटापा आता है.

मीठी (sweet) चीजों का ज्यादा सेवन करने से शरीर में शुगर लेवल (Sugar level) बढ़ जाता है, जो एक बड़ी बीमारी है. इससे मोटापे (Obesity)जैसी समस्या में भी इजाफा होता है. आदमी मोटा होता है तो कई तरह की बीमारियों (Diseases)का शिकार हो जाता है.

बहुत से लोगों को मीठा (Sweet) खाने की आदत होती है. स्वाद के लिए ये लोग बार-बार मीठा खाते हैं. चाय (Tea) और फॉफी (Coffee) में में ज्यादा चीनी डालकर पीते हैं. ज्यादा मीठा खाना सेहत के लिए नुकसानदायक है यह बात भी सभी लोग जानते हैं. मीठा ज्यादा खाने से बॉडी में ब्लड शुगर (Blood Sugar) लेवल बढ़ जाता है, जो एक तरह की बीमारी (Disease) ही है. मोटापा आने से शरीर आलसी हो जाता है और कई तरह की बीमारियां आदमी को घेर लेती हैं. इन सभी बातों के जानने के बाद भी बहुत सारे लोग मीठा खाते हैं. इनमें से बहुत सारे लोग हैं जो मीठा खाना छोड़ना चाहते हैं, लेकिन वो छोड़ नहीं पाते ऐसे लोगों को आज हम मीठा खाने की आदत छोड़ने के लिए कुछ टिप्स बता रहे हैं. आइए इनके बारे में जानते हैं…

1. आपको मीठा या चीनी खाने का आदत एकदम से छोड़ने की जरूरत नहीं है. आपको मीठा खाने की मात्रा को धीरे-धारे कम करना होगा. जैसे आप चाय-कॉफी में 3 चम्मच चीनी का सेवन करते हैं, तो आपको धीरे-धीरे इसे एक चम्मच तक लाना होगा.

2. अगर आप ज्यादा मीठा खाने की समस्या से परेशान हैं तो आपको चुइंगम चबाना होगा. देर तक चुइंगम को चबाने से आप व्यस्त रहेंगे और आपको मीठा खाने की तलब नहीं होगी.

3. जो लोग बार-बार मीठा खाने की आदत से परेशान हैं उनको शुगर के बदले फ्रूट शुगर लेना शुरू कर देना चाहिए. उदाहरण के लिए आप फलों का सेवन करें. शक्कर के बदले शहद का उपयोग करना शुरू कर दें.4. शायद आपको पता नहीं होगा कि चीनी आपकी सेहत के लिए जितनी नुकसानदायक है, गुड़ उतना ही फायदेमंद है. मीठे की लत से बचने के लिए आप शक्कर छोड़ गुड़ से बनी चीजों पर आश्रित हो सकते हैं. इससे आपको बहुत फायदा होगा.

5. आपको दुकानों और रेस्तरां में बने मीठे खाद्य पदार्थों का सेवन करने से पूरी तरह से बचना चाहिए. इसमें केक, आइसक्रीम, बिस्कुट या चॉकलेट शामिल हैं.

6. उन खाद्य पदार्थों के प्री-शुगर्ड ब्रांडों का इस्तेमाल करना शुरू कर देना चाहिए, जिनमें आपको चीनी को मिलाने की ज़रूरत नहीं होती है. इस तरह आपका चीनी का उपभोग करने पर अधिक नियंत्रण होगा और इससे यह स्पष्ट होगा कि आप चीनी का कितना सेवन कर रहे हैं.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here