सोशल मीडिया पर वायरल Rahat Indori की ये रोंगटे खड़े कर देने वाली शायरी indian poet rahat indori death shayari goes viral on social media

0
25
.

नई दिल्ली:

Rahat Indori Shayari – देश के जाने-माने शायर राहत इंदौरी (Rahat Indori) अब इस दुनिया में नहीं रहे. मंगलवार शाम को इंदौर (Indore) के अरबिंदो अस्पताल में उन्होंने आखिरी सांस ली. राहत इंदौरी सोमवार को कोरोना वायरस (Corona Virus) से संक्रमित पाए गए थे. जिसके बाद उन्हें अरबिंदो अस्पताल में भर्ती कराया गया था. 70 साल के राहत इंदौरी को मंगलवार को दो बार दिल का दौरा पड़ा. डॉक्टरों ने बताया कि उनकी मौत दिल का दौरा पड़ने की वजह से ही हुई. अरबिंदो हॉस्पिटल के डॉक्टर ने बताया कि देश के मशहूर शायर निमोनिया से भी ग्रस्त थे.

ये भी पढ़ें- क्वांरटीन सेंटर के नाम पर आंगनवाड़ी में पेड़ के नीचे रहने को मजबूर कोरोना मरीज, वीडियो वायरल

अपनी शायरी से लोगों के रोंगटे खड़े कर देने वाले शायर राहत इंदौरी पहले से ही हृदय रोग, किडनी रोग और मधुमेह जैसी भयानक बीमारियों से जूझ रहे थे. इंदौर के अरबिंदो अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि उन्होंने राहत इंदौरी को बचाने की पूरी कोशिश की, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. बता दें कि उन्होंने मंगलवार सुबह खुद ही ट्विटर पर कोरोना से संक्रमित होने की जानकारी दी थी.

ये भी पढ़ें- Viral: लड़का से लड़की बनी इवांका ने अपने सुपरहिट डांस से उड़ाया गर्दा, कहानी जान आप भी हो जाएंगे इमोशनल

कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद राहत इंदौरी ने अपने ट्विटर पर लिखा था, ”कोविड के शुरुआती लक्षण दिखाई देने पर कल मेरा कोरोना टेस्ट किया गया, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. ऑरबिंदो हॉस्पिटल में एडमिट हूं. दुआ कीजिये जल्द से जल्द इस बीमारी को हरा दूं. एक और इल्तेजा है, मुझे या घर के लोगों को फोन ना करें. मेरी खैरियत ट्विटर और फेसबुक पर आपको मिलती रहेगी.”

ये भी पढ़ें- सुशांत सिंह राजपूत की मैनेजर दिशा सालियन का वीडियो वायरल, मौत से कुछ ही देर पहले किया गया था शूट

शायरों के मंच पर भारत का नाम ऊंचा करने वाले राहत इंदौरी के निधन के बाद पूरे देश शोक में डूब गया है. उनके चाहने वाले उनकी शायरियों को शेयर कर उन्हें श्रद्धांजिल दे रहे हैं. इसी कड़ी में राहत साहब की एक बहुत ही पसंद की जाने वाली शायरी की वीडियो काफी वायरल हो रही है, जिसमें उन्होंने अपने देशप्रेम को जाहिर किया था. ‘मैं मर जाऊं, तो मेरी एक अलग पहचान लिख देना, लहू से मेरी पेशानी पे हिन्दुस्तान लिख देना’. राहत साहब की ये शायरी सुनने के बाद निश्चित तौर पर हर एक हिंदुस्तानी के रोंगटे खड़े हो जाएंगे.




Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here