जानिए क्यों कोरानावायरस की वजह से बच्चों की रक्त कोशिकाओं में हो रहा बदलाव?

0
25
.

कोरोना वायरस से संबंधित एक नई बीमारी आज कल छोटे बच्चों में देखने को मिल रही है। जिसका लेना देना सीधे तौर पर शरीर में मौजूद सफेद रक्त कोशिकाओं में बदलाव से है। इस बात का खुलासा हाल ही में हुए एक अध्ययन में सामने आया है। अध्ययन से चिकित्सकों को अपने बाल रोगियों की स्थिति के बेहतर आकलन और वर्तमान उपचारों के प्रति उनकी प्रतिक्रिया का बेहतर आकलन करने में मदद मिल सकती है।

हार्दिक पांड्या और नताशा ने बेटे के साथ शेयर की तस्वीरें, लिखा प्यारा मैसेज

आपको बता दें कि पीडियाट्रिक इन्फ्लेमेटरी मल्टीसिस्टम सिंड्रोम (पीआईएमएस-टीएस) नाम की यह नई बीमारी सार्स-कोव-2 से अस्थायी रूप से जुड़ी है जिसके कुछ लक्षण कावासाकी बीमारी से मिलते झुलते हैं। जिसमें रक्तवाहिकाओं में सूजन आ जाती है। यह बीमारी ज्यादातर पांच साल से छोटे बच्चों में होती है।

सीमा पर आतंकियों से लोहा लेते शहीद हुआ जवान, 7 माह के बेटे के साथ पत्नी कर रही थी आने का इंतजार

शोधकर्ताओं ने कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान बर्मिंघम चिल्ड्रंस हॉस्पिटल में भर्ती इस बीमारी से पीड़ित बच्चों के रक्त के नमूनों का परीक्षण किया। आपको बता दें कि यह अध्ययन बर्मिंघम विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं के नेतृत्व में किया गया। इसमें पाया गया कि बीमारी का संबंध मोनोसाइट्स में बड़े बदलावों से है। मोनोसाइट्स रोग प्रतिरोधक श्वेत रक्त कोशिकाओं का एक प्रकार हैं।

गोरखपुर: CM योगी ने बाढ़ प्रभावित लोगों को बांटी राहत सामग्री, किसानों की मदद का किया एलान

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here