COVID 19: वंदे भारत मिशन के दूसरे चरण में 1 लाख भारतीय करेंगे अपने वतन वापसी

0
24
.

नई दिल्ली। वैश्विक महामारी कोरोना संकट से पूरी दुनिया जूझ रही है। कोरोना संक्रमम की रोकथाम के लिए पूरे देश में ल़ॉकडाउन किया गया था। इस दौरान जो जिस देश में था वो वहीं फस गया था। इसी वजह से विदेशों में फंसे भारतीयों की वतन वापसी का अभियान वंदे भारत शुरु किया गया। इस अभियान के तहत लाखों लोगों की अपने वतन वापसी हुई है। और आगे भी ये मिशन जारी रहने वाला है।

आपको बता दें कि वंदे भारत मिशन के तीसरे चरण की तैयारी भी शुरू हो गई है। फिलहाल वंदे भारत मिशन का दूसरा चरण जारी है। वंदे भारत मिशन के दूसरे चरण के तहत भार सरकार 60 देशों में फंसे अपने एक लाख नागरिकों को वापस लाने की तैयारी कर रही है।

राजस्थान: सीएम अशोक गहलोत बोले- “भूलो, माफ करो और आगे बढ़ो”

खबरों के मुताबिक वंदे भारत मिशन का दूसरा चरण पहले 22 मई को खत्म होने वाला था लेकिन फिर इसको 13 जून तक बढ़ा दिया। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मंगलवार को इस व्यापक अभियान में शामिल सभी एजेंसियों और मंत्रालयों के साथ बैठक की। विदेश मंत्री ने ट्वीट कर कहा कि बैठक का उद्देश्य वंदे भारत मिशन का विस्तार करना और इसकी क्षमता बढ़ाना था। उन्होंने कहा कि दूसरे चरण में 60 देशों से एक लाख भारतीयों को वापस लाने का लक्ष्य है।  मिशन का दूसरा चरण 17 मई को शुरू हुआ था।

बिहार: निजी अस्पताल में कोरोना संक्रमितों का इलाज कर रहे डॉक्टर्स और स्टाफ का होगा 50 लाख का बीमा

विदेश मंत्री ने कहा कि भारतीय मंगलवार से सीमाक्षेत्रों से सड़क मार्गों से भी घर वापसी कर रहे हैं। वंदे भारत मिशन के पहले चरण की शुरुआत सात मई को हुई थी, जो 15 मई तक चला था। इसमें सरकार ने 12 देशों से करीब 15 हजार भारतीयों को निकाला।

स्लाइडिंग दरवाजे, डबल ग्लेज्ड सेफ्टी ग्लास और सर्विलांस सिस्टम से लेस होगी देश की प्राइवेट ट्रेनें

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here