सपा सांसद आजम खान की बढ़ी मुश्किलें, जेल में VIP ट्रीटमेंट मिलने के मामले पर बैठी जांच | rampur – News in Hindi

0
17
.

सपा सांसद आजम खान की बढ़ी मुश्किलें (file photo)

आजम (Azam) और उनकी पत्नी-बेटे के खिलाफ कुल 83 मुकदमे दर्ज हैं. कुछ में गिरफ्तारी से उन्हें स्टे मिल गया है. वहीं कुछ मामलों में जमानत मिल गई.

रामपुर. सीतापुर जेल में बंद समाजवादी पार्टी नेता एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खान (Azam Khan) की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है. ताजा मामला रामपुर (Rampur) में सामने आया है. जहां आजम खान को सीतापुर जेल में वीआईपी ट्रीटमेंट देने की शिकायत मिलने के बाद यूपी सरकार ने जांच बैठा दी है. शिकायतकर्ता पूर्व कांग्रेसी नेता फैसल खान लाला को बयान दर्ज कराने के लिए डीआईजी जेल ने 20 अगस्त को मुख्यालय बुलाया है. सपा सांसद आजम खान, विधायक पत्नी डॉ तंजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आजम खान के साथ फरवरी माह से सीतापुर की जेल में बंद हैं. उन्हें अभी तक कई मामलों में जमानत मिलने के बावजूद कई अन्य मामलों में कोर्ट से राहत का इंतजार है.

बता दें कि पूर्व कांग्रेसी नेता फैसल लाला ने पिछले दिनों गृह मंत्रालय सहित उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी को पत्र लिखकर सीतापुर जेल में सांसद आजम खान को वीआईपी ट्रीटमेंट दिए जाने का आरोप लगाया था. फैसल लाला ने आरोप लगाया था कि सीतापुर जेल में आजम खान को मोबाइल दिया गया है. साथ ही फाइव स्टार होटल का खाना जेल प्रशासन द्वारा दिया जा रहा है. फैसल लाला ने पत्र में अपनी हत्या की भी आशंका जताई है.

डीआईजी जेल ने भेजा पत्र

डीआईजी जेल ने भेजा पत्र

शिकायती पत्र पर संज्ञान लेते हुए शासन ने इस मामले में जांच बैठा दी है. पुलिस महानिदेशक कारागार विभाग लखनऊ ने उप महानिरीक्षक कारागार संजीव त्रिपाठी को मामले की जांच सौंपी है. संजीव त्रिपाठी ने फैसल लाला को पत्र लिखकर 20 अगस्त को बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया है.ये भी पढे़ं- शिवपाल यादव बोले- सभी ‘समाजवादी’ फिर से एक हो जाए, हम त्याग करने को तैयार

आपको बता दें कि यूपी में योगी सरकार आने के बाद से सपा सांसद आजम खान की मुश्किलें बढ़ी हैं. आजम और उनकी पत्नी-बेटे के खिलाफ कुल 83 मुकदमे दर्ज हैं. कुछ में गिरफ्तारी से उन्हें स्टे मिल गया है. वहीं कुछ मामलों में जमानत मिल गई. फिलहाल आजम खान किसानों की जमीन हथियाने सहित कई मामलों में आरोपी हैं.

(रिपोर्ट- विशाल सक्सेना)



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here