Bumper Yield Of Crop Is Expected This Year Due To Good Monsoon, Area of Kharif crops crossed 1000 Lakh Hectare-अच्छे मानसून से इस साल फसल की बंपर पैदावार होने का अनुमान, खरीफ फसलों का रकबा 1000 लाख हेक्टेयर के पार

0
15
.

All India Crop Situation: आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार खरीफ फसलों की बुवाई के सीजन के औसत रकबे के 95.23 फीसदी में बुवाई हो चुकी है जबकि बीते वर्ष की समान अवधि से की तुलना में करीब नौ फीसदी ज्यादा बुवाई हुई है.

IANS | Updated on: 15 Aug 2020, 02:29:40 PM

All India Crop Situation (Photo Credit: IANS)

नई दिल्ली:

All India Crop Situation: चालू मॉनसून सीजन में देशभर औसत से ज्यादा बारिश होने से उत्साहित किसानों ने खरीफ सीजन (Kharif Crop Sowing Report) की फसलों की बुवाई में पूरी ताकत झोंकी है, जिससे सभी फसलों का रकबा 1,000 लाख हेक्टेयर के पार चला गया है. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार खरीफ फसलों (Crop Wise Sowing Area) की बुवाई के सीजन के औसत रकबे के 95.23 फीसदी में बुवाई हो चुकी है जबकि बीते वर्ष की समान अवधि से की तुलना में करीब नौ फीसदी ज्यादा बुवाई हुई है. केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, 14 अगस्त 2020 तक खरीफ फसलों की बुवाई 1,015.58 लाख हेक्टेयर में हो चुकी है जोकि पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 8.54 फीसदी ज्यादा है.

यह भी पढ़ें: Gold Price Today: पुराने सोने की बिक्री पर 3 फीसदी GST लगाने का हो रहा है विचार

तिलहन, दलहन और कपास की बुआई में किसानों का रुझान बढ़ा
इस सीजन में सभी फसलों की बुवाई का औसत रकबा 1,066.44 लाख हेक्टेयर होता है जिसका 95.23 फीसदी रकबा हो चुका है और अभी कई फसलों की बुवाई जारी है. कृषि विशेषज्ञ बताते हैं कि देश में इस साल प्रमुख तिलहन और दलहन फसलों के साथ-साथ मोटे अनाज और कपास की खेती में किसानों ने ज्यादा दिलचस्पी दिखाई है. हालांकि सीजन की सबसे प्रमुख फसल धान का रकबा भी पिछले साल की समान अवधि से 14.05 फीसदी बढ़कर 351.86 लाख हेक्टेयर हो चुका है. सबसे ज्यादा वृद्धि मूंगफली के रकबे में हुई है जो पिछले साल के मुकाबले 41.02 फीसदी बढ़कर 49.37 लाख हेक्टेयर हो गया है. दलहन फसलों की बुवाई 124.01 लाख हेक्टेयर में हुई है जो पिछले साल से 2.07 फीसदी अधिक है.

यह भी पढ़ें: PMC Bank के खाताधारकों को बड़ा झटका, 1 लाख रुपये से ज्यादा नहीं निकाल पाएंगे

तिलहनों का रकबा 14.41 फीसदी बढ़कर 187.14 लाख हेक्टेयर
वहीं, तिलहनों का रकबा 14.41 फीसदी बढ़कर 187.14 लाख हेक्टेयर हो गया है. किसानों ने मोटे अनाज की बुवाई 168.12 लाख हेक्टेयर में की है जो पिछले साल से 3.60 फीसदी अधिक है. कपास की बुवाई 125.48 लाख हेक्टेयर में हुई है जो पिछले साल से 3.20 फीसदी ज्यादा है. किसानों ने गन्ने की फसल 52.02 लाख हेक्टेयर में लगाई है जो पिछले साल से 1.21 फीसदी अधिक है. कृषि वैज्ञानिक बताते हैं कि मानसून की प्रगति इस साल अब तक बेहतर रही है और फसलों की बुवाई भी ज्यादा हो रही है, लिहाजा पहले से ज्यादा उत्पादन की उम्मीद है.

यह भी पढ़ें: SEBI ने SBI, LIC और बैंक ऑफ बड़ौदा पर क्यों लगाया भारी जुर्माना, जानिए वजह

मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, चालू मानसून सीजन में एक जून से लेकर 14 अगस्त तक देशभर में औसत से दो फीसदी ज्यादा बारिश हुई है. मानूसन के दौरान अब तक देशभर में 591.4 मिलीमीटर बारिश हुई है, जबकि इस दौरान औसत बारिश 578 मिलीमीटर होती है. हालांकि पश्चिमी उत्तर प्रदेश और पूर्वी राजस्थान समेत मौसम विभाग के 36 में से पांच सब्डिवीजनों में मानसून की बेरुखी अब तक बनी हुई है.


First Published : 15 Aug 2020, 02:29:40 PM

For all the Latest Business News, Commodity News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here