HDFC Bank Salutes armed forces on Independence Day, Launches Shaurya KGC Card For Them, Independence Day 2020-HDFC Bank ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सैन्य बलों को किया सलाम, शुरू की ये बड़ी सुविधा

0
29
.

नई दिल्ली:

Independence Day 2020: एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) ने सेना में काम कर रहे जवानों के परिवारों के लिए शौर्य केजीसी कार्ड (Shaurya KGC Card) लॉन्च किया है. इस कार्ड से इन लोगों को कृषि कार्य के लिए जरूरत के सामान जैसे बीज, खाद खरीदने के लिए आर्थिक सहायता दी जाएगी. सैन्य जवानों के परिवार इस फंड से फार्म मैशनरी, सिंचाई के लिए उपकरण जैसे सामान खरीद पाएंगे. ये बात बैंक की ओर से जारी एक बयान में कही गई. किसान क्रेडिट कार्ड गाइडलाइन्स के आधार पर ही ‘शौर्य केजीसी कार्ड’ को लॉन्च किया गया है. इस कार्ड के अधार पर 10 लाख रुपये तक का जीवन बीमा भी मिलेगा.

यह भी पढ़ें: Independence Day 2020: आजादी के समय से अभी तक कितनी बदल गई भारतीय अर्थव्यवस्था

एचडीएफसी के मैनिजिंग डायरेक्टर आदित्य पुरी ने कहा कि हमारे लिए ये गर्व की बात है कि सैन्य बलों में काम करने वाले लोगों के परिवारों के लिए हम यह कार्ड लांच कर रहे हैं. मैं खुद एयर फोर्स से जुड़े परिवार का सदस्य हूं. हमारे सैन्य बल के लोग देश के लिए बड़ा त्याग करते हैं. उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि मेरा करियर अब पूर्ण हुआ जब हम अपने सैन्य बलों के परिवारों के लिए कुछ कर पाए. किसानों की तरह ही अब सैन्य बलों के जवानों के परिवारों के लिए भी एक अच्छा प्रोडक्ट हम लांच कर पाए. स्वतंत्रता दिवस पर ये हमारी ओर से तोहफा है.

यह भी पढ़ें: जानिए भारत में कब हुई इंटरनेट की शुरुआत और कितनी चुकानी पड़ती थी कीमत

काफी कुछ हासिल किया गया, पर एचडीएफसी बैंक का सर्वश्रेष्ठ अभी बाकी: पुरी
निजी क्षेत्र के एचडीएफसी बैंक के प्रबंध निदेशक आदित्य पुरी ने कहा है कि उनकी 26 साल की यात्रा के दौरान बैंक ने काफी कुछ हासिल किया है, लेकिन बैंका का सर्वश्रेष्ठ आना अभी बाकी है। पुरी जल्द सेवानिवृत्त होने जा रहे हैं। शशिधर जगदीशन को पुरी का उत्तराधिकारी चुना गया है. पुरी ने कहा कि जगदीशन बैंक की अगुवाई करने के लिए सबसे उपयुक्त व्यक्ति हैं. एचडीएफसी बैंक ने इसी महीने जगदीशन को 27 अक्टूबर से बैंक का प्रबंध निदेशक नियुक्त किया है। पुरी उस समय 70 वर्ष की आयु पूरी करने के बाद सेवानिवृत्त हो जायेंगे। पुरी ने कहा, ‘‘जब मैं यह लिख रहा हूं, तो मैं सबसे ज्यादा खुश हूं. मैं हमेशा कहता रहा हूं कि बैंक का सर्वश्रेष्ठ अभी बाकी है. अब शशि बैंक की अगुवाई करेंगे और मुझे इसमें संदेह नहीं है कि उनकी अगुवाई में हमारा सर्वश्रेष्ठ सामने आएगा.

यह भी पढ़ें: Independence Day 2020: आजादी के समय से अभी तक कितनी बदल गई भारतीय अर्थव्यवस्था

एचडीएफसी बैंक के कर्मचारियों की संख्या करीब 1.16 लाख
कर्मचारियों को भेजे ई-मेल में पुरी ने कहा कि मैं उनकी खूबियों में नहीं जाऊंगा. क्योंकि हममें से ज्यादातर यह जानते हैं. मैं यही कहूंगा कि वह आपका नेतृत्व करने के लिए सर्वश्रेष्ठ व्यक्ति हैं और मैं यह कमान सबसे सुयोग्य व्यक्ति को सौंपने जा रहा हूं. पुरी एचडीएफसी बैंक के सबसे पहले कर्मचारी हैं. उन्होंने कहा कि यदि आप पीछे देखें तो 26 साल पहले, तो ऐसा लगता है कि जैसे कल की ही बात है. अपने पहले कार्यालय में टूटी कुर्सियों के साथ हमने शुरू कर जो हासिल किया है वह अविश्वसनीय है. दुनिया में ऐसे कम ही उदाहरण हैं. पुरी को एचडीएफसी बैंक को काफी नीचे से उठाकर देश का निजी क्षेत्र का सबसे बड़ा बैंक बनाने का श्रेय जाता है. उन्होंने कहा कि हमारी उपलब्धियों के कुछ नमूने हैं, जिनपर मुझे काफी गर्व है. आज हम वास्तव में विश्वस्तरीय भारतीय बैंक हैं.

यह भी पढ़ें: के-2′ जिन्न से पाकिस्तान की 15 अगस्त पर बड़ी साजिश, अलर्ट पर सुरक्षा एजेंसियां

पहुंच, बही-खाते, ग्राहक संख्या और बाजार पूंजीकरण के हिसाब से हम स्वतंत्र भारत के सबसे बड़े बैंक में से हैं. अपनी सतत आजीविका पहल (एसएलआई) के जरिये हमने 1.11 करोड़ भारतीय परिवारों को गरीबी से निकाला है. पुरी ने कहा कि बैंक अपनी कॉरपोरेट सामाजिक दायित्व (सीएसआर) पहल के जरिये आज 7.8 करोड़ भारतीयों की जिंदगी में एक बड़ा बदलाव लाने में कामयाब रहा है. उन्होंने कहा कि आज हमारी पहचान देश के सर्वश्रेष्ठ संपत्ति सृजनकर्ता के रूप में होती है. हम स्वतंत्र भारत के सबसे बड़े नियोक्ताओं में से हैं. 26 साल पुराने एचडीएफसी बैंक के कर्मचारियों की संख्या करीब 1.16 लाख है. देश के 2,825 शहरों और कस्बों में बैंक की 5,326 शाखाएं और 14,996 एटीएम हैं. (इनपुट एजेंसी)


Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here