वर्क फ्रॉम होम में कमर दर्द, कंधे में दर्द से हैं परेशान, इन आसनों से दूर होगी हर समस्या | health – News in Hindi

0
18
.

सविता यादव से योग सीखें

News18 Hindi के फेसबुक पेज पर लाइव योग सेशन (Live Yoga Session) में योग एक्सपर्ट सविता यादव ( Savita Yadav) ऐसे कई योग अभ्यासों के बारे में बताया जोकि बहुत लाभकारी हैं…


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    August 17, 2020, 10:46 AM IST

योग एक्सपर्ट सविता यादव से आज हमने News18 Hindi के फेसबुक पेज पर योग करने के कई तरीके सीखे . लाइव योग सेशन (Live Yoga Session) में वर्क फ्रॉम होम की परेशानियों में आराम देने वाले कई तरह के योग आसनों के बारे में बताया गया. योग शरीर से मन की यात्रा है. योग अभ्यास की प्रैक्टिस रोजाना करने से यह आदत में शामिल हो जाता है. योग करने से न केवल मनुष्य स्वस्थ (Healthy) रह सकता है बल्कि उसे हर प्रकार के तनाव (Stress) से भी मुक्ति मिलती है. योग सांसों और मन पर नियंत्रण पाने की क्रिया है.

श्वसन क्रिया के व्यायाम: सुखासन में बैठ जाएं. हाथों को वायु मुद्रा में रखें. आंखें बंद करके लंबी सांसे लें और सांस छोड़ें. इस प्रक्रिया को 5 बार करें. आखिरी बार सांस भरते समय ॐ का नाद करें.

सूक्ष्म व्यायाम करें: योग मैट पर लेट जाएं. पैरों के बीच में गैप रखें और दोनों पैरों को गोलाकार घुमाएं ऐसा करने से पैर के पंजों में लचीलापन आएगा. सूक्ष्म व्यायाम को योग शुरू करने से पहले जरूर करें. सूक्ष्म व्यायाम करने के दौरान सांस लेने और सांस छोड़ने की प्रक्रिया के दौरान सांसों पर ध्यान केंद्रित करें.बटरफ्लाई आसन:
बटरफ्लाई आसन को तितली आसन भी कहते हैं. महिलाओं के लिए ये आसन विशेष रूप से लाभकारी है. बटरफ्लाई आसन करने के लिए पैरों को सामने की ओर फैलाते हुए बैठ जाएं,रीढ़ की हड्डी सीधी रखें. घुटनो को मोड़ें और दोनों पैरों को श्रोणि की ओर लाएं. दोनों हाथों से अपने दोनों पांव को कस कर पकड़ लें. सहारे के लिए अपने हाथों को पांव के नीचे रख सकते हैं. एड़ी को जननांगों के जितना करीब हो सके लाने का प्रयास करें. लंबी,गहरी सांस लें, सांस छोड़ते हुए घटनों एवं जांघो को जमीन की तरफ दबाव डालें. तितली के पंखों की तरह दोनों पैरों को ऊपर नीचे हिलाना शुरू करें. धीरे धीरे तेज करें. सांसें लें और सांसे छोड़ें. शुरुआत में इसे जितना हो सके उतना ही करें. धीरे-धीरे अभ्यास बढ़ाएं.

ग्रीवा शक्ति आसन:
इस योग क्रिया को करने के लिए अपनी जगह पर खड़े हो जाएं. जो लोग खड़े होकर इस क्रिया को करने में असमर्थ हैं वे इसे बैठकर भी कर सकते हैं. जो जमीन पर नहीं बैठ सकते वे कुर्सी पर बैठकर भी इसका अभ्यास कर सकते हैं. कंफर्टेबल पोजीशन में खड़े होकर हाथों को कमर पर टिकाएं. शरीर को ढीला रखें. कंधों को पूरी तरह से रिलैक्स रखें. सांस छोड़ते हुए गर्दन को आगे की ओर लेकर आएं. चिन को लॉक करने की कोशिश करें. जिन लोगों को सर्वाइकल या गर्दन में दर्द की समस्या हो वह गर्दन को ढीला छोड़ें चिन लॉक न करें. इसके बाद सांस भरते हुए गर्दन को पीछे की ओर लेकर जाएं.

अनुलोम विलोम प्राणायाम: सबसे पहले पद्मासन या सुखासन में बैठें. इसके बाद दाएं अंगूठे से अपनी दाहिनी नासिका पकड़ें और बाई नासिका से सांस अंदर लें लीजिए. अब अनामिका उंगली से बाई नासिका को बंद कर दें. इसके बाद दाहिनी नासिका खोलें और सांस बाहर छोड़ दें. अब दाहिने नासिका से ही सांस अंदर लें और उसी प्रक्रिया को दोहराते हुए बाई नासिका से सांस बाहर छोड़ दें.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here