बाढ़ प्रभावित परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना और मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत मिलेंगे ये लाभ

0
28
.

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए से बाढ़ के प्रति अतिसंवेदनशील व संवेदनशील प्रदेश के 40 जनपदों के जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधियों के साथ संवाद किया। इस दौरान उन्होंने बाढ़ प्रभावित 15 जनपदों अम्बेडकरनगर, अयोध्या, आजमगढ़, बहराइच, बलिया, बाराबंकी, बस्ती, देवरिया, गोण्डा, गोरखपुर, लखीमपुर खीरी, कुशीनगर, मऊ तथा सीतापुर के जिला अधिकारियों तथा जनप्रतिनिधियों से सम्बन्धित जनपदों में बाढ़ की स्थिति और राहत कार्यों के संचालन के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त कर आवश्यक निर्देश दिए।

लवमैरिज के बाद प्रेमी ने उसके संग कैसा सुलूक किया, प्रेमिका ने वीडियो में बयां की अपनी दर्दभरी कहानी

सीएम योगी ने कहा है कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के सभी पीड़ित परिवारों को राशन किट उपलब्ध करायी जाए। उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में जनहानि, पशुहानि, मकान क्षति अथवा अन्य हानि होने पर 24 घण्टे के अंदर जनप्रतिनिधि के माध्यम से पीड़ित परिवार को निर्धारित आर्थिक सहायता राशि उपलब्ध करायी जाए। उन्होंने कहा कि बाढ़ पीड़ितों को राहत प्रदान करने में किसी प्रकार की कोताही या लापरवाही नहीं बरती जानी चाहिए। इसी के साथ राहत कार्यों के संचालन में शासन द्वारा निर्धारित कोरोना प्रोटोकॉल का अनुपालन भी सुनिश्चित किया जाए। सीएम योगी ने कहा कि वर्तमान समय में कुछ जनपदों को कोरोना की महामारी के साथ बाढ़ की त्रासदी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने इसके दृष्टिगत आवश्यक सावधानी बरतने को कहा।

CM योगी ने समीक्षा बैठक में कोविड-19 के दृष्टिगत दिए कई बड़े निर्देश

वीडियो कॉनफ्रेंसिंग के दौरान सीएम योगी ने कहा कि बाढ़ का खतरा सितम्बर के मध्य तक बना रहता है। उन्होंने जिला प्रशासन को इसके अनुरूप तैयारी रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बाढ़ पीड़ितों को वितरित करायी जा रही राशन किट में 10 किग्रा आटा, 10 किग्रा चावल, 10 किग्रा आलू, 05 किग्रा लाई, 02 किग्रा भुना चना, 02 किग्रा अरहर की दाल, 500 ग्राम नमक, 250 ग्राम हल्दी, 250 ग्राम मिर्च, 250 ग्राम धनिया, 05 लीटर केरोसिन, 01 पैकेट मोमबत्ती, 01 पैकेट माचिस, 10 पैकेट बिस्कुट, 01 लीटर रिफाइण्ड तेल, 100 टैबलेट क्लोरीन एवं 02 नहाने के साबुन उपलब्ध कराए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि बाढ़ राहत कार्यों के लिए पर्याप्त मात्रा में धनराशि उपलब्ध है। पूरी संवेदनशीलता बरतते हुए सभी बाढ़ पीड़ितों को राहत सहायता उपलब्ध करायी जाए।

UP: गरीब ब्राह्मणों को मेडिकल बीमा देने पर बोलीं मायावती- पहले BJP दे सुरक्षा की गारंटी | lucknow – News in Hindi
सीएम ने कहा कि प्रशासन द्वारा बनाए गए शिविरों में रहने वाले बाढ़ पीड़ितों के लिए शुद्ध भोजन और स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। तटबंधों आदि पर रह रहे बाढ़ पीड़ितों को तिरपाल उपलब्ध कराने साथ ही पेट्रोमैक्स की व्यवस्था करने की बात कही। बाढ़ प्रभावित गांव में नौकाओं की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में मोबाइल मेडिकल टीम द्वारा भ्रमण किया जाए। जलजनित बीमारियों से बचाव के लिए क्लोरीन की गोलियां वितरित की जाएं।

मंत्रिपरिषद की बैठक में स्व.चेतन चैहान को श्रद्धांजलि अर्पित की गई

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बाढ़ की चपेट में आकर मकान की क्षति होने पर प्रभावित परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना अथवा मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत आवास उपलब्ध कराने के सम्बन्ध में कार्ययोजना तैयार की जाए। सम्बन्धित गांव में भूमि की उपलब्धता न होने पर पीड़ित परिवार को किसी अन्य स्थान पर बसाने के सम्बन्ध में राजस्व विभाग को प्रस्ताव भेजा जाए। उन्होंने कहा कि आकाशीय बिजली अथवा सर्पदंश से मृत्यु होने पर पीड़ित परिवार को नियमानुसार आर्थिक सहायता उपलब्ध करायी जाए। सर्पदंश, कुत्ते के काटने पर लगाए जाने वाले इंजेक्शन सामुदायिक/प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर उपलब्ध कराए जाएं।

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here