बिहार चुनाव की कमान संभाल सकते हैं देवेंद्र फडणवीस

0
24
.

हाइलाइट्स:

  • ऐसी खबरें आ रही हैं कि बीजेपी देवेंद्र फडणवीस को बिहार चुनाव का इंचार्ज बनाकर पटना भेज रही है
  • राजनीतिक सर्कल में यह चर्चा भी शुरू हो गई है कि क्या फडणवीस को महाराष्‍ट्र से दूर किया जा रहा है
  • बीते महीने भर से फडणवीस को जेपी नड्डा की टीम में महासचिव बनाकर राष्ट्रीय जिम्मेदारी दिए जाने की चर्चा है

मुंबई
बीजेपी ने बिहार विधानसभा चुनावों की तैयारी शुरू कर दी है। शुक्रवार को खबर आई कि बीजेपी देवेंद्र फडणवीस को बिहार चुनाव का इंचार्ज बनाकर पटना भेज रही है। हालांकि, इस बारे में अब तक कोई अधिकृत घोषणा बीजेपी ने नहीं की है।

इस खबर के आम होते ही महाराष्ट्र में यह चर्चा भी शुरू हो गई कि यदि देवेंद्र फडणवीस बिहार भेजे गए, तो फिर महाराष्ट्र में गणपति विसर्जन के साथ ही महा विकास अघाड़ी सरकार का विसर्जन किए जाने के दावे का क्या होगा? महाराष्ट्र के राजनीतिक सर्कल में यह चर्चा भी शुरू हो गई है कि क्या बीजेपी आलाकमान ने महाराष्ट्र के लिए कोई और योजना तैयार कर रखी है?

क्‍या फडणवीस को महाराष्‍ट्र से दूर किया जा रहा है!
यह सवाल भी उठाया जा रहा है कि क्या बिहार के बहाने फडणवीस को महाराष्ट्र की राजनीति से दूर किया जा रहा है? एक कहानी यह भी गढ़ी जा रही है कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के मामले को राष्ट्रीय मुद्दा बनाए जाने में परदे के पीछे फडणवीस की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

फिलहाल महाराष्‍ट्र से बाहर नहीं जाना चाहते फडणवीस
यह सच है कि बीजेपी में फडणवीस की राजनीतिक प्रतिभा के कायल कई बड़े नेता है जो यह चाहते हैं कि फडणवीस महाराष्ट्र से आगे बढ़कर राष्ट्रीय राजनीति में अपना योगदान दें। हालांकि फडणवीस का रुख फिलहाल महाराष्ट्र से दूर जाने का कतई नहीं है। फिर भी अगर उन्हें अधिकारिक तौर पर बिहार की जिम्मेदारी दी जाती है, तो यह फडनवीस की राष्ट्रीय राजनीति की शुरुआत होगी। वैसे भी महाराष्ट्र का इतिहास है कि जॉर्ज फर्नांडिस, मधु लिमये, मुकुल वासनिक और संजय निरुपम भी बिहार चुनावों में भूमिका निभाने के बाद ही राष्ट्रीय नेता के रूप में स्थापित हुए हैं।

बिहार में नहीं होगी खास मुश्किल
हालांकि बिहार की चुनौती फडणवीस के लिए मुश्किल नहीं है, क्योंकि बिहार में लंबे समय से बीजेपी का काम संभाल रहे पार्टी महासचिव भूपेंद्र यादव के साथ उनकी ट्यूनिंग पहले से जमी हुई है। भूपेंद्र यादव बीते विधानसभा चुनाव में महाराष्ट्र में प्रभारी थे और देवेंद्र फडणवीस के साथ मिलकर काम कर चुके हैं। वैसे, बीते महीने भर से फडणवीस को जेपी नड्डा की टीम में महासचिव बनाकर राष्ट्रीय जिम्मेदारी दिए जाने की चर्चा है। साथ ही, बीजेपी पार्लियामेंट्री बोर्ड में लिए जाने की खबरें भी आती रहीं। इन खबरों को फडणवीस विरोधी नेता खूब हवा देते रहे हैं, क्योंकि उनको लगता है कि फडणवीस के राष्ट्रीय भूमिका में जाते ही उन्हें यहां की राजनीति में खुलकर खेलने को मिल सकता है।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here