politics News : Sushant Singh Death CBI Inquiry : बुरी तरह घिरे उद्धव ठाकरे, शरद पवार के पोते ने किया वार तो बीजेपी ने अनिल देशमुख का मांगा इस्तीफा – sushant singh death case updates maharashtra bjp ask anil deshmukh to resign

0
21
.
मुंबई़
सुशांत सिंह राजपूत केस में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद उद्धव सरकार घिर गई है। सुशांत की मौत की जांच सीबीआई को देने के फैसले के बाद बीजेपी ने महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख का इस्तीफा मांगा है तो वहीं एनसीपी प्रमुख शरद पवार के पोते ने भी महाराष्ट्र सरकार पर वार किया है।

महाराष्ट्र बीजेपी के नेता किरीट सौमेया ने कहा, ‘सुशांत सिंह राजपूत प्रकरण में गृहमंत्री अनिल देशमुख को तुरंत इस्तीफा देना चाहिए। वहीं मुंबई पुलिस कमिश्नर ने दो महीने तक एफआईआर नहीं दर्ज की, उन्हें स्पष्टीकरण देना चाहिए। किरीट सौमेया ने कहा कि अब सुशांत के परिवार को न्याय मिलेगा।’

पार्थ पवार ने लिखा-सत्यमेव जयते
वहीं एनसीपी नेता और शरद पवार के पोते पार्थ पवार ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ट्वीट कर लिखा, ‘सत्यमेव जयते।’ वह पहले भी सुशांत केस की जांच सीबीआई को सौंपने की वकालत कर चुके हैं।

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को सौंप दी है। पटना कोर्ट की एफआईआर को सुप्रीम कोर्ट ने सही पाया है। कोर्ट ने कहा कि बिहार सरकार जांच की सिफारिश करने में सक्षम है। कोर्ट ने ये भी माना कि मुंबई पुलिस ने जांच नहीं की।

सुप्रीम कोर्ट ने मांगे थे सभी पक्षों के जवाब
सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में जांच का अधिकार किसे है, इसे लेकर मामला सुप्रीम कोर्ट में था। सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों से लिखित जवाब मांगे थे। बिहार सरकार, रिया चक्रवर्ती और सुशांत की फैमिली की तरफ से लिखित जवाब सुप्रीम कोर्ट में दिए गए थे। वहीं सीबीआई की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में लिखित जवाब दिया गया था। जवाब में कहा है कि कोर्ट को सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को अपनी जांच जारी रखने देना चाहिए।

ट्रांसफर के लिए दिया गया था ये तर्क
सुशांत केस को ट्रांसफर करने की याचिका में तर्क दिया गया था कि अधिकांश लेनदेन मुंबई में हुए और इस तरह से पटना पुलिस को इस मामले की जांच करने का कोई अधिकार नहीं है। वहीं, सीबीआई का कहना है कि याचिका गलत है और कई कारणों से खारिज होने के लायक है।

सुशांत की मौत की जांच के मामले में रिया चक्रवर्ती ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दी थी कि केस को बिहार से मुंबई ट्रांसफर कर दिया जाए। 11 अगस्त को इस केस की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई थी। इस मामले में आज फैसला सुनाया गया।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here