कोरोना मरीजों के इलाज में कोई कमी आई तो डीएम और मेडिकल कालेजों के प्रिंसिपल होंगे तलब: CM योगी

0
42
.

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश की योगी सरकार लगातार कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम के लिए हर संभव प्रयास कर रही हैं। कोरोना का बढ़ता संक्रमण सरकार के लिए चुनौती बन गया है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश सरकार अलर्ट मोड पर आ गई है। बता दें कि सीएम योगी ने बुधवार को कोविड-19 अस्‍पतालों की व्‍यवस्था को चुस्‍त-दुरुस्‍त करने के कड़े निर्देश देते हुए कहा कि कोरोना मरीजों को अच्‍छा इलाज देने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है।

Agra Bus Hijack: मास्टरमाइंड प्रदीप गुप्ता की ये है आपराधिक कुंडली, जा चुका है जेल | agra – News in Hindi

सीएम योगी ने कहा कि कोरोना के इलाज के लिए हर जिले को 3-5 करोड़ रुपए अतिरिक्‍त उपलब्‍ध कराए गए हैं। उनका कहना है कि किसी भी मरीज के इलाज में किसी प्रकार की कमी नहीं होनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी मेडिकल कॉलेज अपने बजट से कोविड-19 के इलाज के लिए दवाइयां और अन्य आवश्यक सामग्री खरीदें जिनकी आवश्यकता हो। मेडिकल कॉलेजों को उपलब्ध कराई गई धनराशि का पूरा इस्‍तेमाल मरीजों के अच्छे इलाज के लिए करें।

Mauritius arrests Indian captain of Japanese ship that spilled oil – शिप से तेल रिसाव के मामले में मॉरीशस में जापान के जहाज का भारतीय कैप्‍टन गिरफ्तार..

मुख्‍यमंत्री ने चेतावनी देते हुए कहा कि इस काम में किसी प्रकार की  उदासीनता बरती गई तो सम्‍बन्धित  प्रिंसिपल की जवाबदेही तय की जाएगी। उन्होंने कहा कि किसी भी दशा में दवा के अभाव में मरीज का इलाज प्रभावित नहीं होना चाहिए। बुधवार को मुख्‍यमंत्री के अधिकारिक ट्विटर पर इन निर्देशों की जानकारी दी गई। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ कोविड-19 संक्रमण की समीक्षा करते हुए कांटैक्ट ट्रेसिंग में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसके जरिए से कोविड-19 के प्रसार को नियंत्रित करने में मदद मिल रही है इसलिए ज्यादा से ज्यादा का कांटैक्ट ट्रेसिंग की जाए।

COVID-19: डेक्सामैथासोन समेत इन दवाओं को खाकर ठीक हो रहे हैं कोरोना के मरीज | health – News in Hindi

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here