World Mosquito Day: मच्छरों के काटने से हो सकती हैं गंभीर बीमारियां, रखें ये सावधानियां | health – News in Hindi

0
72
.

बरसात का मौसम (Rainy Season) है और इस दौरान शाम होते ही मच्छरों (Mosquitoes) का हमला शुरू हो जाता है. घर और बाहर हर जगह मच्छर खून चूसकर परेशान करते हैं. भारत में तो लगभग हर जगह मच्छर होते हैं. हमारे देश में मच्छरों के काटने (Mosquito Bites) को गंभीरता से नहीं लिया जाता, लेकिन इनसे कई खतरनाक और जानलेवा बीमारियां (Fatal Diseases)  हो सकती हैं. मच्छरों के काटने से त्वचा पर सूजन, लाली और हाथ लगाने पर गर्माहट महसूस होती है. मच्छर के काटने से लगभग हर व्यक्ति को एलर्जी होती है, कुछ ही लोग ऐसे होते हैं जिन्हें एलर्जी नहीं होती.

ज्यादातर मामलों में तो घर पर ही कुछ उपाय करके मच्छरों के काटने से होने वाली एलर्जी या प्रतिक्रिया से राहत मिल जाती है. हालांकि कुछ गंभीर मामलों में डॉक्टर के पास जाना पड़ सकता है. क्योंकि मच्छरों के काटने से कई जानलेवा बीमारियां होने का खतरा भी होता है.

मच्छरों के काटने से होने वाली बीमारियांमच्छरों के काटने से दुनियाभर में हर साल करोड़ों लोगों को अलग-अलग तरह की बीमारियां होती हैं और लाखों लोगों की जान चली जाती है. नीचे कुछ जानलेवा बीमारियों के बारे में बताया गया है, जो मच्छरों के काटने से फैलती हैं –

– मलेरिया – मादा एनोफेलीज मच्छर के काटने से यह बीमारी होती है. इस रोग में व्यक्ति के शरीर में लाल रक्त कोशिकाएं (RBC) इंफेक्टेड हो जाती हैं और खत्म होने लगती हैं. रोगी को सर्दी और सिरदर्द के साथ ही बार-बार कभी कम तो कभी ज्यादा बुखार आता है. गंभीर मामलों में बीमार व्यक्ति कोमा में भी जा सकता है, यहां तक कि उसकी मौत भी हो सकती है.

– पीला बुखार – यह एक विशेष प्रकार के मच्छर से फैलने वाला वायरल इंफेक्शन है. पीले बुखार में मरीज के मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी में सूजन आ जाती है. कम गंभीर मामलों में सिरदर्द, जी मिचलाना, बुखार और उल्टी जैसे लक्षण दिखते हैं. गंभीर मामलों में दिल, लिवर और किडनी से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं.

– चिकनगुनिया – मच्छरों से फैलने वाली यह एक आम, लेकिन घातक बीमारी है. इस रोग में मरीज को बुखार, चकत्ते और जोड़ों में दर्द की शिकायत होती है. इंफेक्शन ठीक हो जाने के बाद भी इसके लक्षण लंबे समय तक रहते हैं और मरीज के शरीर को कमजोर कर देते हैं. इससे उसे चलने-फिरने में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. मरीज को पूरी तरह से आराम की जरूरत होती है.

– जीका वायरस – मच्छरों के काटने से फैलने वाली यह बेहद घातक बीमारी है. इसमें बुखार, लाल चकत्ते, जोड़ों और मासपेशियों में दर्द की शिकायत रहती है. इसके अन्य लक्षणों में सिरदर्द, कंजेक्टिवाइटिस और बेचैनी भी होती है. अगर कोई गर्भवती महिला इससे संक्रमित होती है तो उसके बच्चे का दिमाग छोटा रह सकता है.

– डेंगू – डेंगू वायरस से संक्रमित मच्छर के काटने से यह बीमारी फैलती है. इस बीमारी में मरीज को बुखार, चकत्ते, जोड़ों और मासपेशियों में गंभीर दर्द जैसे लक्षण अनुभव होते हैं. इस बीमारी के दौरान मरीज को आराम की जरूरत होती है और इसकी वजह से मरीज महीनों तक चलने-फिरने में दर्द का अनुभव करता है.
मच्छरों के काटने का प्राथमिक उपचार
मच्छरों के काटने से होने वाले ज्यादातर लक्षण कुछ समय में अपने आप ठीक हो जाते है. हालांकि, सूजन और खुजली की वजह से परेशानी का अनुभव होता है. कुछ प्राथमिक उपचार के जरिए आप मॉस्क्यूटो बाइट से राहत महसूस कर सकते हैं –

  • मच्छरों ने जहां काटा है, वहां खुजली ना करें. ऐसा करने से इंफेक्शन हो सकता है
  • जिस जगह पर मच्छरों ने काटा है उसे साबुन और पानी से अच्छी तरह से धो लें
  • खुजली, लाली और सूजन से बचने के लिए मच्छर काटी जगह पर कैलामाइन लोशन या हाइड्रोकार्टिसोन क्रीम लगा लें. हाइड्रोकार्टिसोन क्रीम को दिन में दो बार से ज्यादा न लगाएं इससे त्वचा को नुकसान हो सकता है
  • अगर सूजन और दर्द ज्यादा है तो प्रभावित जगह पर आइसपैक लगा लें या ठंडे पानी से नहा लें
  • खुजली ठीक न होने पर एंटीहिस्टामिन दवा का सेवन कर सकते हैं
  • टी-बैग को ठंडे पानी में डुबोकर निकालें और निचोड़कर प्रभावित जगह पर 10-15 मिनट के लिए लगाएं
  • ताजा एलोवेरा जेल लेकर प्रभावित जगह पर लगाएं, इससे खुजली और जलन से राहत मिलेगी

ये भी पढ़ें – आपको रात को होती है खांसी? ये 12 टिप्स अपनाकर इससे पाएं छुटकारा

डॉक्टर के पास कब जाएं
मच्छरों के काटने से होने वाली ज्यादातर बीमारियों के लक्षण आम फ्लू जैसे ही होते हैं. अगर आपको मच्छरों ने काटा है और नीचे दिए गए लक्षण दिख रहे हैं तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें –

  • बुखार
  • सिर दर्द
  • सांस फूलना
  • ठंड लगना
  • चकत्ते
  • नाक से खून आना
  • आंख में दर्द
  • थकान और कमजोरी
  • दर्द
  • पैरालिसिस
  • बेहोशी
  • मसूड़ों से खून आना
  • पीलिया
  • उल्टी और मतली
  • गर्दन में अकड़न
  • आसानी से नील पड़ना

ये भी पढ़ें – वर्किंग वुमन घर-बाहर की ज़िम्मेदारियों के बीच ऐसे रखें खुद का ख्याल, रहेंगी फिट

अगर मच्छरों के काटने से आपको एलर्जिक शॉक होता है तो आपको इमरजेंसी में डॉक्टर के पास जाना चाहिए.

अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, मच्छर काटने के घरेलू उपाय पढ़ें।

न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here