बीजेपी ने लगाया शिवसेना पर आरोप कहा मुद्दों से भटका रही है शिवसेना

1
42
.

हाइलाइट्स:

  • शिवसेना ने लगाया बीजेपी पर दोयम दर्जे की राजनीति का आरोप
  • बीजेपी ने कहा शिवसेना हर मोर्चे पर फेल सिर्फ ध्यान भटकाने की कोशिश
  • सीबीआई जांच का मुद्दा हाथ से निकलने के बाद अब शिवसेना के पिटारे से निकलना शिवराज सिंह चौहान का मुद्दा
  • सामना संपादकीय के जरिये केंद्र पर साधा निशाना

मुंबई
फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (sushant singh rajput case ) की मौत के मामले में बुरी तरह से किरकिरी झेल चुकी शिवसेना ने अब मध्य प्रदेश का नया मुद्दा निकाला है। हाल ही में मध्य प्रदेश सरकार (madhya pradesh government) ने राज्य के युवाओं को ही सरकारी नौकरी (government jobs) देने का आदेश निकाला है। शिवसेना ने अभी से मुद्दा बनाते हुए मुखपत्र सामना में लिखा है की यह मुद्दा शिवसेना की स्थापना के साथ स्वर्गीय बाला साहब ठाकरे ने उठाया था। जिस में 80% नौकरियां रोजगार स्थानीय लोगों को ही देने का प्रावधान था। तब इस मुद्दे पर विरोधी दलों ने जमकर हंगामा किया था। लेकिन आज जब यह मुद्दा मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री एक आदेश के रूप में लाते हैं तब इस पर हुई सवाल जवाब नहीं होता।

बीजेपी ने कहा मुद्दे से भटका रही है शिवसेना
इस मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी के पूर्व सांसद और वरिष्ठ नेता किरीट सोमैया ने नवभारत टाइम्स ऑनलाइन से बात करते हुए कहा, ‘राज्य में कोरोना के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। बेरोजगारी अपने चरम पर है, कई सारी फैक्ट्रियां अभी भी बंद है और लोगों के पास कोई काम धंधा नहीं है। ऐसे जरूरी मुद्दों को छोड़कर शिवसेना अब यह नया शगूफा लेकर आई है। इससे साफ जाहिर होता है शिवसेना सिर्फ ध्यान भटकाने के लिए यह नया मुद्दा लेकर आई है। शिवसेना के पास जनसमस्याओं के निवारण के लिए कोई ठोस रणनीति नहीं है’।

क्या लिखा है सामना में
शिवसेना के मुखपत्र सामना में केंद्र सरकार को और भाजपा को उनके दोहरे चरित्र को लेकर आड़े हाथों लिया गया है। शिवसेना ने आरोप लगाया है कि अब कोई भी एमपी के मामा जी शिवराज सिंह चौहान के फैसले पर कुछ नहीं बोलता। जब शिवसेना ने यह मुद्दा पार्टी की स्थापना के साथ रखा और इसे समय-समय पर उठाया तो लोगों ने इसका काफी विरोध किया। राजनीतिक दलों ने इस पर राजनीति भी की लेकिन आज सब खामोश है ऐसा क्यों?

सुशांत सिंह मुद्दे पर शिवसेना की किरकिरी हुई
शिवसेना सांसद संजय राउत और शिवसेना की सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में काफी किरकिरी हुई है। महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार के मुखिया हैं। लगातार सरकार के ऊपर सुशांत सिंह मौत मामले की जांच में लापरवाही बरतने का आरोप लगता रहा। हालांकि इस बात को हमेशा से आघाडी सरकार ने गलत बताया है। लेकिन जब पूरा देश इस मामले को जांच के लिए सीबीआई को देने की मांग करता रहा। तब सरकार ने जनता की इस मांग को सिरे से खारिज कर दिया। अंततः सुप्रीम कोर्ट में मामला पहुंचने के बाद राज्य सरकार के हाथ से अदालत ने यह मामला सीबीआई को ट्रांसफर कर दिया।

Source link

Authors

.

1 COMMENT

  1. सपा नेता लौटन राम निषाद का भगवान राम पर बेतुका बयान, कहा भगवान राम काल्पनिक पात्र हैं - First Eye News

    […] बीजेपी ने लगाया शिवसेना पर आरोप कहा मु… […]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here