एबीवीपी ने विद्यालयों द्वारा अवैध वसूली पर करेगा आंदोलन, प्रशासन को दी चेतावनी

0
30
.

श्रावस्ती। वैश्विक महामारी कोरोना के दौरान जहां पूरा विश्व कोरोना महामारी और आर्थिक संकट से गुजर रहा है,  वहीं पर जिला के कई विद्यालय ऐसे हैं जो परीक्षार्थियों से प्रवेश परीक्षा फॉर्म, ट्यूशन शुल्क , और टीसी के नाम पर मोटी रकम वसूल रहे हैं ।मामले की जानकारी जिला प्रशासन को होने के बावजूद अंजान बना हुआ है । इस संबंध में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की जिला इकाई ने जिला विद्यालय निरीक्षक को मांग पत्र सौंपा है और जिला के कई विद्यालयों पर आरोप लगाया है कि जिला के कई सारे विद्यालय छात्रों तथा अभिभावकों का  आर्थिक शोषण कर रहे है और मांग की है कि जिला प्रशासन इस पर तत्काल कार्यवाही करें अन्यथा परिषद आंदोलन करने पर बाध्य होगा जिसकी समस्त जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी।

आम आदमी पार्टी गांवों और शहरों में बनाएगी ऑक्सीजन जांच केंद्र : संजय सिंह

परिषद के नगर महामंत्री शिवाजी त्रिपाठी ने मांग पत्र में आरोप लगाया है कि जिला के अधिकतम विद्यालय प्रवेश परीक्षा फॉर्म के नाम पर पांच सौ और टीसी  मार्कशीट के नाम पर 500 से 1000 रूपया वसूल कर रहे हैं। इसी तरह से विद्यालय कई अन्य तरह के विद्यार्थियों से शूल्क के नाम पर आर्थिक शोषण कर रहे हैं। जबकि पूरा विश्व कोरोना जैसे वैश्विक महामारी के प्रभाव से प्रभावित है और छात्र-छात्राओं के अभिभावकों  के सामने रोजी रोटी की समस्याएं आजकल आम बात है। साथ ही जिला के कई  विद्यालय सरकारी आदेश के विपरीत प्रवेश परीक्षा फार्म व टी सी मार्कशीट व  ट्यूशन फीस के नाम पर अभिभावकों का शोषण कर रहे हैं जो पूरी तरीके से अवैधानिक व मानवता विहीन कृत्य हैं ।

अमर सिंह के निधन से खाली हुई राज्य सभा सीट पर 11 सितंबर को होगा चुनाव

इसी तरह से जिला के कई विद्यालयों के अभिभावकों ने नाम न छापने की शर्त पर आरोप लगाया है कि विद्यालय प्रशासन उन लोगों पर नाजायज दबाव बना रहा है और कहता है कि फार्म तथा शुल्क जमा नहीं करोगे तो तुम लोगों के बच्चों का भविष्य बर्बाद कर दिया जाएगा। शिकायत क्यू नही की के नाम पर इन लोगों का आरोप है कि जिला प्रशासन इन लोगों को पूरी तरह से सरंक्षण दे रहा है जिसके कारण  यह लोग अपने  मनमानी ढंग से छात्र-छात्राओं का शोषण कर रहे हैं ,वहीं पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने जिला प्रशासन को चेतावनी दी है कि प्रशासन तत्काल उन छात्र-छात्राओं का वसूली  हुए पैसे को विद्यालय प्रशासन से पैसा वापस कराये है और ऐसे विद्यालयों के खिलाफ कार्रवाई करे जिन लोगों ने  टीसी, प्रवेश परीक्षा फॉर्म के नाम पर मोटी रकम वसूल किए हैं नहीं तो  परिषद बहुत जल्दी आंदोलन करने को बाध्य होगा, जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी।

योगी सरकार ने किसानों को दी रहात, अब शनिवार और रविवार खुलेंगी खाद-बीज और कीटनाशक की दुकानें

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here