कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने विधानसभा में बुनकरों के हित में उठाया सवाल, बुनकर आयोग बनाने की मांग

33
1827
.

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष व तमकुहीराज विधायक अजय कुमार लल्लू ने विधानसभा में नियम 51 के तहत बुनकरों का सवाल प्रमुखता से उठाया। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद कृषि क्षेत्र के विकास के साथ-साथ करघा उद्योग को विकसित करने, बुनकरों की आर्थिक उन्नति के लिए यूपी के कई जिलों में हथकरघा उद्योग की कई छोटी-बड़ी इकाइयां स्थापित की और उनकी बेहतरी के लिए बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराई थी, ताकि अधिक से अधिक लोगो को रोजगार उपलब्ध हो और कपड़े के क्षेत्र में देश आत्मनिर्भर बने।

विधानसभा में CM योगी ने आप सांसद संजय सिंह पर बोला हमला, नमूना बता कर उड़ा दी खिल्ली

अजय कुमार लल्लू ने कहा कि जब तक कांग्रेस की सरकार रही यह उद्योग फलता-फूलता रहा। कांग्रेस के यूपी की सत्ता से बाहर होने के बाद यह क्षेत्र नई सरकारों द्वारा लगातार उपेक्षित होता चला गया। जिसका परिणाम यह हुआ कि लगभग 80 प्रतिशत हथकरघा उद्योग बन्द हो चुके हैं। लाखों परिवारों के रोजगार छिन चुके हैं। जौनपुर, खलीलाबाद, अम्बेडकरनगर, अमरोहा, बाराबंकी, इलाहाबाद, सीतापुर आदि जनपदों में करघा उद्योग लगभग बन्द ही हो चुका है। जबकि मऊ, टाण्डा, भदोही, वाराणसी, गोरखपुर आदि जनपदों में जहां चल रहे हैं वहां भी हालत काफी दयनीय है।

POP not only Ganesh idol of clay is required | पीओपी नहीं सिर्फ  मिट्टी की गणेश प्रतिमा ही चाहिए

उन्होंने आगे कहा कि बुनकरों के लिए बुनियादी सुविधाओं का भयानक अभाव है। बुनकर करघा बेचकर पलायन कर रहे हैं। बुनकरों के हुनरमंद हाथ रिक्शा-ठेला खींचने को मजबूर हैं। अजय कुमार लल्लू ने नियम 51 के तहत सवाल उठाते हुए बुनकरों के लिए मांग की। उन्होंने कहा कि बिजली का बिल किसानों की भांति फिक्स किया जाए। प्रति लूम विद्युत दर पूर्व की तरह न्यूनतम निर्धारित किया जाए। करघा इकाइयों को अपग्रेड किया जाए। जिससे पूर्वांचल में काटन उत्पादों का निर्माण हो सके।

UP में ब्राह्मण सियासत पर पहली बार बोले सीएम योगी, राम और परशुराम में तात्विक रूप से कोई भेद नहीं | ayodhya – News in Hindi

उन्होंने मांग की कि कॉटन उद्योग के प्रोडक्शन को बढ़ावा देने के लिए पूरी तरह अनुदान देकर साइजिंग प्लान्ट लगाए जाएं। जौनपुर, मगहर, बाराबंकी, अकबरपुर, अमरोहा, मऊ, गाजीपुर के बन्द पड़े करघा मिलों को फिर से शुरू किया जाए। साथ ही साथ वाराणसी, गोरखपुर, टाण्डा, मऊ और सन्तकबीर नगर जैसे बड़े बुनकर क्षेत्रों को इण्डस्ट्रियल एरिया घोषित कर वहां बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए।

मेरठ मेडिकल कॉलेज की तीसरे फ्लोर से महीला मरीज पाइप से उतरकर हुई फरार

अजय कुमार लल्लू ने मांग की कि करघा उद्योग द्वारा उत्पादित वस्त्रों के लाभदायक मूल्य पर बिक्री के लिए पहले की तरह यूपिका हैण्डलूम कॉर्पोरेशन को संचालित किया जाए। बुनकरों को रंग, धागा आदि कच्चे माल की खरीद और उत्पाद की बिक्री पर सब्सिडी उपलब्ध कराई जाए और उनके उत्पाद के रखरखाव का समुचित प्रबंध किया जाए।

NCERT की 35 करोड़ की डुप्लीिकेट किताबें पकड़े जाने पर अखिलेश यादव ने भाजपा को सुनाई खरी-खोटी

इसी के साथ उन्होंने मांग की कि बुनकरों को तकनीकी व कौशल प्रशिक्षण देने के लिए प्रदेश में कम से कम दो सरकारी प्रशिक्षण केन्द्र खोले जाएं। बुनकर हित के लिए कांग्रेस शासन में बनाये गये राम शाह कमीशन की रिपोर्ट को लागू किया जाए। उन्होंने आगे कहा कि बुनकरों के आर्थिक और शैक्षिक पिछड़ेपन की समस्याओं को दूर करने के लिए अन्य आयोगों की भांति बुनकर आयोग का गठन किया जाए। इसी के साथ मांग की कि हथकरघा उद्योग के बेहतरी के लिए ब्याज मुक्त ऋण भी उपलब्ध कराया जाए।

बच्चों को दूध से है एलर्जी? ऐसे करें पहचान और यूं दिलाएं छुटकारा | health – News in Hindi

Authors

.

33 COMMENTS

  1. यूरिया की कालाबाजारी के खिलाफ कांग्रेस ने किया प्रदेशव्यापी धरना-प्रदर्शन - First Eye News

    […] […]

  2. Команда HYDRA-обеспечивает анонимность пользователям Гидра.На официальном сайте гидра более 3500 товаров.На зеркале hydra оплата производится Bitcoin. Ссылка на сайт hydra у нас.

    мы подготовилии для вас гидра онион тор ссылка, команда HYDRA-обеспечивает анонимность пользователям

    Ссылка на HYDRA onion в TOR, onion сайт HYDRA onion в даркнете. Hydra onion – криптомаркет нового поколения, работает на огромной территории всего бывшего Союза, на данный момент плотно “заселены” продавцами все. … Hydra onion — криптомаркет нового поколения, работает на огромной территории всего бывшего Союза, на данный момент плотно «заселены» продавцами все.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here