जम्मू कश्मीर की सभी पार्टियों ने एक सुर में कहा- धारा 370 वापस लागू हो

0
44
.

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में 5 अगस्त 2019 को धारा 370 को हटाई गई थी। और अब इसे हटाए 1 साल पूरा हो चुका है। आपको बता दें कि एक साल बाद इस मामले पर बड़ा सियासत होती देख रही है। दरअसल जम्मू-कश्मीर की सभी राजनीतिक पार्टियां एक साथ, एक सुर में कह धारा-370 वापस लागू करने की मांग कर रहीं हैं। आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर की राजनितिक पार्टियों ने शनिवार को घोषणा पत्र जारी किया जिसमें दिए गए संयुक्त बयान में धारा 370 और राज्य की पूर्व स्थिति की बहाली की मांग की गई है।

यूरिया की कालाबाजारी के खिलाफ कांग्रेस ने किया प्रदेशव्यापी धरना-प्रदर्शन

जानकारी के लिए बता दें कि घोषणा पत्र में नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारूक अब्दुल्ला, पीडीपी की महबूबा मुफ्ती, JKPCC के जीए मीर, माकपा के एमवाई तारीगामी, जेकेपीसी के सजद गनी लोन, JKANC के मुजफ्फर शाह का नाम दर्ज है। घोषणा पत्र में जारी बयान में कहा गया कि 4 अगस्त 2019 के केंद्र सरकार की घोषणा के बाद से राजनीतिक दलों ने बड़ी कठिनाई से बुनियादी स्तर की बातचीत करने की कोशिश की है। बयान में कहा गया है कि 5 अगस्त 2019 की घटना ने केंद्र सरकार और जम्मू-कश्मीर के संबंध को अप्रत्याशित रूप से बदल डाला है।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने विधानसभा में बुनकरों के हित में उठाया सवाल, बुनकर आयोग बनाने की मांग

जम्मू कश्मीक के राजनीतिक दलों का कहना है कि धारा 370 और 35 ए को रद्द कर दिया गया और राज्य को दो संघ शासित प्रदेशों में बांट दिया गया। उन्होंने कहा कि इसके संविधान को अस्वीकार्य करने का प्रयास किया गया है। जम्मू-कश्मीर के दलों ने 5 अगस्त 2019 को केंद्र के सरकार की घोषणा को असंवैधानिक करार देते हुए कहा कि यह वास्तव में जम्मू-कश्मीर के लोगों को कमजोर करने और उनकी बुनियादी पहचान को चुनौती देने वाला है।

विधानसभा में CM योगी ने आप सांसद संजय सिंह पर बोला हमला, नमूना बता कर उड़ा दी खिल्ली

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here