Suspected terrorists wanted to Lone Wolf attack and fidayeen attack in Delhi – दिल्ली में लोन वुल्फ अटैक और फिदायीन हमला करने की फिराक में था संदिग्ध आतंकी

0
35
.

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस का दावा है कि उसने दिल्ली में होने वाले एक बड़े हमले को नाकाम कर दिया. पुलिस ने एक मुठभेड़ के बाद आईएसआईएस से जुड़े एक संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार किया है, जिसके पास से 15 किलो विस्फोटक बरामद हुआ है. पकड़ा गया आतंकी लोन वुल्फ अटैक और फिदायीन हमला करने की फिराक में था. दिल्ली में दो बम फटने को बिल्कुल तैयार थे. आईईडी से जुड़े 2 प्रेशर कुकर बम बनाकर तैयार किए गए थे. दोनों बमों में कुल 15 किलो विस्फोटक था. इतना ज्यादा विस्फोटक कि उसे डिफ्यूज करने के लिए एनएसजी की टीम आई. बुद्धा जयंती पार्क में ऑटोमैटिक रोबोट मशीन के जरिए दोनों बमों को मिट्टी के ढेर में सुरक्षित ले जाया गया और फिर बमों को निष्क्रिय कर दिया गया.

यह भी पढ़ें

यह विस्फोटक दिल्ली पुलिस ने आईएसआईएस के संदिग्ध 36 साल के मोहम्मद मुस्तकीम उर्फ अब्दुल यूसुफ के पास से बरामद किए. पुलिस का दावा है कि मुस्तकीम ग़ाज़ियाबाद नम्बर की बाइक से धौलाकुंआ से रिज रोड होते हुए शुक्रवार रात करीब 11 बजे करोलबाग की तरफ जा रहा था. इसी बीच उसे बुद्धा गार्डन के पास रोका गया तो उसने फायरिंग कर दी और फिर मुठभेड़ के बाद उसे पकड़ा गया. मुस्तकीम दिल्ली में बड़े धमाके करने की फिराक में था.

पुलिस के मुताबिक मुस्तकीम यूपी के बलरामपुर का रहने वाला है. वो 2015 से सोशल मीडिया के जरिए आईएसआईएस से जुड़ा था. पुलिस की पिछले एक साल से उस पर नज़र थी. कहने को वह गांव में एक कॉस्मेटिक की दुकान चलाता है. लेकिन वह 2006 से 2010 तक उसने सऊदी अरब में नौकरी की है. इसके बाद आईएस के कमांडर यूसुफ अलहिंदी से जुड़ा रहा. यूसुफ अलहिंदी अमेरिका हमले में सीरिया में मारा गया. उसके बाद वह कमांडर अबू हुजैफा के संपर्क में आया. अबू हुजैफा भी पिछली साल अफगानिस्तान में ड्रोन हमले में मारा गया.

बलरामपुर : ISIS के संदिग्ध आतंकी के गांव पहुंची दिल्ली पुलिस, भारी संख्या में फोर्स तैनात

अब मुस्तकीम अफगानिस्तान में आईएस के नए कमांडर के संपर्क में था. इस नए कमांडर ने दिल्ली में विस्फोट करने का आदेश दिया था. ये ब्लास्ट 15 अगस्त को करना था लेकिन सुरक्षा के चलते ब्लास्ट नहीं कर पाया. अब इस ब्लास्ट के बाद मुस्तकीम को लोन वुल्फ अटैक और फिदायीन हमला करना था.

आईईडी ब्लास्ट करने के लिए मुस्तकीम ने बलरामपुर के अपने गांव बधाई शाही के क़ब्रिस्तान में एक छोटा ब्लास्ट कर ट्रायल भी किया था. उसने फिदायीन हमला करने के लिए एक सुसाइड बेल्ट भी तैयार किया था. पुलिस ने उसके गांव समेत 6 जगहों पर छापेमारी की है. पता लगाया जा रहा है कि इस साजिश में वो अकेला है या और भी लोग शामिल हैं. मुस्तकीम के परिवार में 4 बच्चे और उसकी पत्नी है. पुलिस के मुताबिक सभी के पासपोर्ट बनवा लिए गए थे.

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here