CM योगी ने एईएस जापानी इन्सेफ्लाइटिस सहित वेक्टर जनित रोगों को लेकर दिए निर्देश

0
33
.

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस वर्ष एईएस, जापानी इन्सेफ्लाइटिस सहित विभिन्न वेक्टर जनित रोगों के नियंत्रण में प्राप्त सफलता पर संतोष व्यक्त करते हुए इस कार्य को पूरी तेजी से जारी रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार संक्रामक बीमारियों के नियंत्रण एवं रोकथाम के लिए प्रतिबद्ध है। आज पूरा विश्व वैश्विक महामारी कोविड-19 से जूझ रहा है। ऐसे में हमें कोरोना से भी लड़ना है और संचारी रोगों पर भी प्रभावी अंकुश लगाना है।

सीएम योगी ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार जनता को गुणवत्तापरक चिकित्सीय सुविधाएं प्रदान करने के लिए कार्य योजना बनाकर काम कर रही है। जनजागरण और जनसहभागिता के माध्यम से जनस्वास्थ्य की गंभीर चुनौतियों पर विजय प्राप्त की जा सकती है। गत वर्ष संचारी रोगों के नियंत्रण में अच्छी सफलता मिली है। इस वर्ष संचारी रोग नियंत्रण अभियान को और अधिक तेजी प्रदान करते हुए संचालित किया गया। कोविड-19 तथा संचारी रोगों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए वर्तमान में प्रदेश के ग्रामीण व शहरी इलाकों में प्रत्येक शनिवार तथा रविवार को विशेष स्वच्छता एवं सेनिटाइजेशन अभियान संचालित किया जा रहा है।

भड़काऊ भाषण मामले में डॉ. कफील खान को नहीं मिली राहत, 27 अगस्त को होगी NSA पर सुनवाई | allahabad – News in Hindi

यह जानकारी आज यहां देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि पिछले वर्ष अगस्त माह की तुलना में इस वर्ष अगस्त माह में एईएस रोगियों तथा मृतकों की संख्या में क्रमशः 48 प्रतिशत तथा 35 प्रतिशत की कमी पाई गई है। इसके साथ ही जेई के रोगियों में 38 प्रतिशत, मलेरिया के रोगियों में 31 प्रतिशत, डेंगू के रोगियों में 23 प्रतिशत तथा कालाजार के रोगियों में 74 प्रतिशत की कमी पाई गई है।

रोग                             20 अगस्त, 2019                            20 अगस्त, 2020

ए0ई0एस0                         816 – 34                                      396 – 12

जापानी इन्सेफ्लाइटिस             50 – 4                                         19 – 2

मलेरिया                          15,101 –  0                                   4,687 – 0

डेंगू                                  135 – 2                                         32 – 0

सीएम योगी ने बताया कि वर्ष 2018 के समान वर्ष 2019 में 3 चरणों में तथा वर्ष 2020 में पुनः 2 चरणों में 1 माह का विशेष रोग संचारी नियंत्रण एवं 15 दिवसीय दस्तक अभियान सम्पादित किया गया। इसके अन्तर्गत अन्तर्विभागीय गतिविधियों, जन-जागरूकता, प्रचार-प्रसार की कार्यवाही के फलस्वरूप वर्ष 2018 की तुलना में वर्ष 2019 तथा वर्ष 2020 में प्रदेश में मस्तिष्क ज्वर (एईएस/जेई) के रोगियों एवं रोग के कारण हुई मृत्यु की संख्या में कमी आयी। वृहद जेई विशेष टीकाकरण अभियान के फलस्वरूप पुष्ट जेई रोगियों की संख्या में भी कमी आयी है।

विशेष संचारी रोग अभियान माह जुलाई, 2020 में सम्पादित गतिविधियों का विवरण देते हुए प्रवक्ता ने बताया कि सामाजिक दूरी का पालन करते हुये ग्राम प्रधानों की अध्यक्षता में 55 हजार से अधिक ग्राम सभाओं एवं 74 हजार से अधिक ग्राम स्वास्थ्य, पोषण तथा स्वच्छता समिति की बैठकें आयोजित की गईं। अभियान के दौरान 1 लाख 34 हजार से अधिक ग्रामों में खरपतवार की कटाई की गई तथा शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 2 लाख से अधिक नालियों की सफाई की गई।

कोरोना काल में समझ लें सूखी खांसी और गीली खांसी के बीच अंतर, डर होगा दूर | health – News in Hindi

शुद्ध पेयजल की उपलब्धता के दृष्टिगत 61 हजार से अधिक इण्डिया मार्का-प्प् हैण्डपम्पों एवं 28 हजार से अधिक उनके प्लेटफॉर्म की मरम्मत की गई। 1,000 से अधिक कुपोषित बच्चों को चिन्हित कर पोषण पुनर्वास केन्द्रों पर सन्दर्भित किया गया। शहरी क्षेत्रों में 8 हजार 800 से अधिक वॉर्ड में फॉगिंग कराई गई एवं पशुपालन तथा कृषि विभाग द्वारा सूकर पालकों के संवेदीकरण एवं चूहे-छछूंदरों पर नियंत्रण हेतु क्रमशः 33 हजार एवं 61 हजार से अधिक बैठकों का आयोजन किया गया। स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत 1 लाख 41 हजार से अधिक स्वच्छ शौचालयों का निर्माण कराया गया।

दस्तक अभियान माह जुलाई, 2020 की गतिविधियों की जानकारी देते हुए प्रवक्ता ने बताया कि सामाजिक दूरी का पालन करते हुये आशाओं द्वारा 20 लाख से अधिक घरों का भ्रमण किया गया। इस दौरान एईएस/जेई, वेक्टर जनित रोग एवं कोविड-19 संक्रमण से बचाव, रोकथाम एवं उपचार के सम्बन्ध में प्रचार-प्रसार किया गया। 01 लाख 77 हजार से अधिक मातृत्व बैठकों का आयोजन किया गया। एईएस रोग पर चर्चा हेतु 76 हजार से अधिक ग्रामीण स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस की बैठकों का आयोजन किया गया। स्वच्छ पेयजल के उपयोग हेतु 02 लाख 37 हजार से अधिक क्लोरिनेशन डेमो आयोजित किये गये।

CM योगी ने सिडबी के ‘स्वावलम्बन केन्द्र’ का ऑनलाइन शिलान्यास किया, अब प्रदेश में देखने को मिलेगी नई कार्य संस्कृति

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here