CM योगी ने सिडबी के ‘स्वावलम्बन केन्द्र’ का ऑनलाइन शिलान्यास किया, अब प्रदेश में देखने को मिलेगी नई कार्य संस्कृति

0
58
.

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अपने आवास पर सिडबी के ‘स्वावलम्बन केन्द्र’ का ऑनलाइन शिलान्यास किया। उन्होंने कहा कि सिडबी के नये भवन के निर्मित हो जाने से प्रदेश में MSME सेक्टर से जुड़े कार्यक्रमों को आगे बढ़ाने तथा स्टार्ट-अप की स्थापना करने में सहूलियत मिलेगी, जिससे प्रदेश के अन्दर एक नई कार्य संस्कृति देखने को मिलेगी। सीएम योगी ने ‘स्वावलम्बन केन्द्र’ का डिस्प्ले मॉडल देखकर विश्वास व्यक्त किया कि यह बिल्डिंग ग्रीन बिल्डिंग के रूप में विकसित की जाएगी, जिसमें ऊर्जा, जल, वेस्ट प्रोडक्ट की बचत के साथ-साथ जल की रीसाइकिलिंग और रीचार्जिंग की व्यवस्थाएं होंगी। ग्रीन एनर्जी को प्रोत्साहित करने और जल संरक्षण के अभियान को आगे बढ़ाने के लिए तथा MSME सेक्टर के प्रोत्साहन के लिए यहां जो व्यवस्थाएं की गयी हैं वह अत्यन्त महत्वपूर्ण और आज की आवश्यकता है।

सीएम योगी ने मथुरा में यात्री शेड के गिरने की घटना का संज्ञान लेते हुए दिए निर्दोश

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी), सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम MSME  क्षेत्र के संवर्धन, वित्त पोषण और विकास के लिए कार्य करने वाली प्रमुख वित्तीय संस्था है। सिडबी द्वारा भारत सरकार के स्टार्ट-अप फण्ड के निधि प्रबन्धन का कार्य किया जा रहा है। प्रधानमंत्री द्वारा भारत के युवाओं के अभिनव विचारों को साकार करने के लिए ‘स्टार्ट-अप इण्डिया’ ‘स्टैण्ड-अप इण्डिया’ तथा ‘मेक इन इण्डिया’ जैसे कार्यक्रमों को लगातार आगे बढ़ाने का कार्य किया जा रहा है। सीएम योगी ने कहा कि ‘स्टार्ट-अप इण्डिया’ कार्यक्रम की सफलता के लिए स्टार्ट-अप्स को आगे बढ़ाना आवश्यक है। स्टार्ट-अप के क्षेत्र में इनोवेशन का बहुत महत्व है। इनोवेशन में सकारात्मक परिवर्तन लाने की असीमित क्षमता है। नवप्रवर्तन तथा उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार राज्य के युवाओं को ‘रोजगार आकांक्षी’ के बजाए ‘रोजगार प्रदाता’ बनने हेतु प्रोत्साहित कर रही है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में स्टार्ट-अप फण्ड की स्थापना हेतु लगभग 1000 करोड़ रुपये की लागत से जो कार्यवाही प्रारम्भ हुई है, इसमें भी सिडबी ने उत्तर प्रदेश के साथ एक MoU हस्ताक्षरित किया है। इससे आत्मनिर्भर भारत तथा लोगों को स्वावलम्बी बनाने में मदद मिलेगी।

कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट के लिए 1000 केंद्र बनाए जाएंगे, 12 भाषाओं में होगी परीक्षा: केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह | भारत समाचार

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा एक अभिनव योजना ‘एक जनपद, एक उत्पाद’ ओडीओपी योजना लागू की गयी है, जो MSME सेक्टर के लिए गेम चेन्जर का काम कर रही है। वर्ष 2018 में इस योजना को प्रारम्भ किया गया था और आज भारत सरकार ने भी ओडीओपी को स्वयं के अभियान का हिस्सा बनाकर प्रत्येक राज्य को इस दिशा में कार्य करने के लिए प्रोत्साहित किया है। सीएम योगी ने कहा कि आज पूरी दुनिया वैश्विक महामारी कोविड-19 से जूझ रही है। ऐसे में स्टार्ट-अप तथा MSME क्षेत्र उम्मीद की एक नई किरण हैं। इस चुनौतीपूर्ण समय में सपनों को साकार करने तथा अर्थव्यवस्था को और अधिक सुदृढ़ करने में सिडबी की एक बहुत बड़ी भूमिका हो सकती है।

चुनाव की आड़ में कोविड संक्रमण में खुद को झोंकने को मजबूर है सहकारिता प्रत्याशी और चुनाव प्रक्रिया में लगे कर्मी-शिवपाल यादव

इसके साथ सीएम योगी ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में उत्तर प्रदेश के MSME सेक्टर बहुत बड़ी भूमिका थी। उन्होंने कहा कि देश की आजादी के समय में उत्तर प्रदेश की प्रति व्यक्ति आय को और आज की प्रति व्यक्ति की आय को राष्ट्रीय आय से जोड़कर देखते हैं, तो प्रतीत होता है कि उत्तर प्रदेश को एक बार फिर से अपनी उन जड़ों को तलाशने की आवश्यकता है। इस दृष्टि से विगत मई माह में उत्तर प्रदेश सूचना प्रौद्योगिकी एवं स्टार्ट-अप नीति के अन्तर्गत सिडबी को प्रथम किश्त के रूप में 15 करोड़ रुपये अन्तरित किए गए थे। साथ ही, ‘फण्ड ऑफ फंड्स’ की व्यवस्था हेतु शासन द्वारा सिडबी के साथ समझौता ज्ञापन का औपचारिक आदान-प्रदान भी किया गया था।

CORONA: देश में 31 लाख पार हुए कोरोना के मामले, 24 घंटे में सामने आए 61,408 नए केस

बता दें कि ‘स्वावलम्बन केन्द्र’ यहां शहीद पथ पर लगभग 01 एकड़ क्षेत्रफल में निर्मित होगा। इस भवन को ग्रीन बिल्डिंग के रूप में विकसित किया जाएगा। इसके साथ ही, इसमें सौर ऊर्जा का भी उपयोग होगा। इसमें 500 लोगों की क्षमता का मल्टी परपज़ हॉल भी होगा, जिसका कॉन्फ्रेंस और ऑडिटोरियम के रूप में उपयोग किया जा सकेगा। इसके अलावा, इसमें 50 लोगों की क्षमता के 04 मीटिंग रूम भी होंगे। इसमें लाइब्रेरी तथा अन्य आधुनिक सुविधाएं भी रहेंगी। इसमें MSME इकाइयों के लिए प्रदर्शनी स्थल की भी व्यवस्था रहेगी।

 

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here