Sonu Sood Keeps His Promise to Opens Martial Arts Training School for Warrior Aaji | पेट पालने के लिए सड़क पर करतब दिखाती नजर आईं थी 85 साल की वॉरियर दादी, सोनू सूद ने खुलवाई उनकी मार्शल आर्ट अकादमी

0
57
.

मुंबई32 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

दादी ने यह अकादमी अभिनेता सोनू सूद को समर्पित करते हुए इसे उनका नाम दिया है।

  • लॉकडाउन के बीच पुणे की सड़कों में लाठी लेकर करतब दिखाती नजर आईं थी 85 साल की शांता परिवार
  • गृह मंत्री अनिल देशमुख ने उनके घर आकर एक साड़ी और एक लाख रुपए की आर्थिक मदद दी थी

पुणे के हड़पसर में रहने वाली शांता पवार उर्फ वॉरियर दादी के लिए मार्शल आर्ट और सेल्फ-डिफेंस अकादमी खोलने के वादे को अभिनेता सोनू निगम ने पूरा कर दिया है। रविवार को दादी ने अपनी अकादमी में बच्चों और महिलाओं को ट्रेनिंग दी। जुलाई में 85 वर्षीय दादी का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ था, जिसमें वे पेट पालने के लिए सड़क पर लाठी-काठी करतब दिखाती नजर आईं थीं। इसी वीडियो को देखकर अभिनेता सोनू सूद ने उनके लिए मार्शल आर्ट अकादमी खोलने का ऐलान किया था, जिसे अब पूरा किया है।

दादी ने सोनू सूद के नाम पर खोली अकादमी
वॉरियर दादी ने सोनू सूद के लिए आभार जताया और उन्हीं के नाम पर मार्शल आर्ट्स स्कूल का नाम रख दिया है। दादी ने सूद को धन्यवाद जताते हुए कहा, ‘‘नमस्कार सोनू सूद बेटे को…मेरा जो अरमान था इस लाठी-काठी के लिए बच्चों को सिखाने का, वो पूरा हो गया है और वो अरमान मेरा सोनू सूद बेटे ने पूरा किया है।…. और उसका नाम मैं रखने वाली हूं सोनू सूद। मैं बहुत ही खुश हूं….नमस्कार करती हूं….।’’

दादी ने अपनी अकादमी में महिलाओं और बच्चों को ट्रेनिंग देना शुरू कर दिया है।

दादी ने अपनी अकादमी में महिलाओं और बच्चों को ट्रेनिंग देना शुरू कर दिया है।

मुझे लगा उन्हें एक प्लेटफॉर्म मिलना चाहिए: सोनू सूद
इससे पहले अभिनेता सोनू सूद ने कहा था,‘‘जब आप ऐसे टैलेंट को देखते हैं, आप चाहते हैं कि यह दूसरे लोगों तक भी पहुंचे। इस उम्र में वह महिला इतने लोगों को प्रेरित कर सकती है, जिसमें लोग यह कहते सुने जाते हैं कि मेरी तो उमर हो गई है, मुझे कुछ नहीं करना। मैंने सोचा कि उन्हें एक प्लेटफॉर्म मिलना चाहिए और इस टैलेंट को आगे बढ़ाने के लिए स्कूल से बेहतर क्या हो सकता है।’’

पुणे के हड़पसर में दादी इसी झोपड़ी में रहती हैं।

पुणे के हड़पसर में दादी इसी झोपड़ी में रहती हैं।

मैं चाहता था दादी के नाम पर हो स्कूल: सूद
अकादमी का नाम सोनू सूद रखे जाने पर अभिनेता ने कहा- मैं चाहता था कि स्कूल का नाम उनके (दादी) नाम पर हो, लेकिन उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि वह इसे सोनू सूद मार्शल आर्ट्स स्कूल कहेंगी। जब मैंने पहली बार उनको इसका आइडिया दिया तो वो बहुत ही उत्साहित होकर कहने लगीं कि वह हमेशा अपना एक ट्रेनिंग स्कूल खोलना चाहती थीं। इसलिए हम लोग उसका खर्च उठा रहे हैं और दादी अपने स्टूडेंट से मामूली फीस लेकर कमाई कर सकती हैं और अपनी जिंदगी गुजार सकती हैं। वह चाहती थीं कि ओपनिंग के लिए मैं जाऊं। वो मुझे बेटा कहती हैं। मैंने उनसे वीडियो कॉल से संपर्क किया था। मुझे मुंबई में बहुत सारा काम था। और खुलकर कहता हूं कि यह उनका स्कूल है और मैं उनके बड़े दिन पर पहुंचकर उनसे यह अटेंशन नहीं लेना चाहता था।

पुणे के हड़पसर आकर गृह मंत्री अनिल देशमुख ने दादी को आर्थिक मदद दी थी।

पुणे के हड़पसर आकर गृह मंत्री अनिल देशमुख ने दादी को आर्थिक मदद दी थी।

गृह मंत्री देशमुख ने साड़ी के साथ दी 1 लाख रु की आर्थिक मदद
शांता पवार का वायरल वीडियो गृह मंत्री अनिल देशमुख तक भी पहुंचा था, जिसके बाद उन्होंने पुणे आकर शांता को एक साड़ी और 1 लाख रुपए की आर्थिक मदद भी दी थी। महिला ने यहां गृह मंत्री अनिल देशमुख को कुछ करतब करके भी दिखाए। इस बारे में गृहमंत्री ने कहा था- इनका सोशल मीडिया में वायरल वीडियो मेरे पास तक पहुंचा था और मेरे मन में इनसे मिलने की इच्छा थी, इसलिए मैं आज इनसे मिलने इनके घर तक आया हूं।

रितेश देशमुख ने दादी का वीडियो शेयर कर उन्हें मदद देने की बात कही थी ..

कई लोग कर चुके हैं मदद का ऐलान
शांता बाई पवार सीता-गीता और शेरनी जैसी फिल्मों में नजर आ चुकी हैं। फिलहाल, वे पुणे के एक झोपड़ी में रहकर अपना पेट पाल रही हैं। रातों-रात वीडियो वायरल होने के बाद उन्हें बॉलीवुड समेत पुणे के पुलिस कमिश्नर से भी खूब सराहना मिली। अभिनेता रितेश देशमुख की टीम ने भी उनकी मदद की। इसके अलावा कई लोग दादी को आर्थिक मदद पहुंचा चुके हैं।

0

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here