क्‍या है ए2 घी? इसके सेवन से चुटकियों में ऐसे बूस्‍ट होती है इम्‍यूनिटी | recipe – News in Hindi

0
40
.

आयुर्वेद के अनुसार खाली पेट देसी घी का सेवन करना चाहिए क्योंकि यह कई तरह के फायदे पहुंचाता है.

घी (Ghee) भारतीयों के लिए एक सुपरफूड (Superfood) के तौर पर देखा जाता है जो लोगों को कई गंभीर और मौसमी बीमारियों से बचाने का काम करता है. साथ ही यह इम्यून सिस्टम (Immune System) को भी मजबूत करता है.

आयुर्वेद (Ayurveda) में जड़ी बूटियों की मदद से कई रोगों का इलाज (Treatment) किया जाता है. यह सदियों से शरीर के इम्यून सिस्टम (Immune System) को मजबूत बनाने में मदद करता है. ऐसे ही ए-2 घी गायों के उच्चतम गुणवत्ता वाले ए-2 दूध से बनाया जाता है. परंपरागत रूप से, घी (Ghee) पोषक तत्व-संरक्षण बिलोना मंथन प्रक्रिया के साथ तैयार किया जाता है. यही कारण है कि घी को शरीर के लिए काफी फायदेमंद और हेल्दी माना जाता है. ये भारतीयों के लिए एक सुपरफूड (Superfood) के तौर पर देखा जाता है जो लोगों को कई गंभीर और मौसमी बीमारियों से बचाने का काम करता है. साथ ही यह इम्यून सिस्टम को भी मजबूत करता है.

ए-2 घी को लेकर क्या कहता है आयुर्वेद
आयुर्वेद एक प्राचीन चिकित्सा विज्ञान है जो कई बीमारियों को दूर करने में मदद करता है. आयुर्वेद के अनुसार खाली पेट देसी घी का सेवन करना चाहिए क्योंकि यह कई तरह के फायदे पहुंचाता है. आपको बता दें कि आयुर्वेद में घी को लेकर माना जाता है कि इसका सेवन कर किसी के भी शरीर को फिर से जीवंत किया जा सकता है और यह किसी को भी हेल्दी बना सकता है. इसके साथ ही घी का नियमित रूप से सेवन करने से ये शरीर में मौजूद सभी कोशिकाओं को अच्छी तरह से स्वस्थ रखकर उन्हें सही मात्रा में पोषण देने का काम करता है.

अमीनो एसिड से भरपूरए-2 घी में काफी मात्रा में अमीनो एसिड पाया जाता है. इसके साथ ही विटामिन बी 2, बी 12, बी 6, सी, ई और के की कमी को दूर करने के लिए भी घी का सेवन किया जा सकता है. ए-2 घी में ओमेगा-3 और ओमेगा-6 फैटी-एसिड भी भारी मात्रा में मौजूद होता है. आपको बता दें कि ओमेगा-3 और 6 बढ़ते बच्चों में न्यूरोलॉजिकल समस्याओं को दूर करने के साथ साथ एडीएचडी और दूसरे व्यवहार संबंधी समस्याओं के जोखिम को कम करने के लिए जाना जाता है. इसके अलावा इसका सेवन शरीर में रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित रखने का काम भी करता है.

इसे भी पढ़ेंः खाने के साथ रोजाना खाएं ये चटनी, चुटकियों में बूस्ट होगी इम्युनिटी

मानसिक रूप से रखता है स्वस्थ
आमतौर पर लोग घी के सेवन को लेकर थोड़ा सतर्क रहते हैं. ऐसा देखा गया है कि कुछ बच्चे घी का स्वाद बिल्कुल पसंद नहीं करते. ए-2 घी मस्तिष्क के कार्यों को बढ़ाने में मदद करता है. शक्ति और सहनशक्ति में सुधार करता है,. तंत्रिका तंत्र को पोषण देता है और साथ ही आंखों और हृदय के स्वास्थ्य को भी हेल्दी बनाए रखता है. इसमें खासियत ये है कि ये सभी उम्र के लोगों के लिए फायदेमंद है खासकर बच्चों के लिए इसे ज्यादा लाभकारी माना गया है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here