Sushant Singh Rajput death case: Actor’s Family Friend Claims 5 Days After SSR’s Death Siddharth Pithani Said Her That Talking To Mumbai Police Was ‘Like Therapy | फैमिली फ्रेंड स्मिता का दावा- मुंबई पुलिस की जांच से बेहद खुश था सिद्धार्थ, कह रहा था कि उनसे बात करना थेरेपी लेना जैसा है

0
84
.

  • Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • Sushant Singh Rajput Death Case: Actor’s Family Friend Claims 5 Days After SSR’s Death Siddharth Pithani Said Her That Talking To Mumbai Police Was ‘Like Therapy

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

स्मिता के मुताबिक सिद्धार्थ पिठानी का स्टेटमेंट सुनकर वे हैरान रह गई थीं।

  • एक चैनल से बातचीत में स्मिता ने कहा कि सुशांत की मौत के पांच दिन बाद उन्होंने सिद्धार्थ से बात की थी
  • सिद्धार्थ ने स्मिता से कहा था कि उसने हैदराबाद जाने से पहले मुंबई पुलिस को 3 बार बयान दर्ज कराया था

सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लेकर एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती और प्रोड्यूसर संदीप सिंह के साथ-साथ उनके फ्लैटमेट रहे सिद्धार्थ पिठानी पर भी संदेह जताया जा रहा है। सुशांत की एक फैमिली फ्रेंड ने दावा किया कि है कि अभिनेता की मौत के 5 दिन बाद उन्होंने सिद्धार्थ पिठानी से बात की थी। इस दौरान पिठानी ने उनसे कहा था कि मुंबई पुलिस से बात करना उसके लिए थेरेपी लेने जैसा है।

रिपब्लिक भारत से बातचीत में सुशांत की फैमिली फ्रेंड स्मिता ने कहा, “सुशांत की मौत के पांच दिन बाद मेरी सिद्धार्थ पिठानी से बात हुई थी। उसने मुझसे कहा था कि अपने होमटाउन (हैदराबाद) जाने से पहले वह मुंबई पुलिस को तीन बार स्टेटमेंट दे चुका था। मुंबई पुलिस से बात करना उसके लिए राहत जैसा था। ऐसे जैसे कि वह कोई थेरेपी ले रहा हो। जैसे कि उसके सीने से बोझ हट गया हो।” स्मिता के मुताबिक, पिठानी मुंबई पुलिस के केस को हैंडल करने के तरीके से बेहद खुश था और उसकी बात सुनकर वे हैरान रह गई थीं।

सीबीआई सिद्धार्थ से तीन दिन से पूछताछ कर रही

सीबीआई को मुंबई में मामले की जांच करते हुए चार दिन बीत चुके हैं। रविवार को सिद्धार्थ पिठानी हैदराबाद से मुंबई पहुंचा और उससे पूछताछ शुरू हुई। दो दिन लगातार सवाल-जवाब के बाद तीसरे दिन यानी मंगलवार को भी सीबीआई ने उसे बुलाया है।

परिवार ने सिद्धार्थ को इंटेलिजेंट क्रिमिनल बताया था

कुछ दिन पहले सुशांत सिंह राजपूत के फैमिली वकील विकास सिंह ने मामले में सिद्धार्थ पिठानी की भूमिका बेहद संदिग्ध बताई थी और उसे इंटेलिजेंट क्रिमिनल कहा था। सिंह ने कहा था कि पिठानी पटना में रिया चक्रवर्ती के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के पहले तक अभिनेता के परिवार के संपर्क में था और उनकी मदद करने की कोशिश कर रहा था। लेकिन जैसे ही एफआईआर हुई, वह रिया की मदद करने लगा। इस दौरान उन्होंने कहा था कि अगर सिद्धार्थ को हिरासत में लेकर पूछताछ की जाए तो पूरी सच्चाई सामने आ जाएगी। सिंह ने कुछ सवाल भी उठाए थे, जो इस प्रकार हैं:-

  • सिंह की मानें तो क्राइम सीन से छेड़छाड़ की गई है। आखिर क्या वजह है कि किसी ने भी सुशांत को फंदे से लटका हुआ नहीं देखा? उनके मुताबिक, सुशांत की जितनी भी फोटो सामने आई हैं, सभी में उनका शव बिस्तर पर पड़ा हुआ है।
  • सिंह का दूसरा सवाल है कि सिद्धार्थ पिठानी ने चाबी वाले को बुलवाया था। उसने लॉक खुलवाया और पहले चाबी वाले को दरवाजे तक छुड़वाया। इसके बाद उसने सुशांत के कमरे का दरवाजा खोला। आखिर क्या वजह थी कि उसने चाबी वाले को पहले वहां से भेजना जरूरी समझा, जबकि लॉक खुलते ही सबसे पहले उसे सुशांत के कमरे में जाकर उनकी हालत देखनी चाहिए थी।
  • विकास सिंह ने यह सवाल भी उठाया था कि अगर सिद्धार्थ पिठानी ने शव को फंदे से उतारा तो उसने सुशांत की बहन मीतू के आने का इंतजार क्यों नहीं किया, जो कि वहां से 10 मिनट की दूरी पर ही रहती हैं। जबकि उसका दावा है कि जब सुशांत को फंदे से उतारा गया, तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। ऐसे में 5-10 मिनट का इंतजार किया जा सकता था।

14 जून को घर में पिठानी के अलावा तीन और लोग मौजूद थे

14 जून को सुशांत का शव बांद्रा के जिस फ्लैट में लटका मिला था, उसमें उस वक्त चार लोग थे। सिद्धार्थ पिठानी (सुशांत के फ्लैट-मेट), दीपेश सावंत (सुशांत के दोस्त), नीरज सिंह (हाउस कीपर), केशव (कुक)। नीरज ने एक बातचीत में सुशांत की मौत से पहले की कहानी सुनाई थी।उसने बताया था कि सुशांत ने सुबह नाश्ता किया था। लेकिन जब 10:00-10:30 बजे स्टाफ उनसे यह पूछने गया कि लंच में क्या बनाना है तो उन्होंने दरवाजा नहीं खोला।

करीब एक घंटे बाद सिद्धार्थ को कुछ गड़बड़ होने का संदेह हुआ। उसने मीतू को फोन कर दिया और चाबी वाले को बुलाकर लॉक खुलवाया। बताया जा रहा है कि कमरे में सबसे पहले सिद्धार्थ ही गया था और सुशांत को पंखे से लटका देख घबरा गया था। फिर उसने सुशांत को पंखे से नीचे उतारा था। इसके बाद सुशांत की बहन मीतू भी आ गईं और मुंबई पुलिस ने आकर जांच शुरू कर दी। मुंबई पुलिस भी यह बयान दे चुकी है कि उन्होंने भी सुशांत को फंदे से लटका नहीं देखा था।

सुशांत केस से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं…

1. संदेह के घेरे में सुशांत का फ्लैटमेट:जानिए कौन हैं सिद्धार्थ पिठानी जिसपर लग रहे हैं सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़े कई राज छुपाने के आरोप

2. सुशांत केस में बीजेपी सांसद का दावा:सुब्रह्मण्यम स्वामी ने पूछा- हत्या के दिन दुबई का ड्रग डीलर अयाश खान सुशांत से क्यों मिला था?

3. कंगना को सुशांत की बहन का समर्थन:फैमिली वकील ने कंगना पर लगाया था अपना एजेंडा चलाने का आरोप, सुशांत की बहन श्वेता ने उन्हें वॉरियर बताया और कहा- आप हमारी ताकत हैं

0

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here