इन नुस्खों को अपनाकर शरीर के सभी अंगों के दर्द को कर सकते हैं दूर | health – News in Hindi

0
46
.

दर्द को दूर करने के लिए एस्टेराइड युक्त दवाइयों का सेवन किडनी के लिए घातक है.

काम में अधिक व्यस्त रहने के कराण लोग (Diet) में लापरवाही करते हैं, जिसके चलते शरीर (Body) के कई अंग कमजोर होने लगते हैं और उनमें दर्द (Pain) होने लगता है. आज हम इस समस्या से बचने का उपाय बता रहे हैं.




  • Last Updated:
    August 26, 2020, 6:53 AM IST

काम में अधिक व्यस्तता के कारण लोग खानपान (Diet) में लापरवाही करते हैं, जिसके चलते अधिकतर लोग अपने शरीर (Body) से खिलवाड़ कर बैठते हैं. शुरुआत में तो इसका पता नहीं चलता, लेकिन धीरे- धीरे यह शरीर में समस्याएं (Problems) बढ़ने लगती हैं. शरीर के अलग-अलग अंग दर्द करने लगते हैं. ऐसे में शरीर में दर्द (Pain) को शुरुआती दौर में ही यदि नहीं रोका गया तो यह आगे चलकर ज्यादा दिक्कत देने लगता है. कई बार लोग दर्द को दूर करने के लिए एस्टेराइड युक्त दवाइयों का सेवन शुरू कर देते हैं, जो कुछ सालों बाद किडनी (Kidney) में परेशानी या पथरी जैसी समस्या के रूप में सामने आते हैं. यदि शरीर के किसी भी अंग में दर्द या परेशानी हो रही है तो दवा लेने के बजाय घर पर ही कुछ सामान्य नुस्खों और व्यायाम को आजमाया जा सकता है…

पीठ में दर्द
आजकल ज्यादातर लोग ऑफिस में लंबे समय तक बैठकर काम करते हैं. इसके कारण 10 में से 6 लोग पीठ या कमर दर्द की शिकायत से पीड़ित हैं. कई बार पीठ दर्द की समस्या सोने के गलत तरीकों के कारण भी होती है. पीठ के बीच वाले हिस्से में दर्द बहुत ही कष्टदायक होता है. जब भी पीठ दर्द हो तो सीधे हाथ को उल्टे कंधे पर और उल्टे हाथ को सीधे कंधे पर कुछ समय के लिए रखें और इतनी गहरी सांस लें कि पीठ तक महसूस हो, यह प्रक्रिया दो से चार बार दोहराएं आराम मिलेगा. myUpchar से जुड़े एम्स के डॉ. केएम नाधीर बताते हैं कि यदि पीठ दर्द महसूस हो रहा है तो सबसे जरूरी है कि अपनी गतिविधियों को सीमित न रखें.

हाथ और कलाई में दर्दलगातार मोबाइल या कंप्यूटर चलाने से हाथ में दर्द होने लगता है. ऐसा होने पर दोनों हाथों की कलाई को क्लॉक वाइज और एंटी क्लॉक वाइज दिन में आठ से 10 बार दो-दो मिनट के लिए घुमाएं. इससे हाथ की मांसपेशियां लचीली हो जाती हैं और हाथों में रक्त संचार सुचारू रूप से चलने लगता है और दर्द दूर हो जाता है.

घुटने का दर्द
एक उम्र के बाद लोगों में घुटने का दर्द होना एक आम समस्या है, लेकिन इन दिनों युवाओं में भी यह समस्या देखने को मिल रही है, क्योंकि कम्प्यूटर पर कार्य करने के दौरान वे लंबे समय तक एक ही अवस्था में बैठे रहते हैं. जब भी घुटने में दर्द हो तो ध्यान रहे कि कुर्सी पर अपने पैरों की स्थिति बार-बार बदलते रहें. कमर व पीठ को भी सीधा रखें और पैर सीधे रखकर नीचे जमीन पर टिकाकर रखें. लगातार काम करने के बजाय 10 से 15 मिनट के बाद थोड़ा टहलकर आ जाएं.

कंधों और गर्दन में दर्द
झुककर लगातार कम्प्यूटर पर काम करने के कारण गर्दन ओर कंधों में दर्द होता है. कई बार तनाव ज्यादा होने के कारण भी कंधे दर्द करते हैं, लेकिन कुछ छोटे-छोटे व्यायामों के द्वारा इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है. कंधों को कानों की तरफ सिकोड़कर गहरी सांस लें, फिर वापस सामान्य अवस्था में आ जाएं, यह प्रक्रिया 10 बार करने से दर्द दूर होता है.

इन बातों का भी रखें ध्यान

  • myUpchar से जुड़े एम्स के डॉ. केएम नाधीर के अनुसार, दर्द के बहुत गंभीर होने का इंतजार न करें. समय रहते इलाज शुरू करवाएं.
  • लगातार कम्प्यूटर और मोबाइल के उपयोग से बचना चाहिए.
  • सोने की मुद्रा को लेकर भी सावधानी रखनी चाहिए। कई बार गलत तरीके से सोने के कारण भी शरीर में दर्द होने लगता है.
  • पोषक तत्वों से भरपूर आहार लेने के साथ ही नियमित व्यायाम करने से भी शारीरिक दर्द कम हो जाता है. इसके अतिरिक्त तनाव मुक्त रहना चाहिए.

अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, कमर दर्द के प्रकार, कारण, बचाव, जोखिम, परहेज, इलाज और दवा पढ़ें।

न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here