राजस्व मंत्री बालासाहेब थोरात: हां! विधायकों में नाराजगी है, लेकिन सरकार को खतरा नहीं है: थोरात – yes! resentment among mlas, but not a threat to government: thorat

0
40
.
मुंबई
महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कांग्रेस विधायक दल के नेता और राज्य के राजस्व मंत्री बालासाहेब थोरात में यह स्वीकार किया है कि महाविकास आघाडी सरकार के कामकाज को लेकर कांग्रेस के विधायकों में नाराजगी है। उन्होंने यह भी कहा है कि विधायक एकजुट हैं और सरकार को कोई खतरा नहीं है।

कांग्रेस के 11 विधायकों की नाराजगी सामने आने के बाद थोरात ने यह बात कही। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस ने एक साथ आकर महाविकास आघाडी की सरकार बनाई है। तीन दलों की सरकार से यह अपेक्षित है कि सभी को समान अवसर मिलना चाहिए। तथ्य यह है कि कुछ घटनाएं हुई हैं और मुख्यमंत्री ने खुद मुझसे स्थिति को सुधारने का भरोसा दिलाया है। थोरात ने कहा, हम विधायकों से इस संबंध में बात करके उन्हें संतुष्ट करेंगे।

थोरात ने कहा, तीनों दलों के मिलाकर 171 विधायक हैं। मौजूदा स्थिति में, सभी को अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में काम करने की आवश्यकता है। यह हमारी सरकार की जिम्मेदारी है कि वह जाने कि विधायकों को क्या चाहिए और उनकी मदद करनी चाहिए। उन्होंने स्वीकार किया कि विधायकों को अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्र में विकास कामों के लिए अधिक से अधिक फंड की जरूरत होती है।

कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव ने महाराष्ट्र कांग्रेस में दो धड़े बनते दिखे। मंत्री विजय वडेट्टीवार और सुनील केदार की काफी तीखी प्रतिक्रियाएं सामने आईं। मंत्री सुनील केदार ने तो पार्टी के वरिष्ठ नेता पृथ्वीराज चव्हाण, मुकुल वासनिक और मिलिंद देवड़ा को महाराष्ट्र में घूमने न देने की धमकी तक दे डाली है। इससे महाराष्ट्र कांग्रेस में विवाद खड़ा हो गया। लेकिन, थोरात ने कहा कि हमारी पार्टी में कुछ नेताओं की नाराजगी और गठबंधन सरकार से कोई लेना-देना नहीं है।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here