Actress Anushka Sharma said – Industry will tackle the challenge of shooting in the current environment, but mental peace is most important | एक्ट्रेस अनुष्‍का शर्मा ने कहा- मौजूदा माहौल में शूटिंग करने की चुनौती से निपट लेगी इंडस्‍ट्री, लेकिन मानसिक शांति सबसे ज्यादा जरूरी है

0
161
.

  • Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • Actress Anushka Sharma Said Industry Will Tackle The Challenge Of Shooting In The Current Environment, But Mental Peace Is Most Important

अमित कर्ण, मुंबई34 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अनुष्का शर्मा कोरोना महामारी के बाद हिंदी फिल्म उद्योग को वापस पटरी पर लौटते हुए देखना चाहती हैं। वेब सीरीज ‘पाताल लोक’ और ‘बुलबुल’ की सफलता के बाद अफवाहें तेज हैं कि अनुष्‍का जल्‍द ही वापसी कर सकती हैं। अनुष्का को यकीन है कि बॉलीवुड मौजूदा माहौल में आ रही चुनौतियों का सामना भी बेहतर तरीके से कर लेगा।

अनुष्का कहतीं हैं, ‘हमारी इंडस्ट्री कलाकारों और क्रू मेंबर्स की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सावधानी बरतने के मामले में काफी सक्षम है। आगे चलकर सेट पर माहौल निश्चित रूप से अलग होगा, लेकिन हम सभी को इन परिवर्तनों को अपनाने की जरूरत है, क्योंकि हम जानते हैं कि यह सभी के लिए ये अच्छा है। हम इस महामारी के दौरान सतर्क रहकर एक-दूसरे पर अहसान करते हैं।’

महामारी ने अनुष्का को गहन आत्मविश्लेषण वाली स्थिति में ला दिया है। वे कहती हैं, ‘ऐसे समय में जीना ही एकमात्र ऐसी चीज है जो अब मेरे लिए मायने रखती है। यह मुझे शांत महसूस कराती है। जिस वक्त मैं भविष्य की योजना बनाना या सोचना शुरू करती हूं, मुझे खुद को वर्तमान में लाना पड़ता है। इस स्थिति के मुताबिक मुझे उससे निपटना पड़ता है।’

अपनी शादी के बाद से काम को सही करने की कोशिश कर रहीं अनुष्का ने तीन साल बाद क्वालिटी वर्क बैलेंस को हासिल कर लिया है। जिससे वे बेहद खुश और संतुष्ट हैं। अपने अभिनय और प्रोडक्शन करियर पर गहराई से फोकस करते रहने के साथ ही, उन्हें लगता है कि उन्होंने अपने व्यक्तिगत जीवन पर भी ध्यान देना सीख लिया है।

उन्हें लगता है कि आज मानसिक शांति का काफी महत्व है। वे कहतीं हैं, ‘मैं पिछले तीन सालों में काफी आत्मविश्लेषक रही हूं। मैं यह नहीं सोचना चाहती कि मैंने जीवन में जो हासिल किया है, उसकी ही एकमात्र वैल्यू है। मन की शांति मेरी प्राथमिकता है और मुझे खुशी है कि मैं जजमेंटल होने की बजाय ज्यादा सहानुभूतिशील बन गई हूं।’

0

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here