GSI ने किया बड़ा खुलासा, टनों में नहीं सिर्फ 800 किलो Gold है यूपी में | sonbhadra – News in Hindi

0
49
.

सोनभद्र में लाखों टन स्वर्ण अयस्क निकलने की बात सामने आई है.

सोने की मात्रा सैकड़ों किलो में है. अगर टन की बात करें तो वो स्वर्ण अयस्क (Gold Ore) है. इसके अंदर से प्रोसेस करने के बाद सोना निकाला जाता है.

नई दिल्ली. लोकसभा (Loksabha) में एक सवाल के जवाब में जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (GSI) ने यूपी (UP) के सोनभद्र में मिले सोने के बारे में एक बड़ा खुलासा किया है. जीएसआई के मुताबिक सोनभद्र (Sonbhadra) में हजारों टन सोना नहीं मिला है. सोने की मात्रा सैकड़ों किलो में है. अगर टन की बात करें तो वो स्वर्ण अयस्क (Gold Ore) है. इसके अंदर से प्रोसेस करने के बाद सोना निकाला जाता है. लेकिन इससे पहले अयस्क की जांच की जाती है कि प्रति टन में कितने किलो या कितने ग्राम सोना (Gold) निकलेगा. प्रोसेस पर आने वाली लागत और सोने की लागत में मुनाफे वाला फर्क होने के बाद ही सोना निकालने के लिए आगे बढ़ा जाता है.

22 लाख टन ‘गोल्ड ओर’ में से निकलेगा 800 Kg सोना
जीएसआई के मुताबिक सोनभद्र की सोन पहाड़ी और हर्दी इलाके में करीब 52 हज़ार टन और 21.53 लाख टन स्वर्ण अयस्क (गोल्ड ओर) मिलने का अनुमान है. जब इस स्वर्ण अयस्क की जांच की गई तो सोन पहाड़ी पर मिलने वाले स्वर्ण अयस्क में से करीब 150 किलो और हर्दी इलाके में मिलने वाले स्वर्ण अयस्क में से करीब 650 किलो सोना निकलने की उम्मीद है. इस हिसाब से सोनभद्र में कुल मिलाकर 800 किलो से ज़्यादा सोना नहीं निकलेगा.

ये भी पढ़ें :- नरेंद्र मोदी सरकार की मदद से IAS-IPS अफसर बने 22 अल्पसंख्यक18 मी. गहरी और एक किमी लंबी है गोल्ड ओर की चट्टान
सोनभद्र में सोने की खोज पर काम करने वाले अधिकारी डॉ. पृथ्वी मिश्रा ने ही इसका खुलासा किया था  यहां सोने की बड़ी चट्टान है. यह चट्टान एक किमी से ज्यादा लंबी और 18 मीटर गहरी है. इस चट्टान की चौड़ाई 15.15 मीटर है. हालांकि 2011 में यूपी के यह अधिकारी रिटायर्ड हो चुके हैं. इनका कहना था कि पास ही पास सोने का यह भंडार दो हिस्सों में बंटा हुआ है. सूत्रों के मुताबिक वर्ष 2005 से जीएसआई की टीम भी सोने की तलाश का काम कर रही थी. अध्ययन करके सोनभद्र में सोना होने के बारे में टीम ने बताया था और इस बात की पुष्टि भी 2012 में कर दी थी.

ये भी पढ़ें :- लॉकडाउन में Taj Mahal और उसके आसपास क्यों बढ़ रहा सांप-अजगर का कुनबा? जानें क्‍या कहते हैं विशेषज्ञ

सोना ही नहीं सोनभद्र में यह भी मिला है
सोने के साथ-साथ सोनभद्र के फुलवार इलाके में दो जगह सलैयाडीह क्षेत्र में एडालुसाइट, पटवध क्षेत्र में पोटाश, भरहरी में लौह अयस्क और छपिया ब्लाक में सिलीमैनाइट के भंडार की भी खोज की गई है. इतना ही नही जानकारों के अनुसार सोनभद्र जिले में यूरेनियम का भी भंडार होने की चर्चा चली थी. कहा जाता है इसकी तलाश में केंद्रीय और अन्य टीम लगी हुई हैं.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here