…जब दंगाई के सामने ठांय-ठांय करती रह गई बाराबंकी पुलिस, Video Viral | barabanki – News in Hindi

0
49
.

…जब दंगाई के सामने ठांय-ठांय करती रह गई बाराबंकी पुलिस

बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक (SP) डॉ. अरविंद चतुर्वेदी ने बताया कि जब किसी विरोध प्रदर्शन में भीड़ उग्र हो जाती है तो वहां हमें संयमित बल का प्रयोग करना पड़ता है.

बाराबंकी. यूपी के बाराबंकी (Barabanki) जिले में शुक्रवार को बेहद चौंका देने वाली तस्वीर सामने आई हैं. बाराबंकी में आगामी त्योहारों के मद्देनजर पुलिस मॉक ड्रिल और दंगा नियंत्रण के लिए बलवा ड्रिल का अभ्यास कर रही थी. अलग-अलग तरह की गोलियां चलाने के लिए पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा था. इस दौरान मॉक ड्रिल में शामिल होने के लिए जिले भर के पुलिस कर्मियों और प्रशासनिक अधिकारियों को बुलाया गया था. कतार में चार पुलिसकर्मी अपनी-अपनी बंदूकें लेकर फायर करने की तैयारी में थे.

पहले और तीसरे पुलिसकर्मी ने फायर किया तो गोली ठीक निकली और दोनों ने राहत की सांस ली. लेकिन जब दूसरे और चौथे पुलिसकर्मी ने रबर बुलेट फायर की तो दोनों की फायर पहली बार मिस हुई.
बाराबंकी पुलिस के लिए मुश्किल उस वक्त खड़ी हो गई जब तमाम कोशिशों के बावजूद रबर बुलेट की गोली दोबरा में भी फायर ही नहीं हुई और यह पूरी घटना मीडिया के कैमरे में कैद हो गई. जिसके चलते बाराबंकी पुलिस का यह मॉक ड्रिल कार्यक्रम चर्चा का विषय बन गया.

ये भी पढे़ं- Honour Killing : महिला आरक्षी के सामने बाप, भाई और मामा ने काट डाला उसके पति कोसवाल उठ रहे हैं कि अगर पुलिस को किसी विरोध प्रदर्शन के दौरान यही आंसू गैस का गोला चलाना पड़ता तो क्या होता. वहीं बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक डॉ. अरविंद चतुर्वेदी ने बताया कि जब किसी विरोध प्रदर्शन में भीड़ उग्र हो जाती है तो वहां हमें संयमित बल का प्रयोग करना पड़ता है. हमारे पास लाठी के अलावा कुछ और उपकरण भी होते हैं. जिनसे हम भीड़ पर काबू पा सकते हैं. आज उसी की प्रक्टिस हो रही थी, जिसमें जिले के सभी आलाधिकारी मौजूद रहे. जबकि बाराबंकी के जिलाधिकारी डॉ. आदर्श सिंह ने बताया कि किसी भी विपरीत परिस्थिति से निपटने के लिए हम लोगों ने मॉक ड्रिल की, जिसमें पुलिस-प्रशासन के आलाधिकारी भी मौजूद रहे.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here