Prayagraj Coronavirus Cases Today Update | 98 People Found Infected In Two Days, prisoners will be quarantined inside Naini Central Jail | अब नैनी सेंट्रल जेल के अंदर ही क्वारैंटाइन किए जाएंगे कोरोना संक्रमित कैदी, दो दिन में ही मिले 98 पॉजिटिव

0
112
.

  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj Coronavirus Cases Today Update | 98 People Found Infected In Two Days, Prisoners Will Be Quarantined Inside Naini Central Jail

प्रयागराज5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

इलाहाबाद के नैनी सेंट्रल जेल के कैदियों के लिए अब जेल के भीतर ही क्वारैंटाइन सेंटर बनाने की व्यवस्था हो गई है। इसकी जानकारी जेल प्रशासन की तरफ से दी गई है।

  • जेल परिसर के खाली अहाते में बनाया गया क्वारैंटाइन सेंटर, नियुक्त हुए चिकित्सक
  • सात दिन में 1712 कैदियों की हुई जांच में 142 कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में सेंट्रल जेल नैनी के अंदर हर दिन फूट रहे कोरोना बम को देखते हुए संक्रमित कैदियों के लिए जेल के अंदर ही एक अलग से कोविड 19 क्वारैंटाइन सेंटर बना दिया गया है। इसमें जिले के मुख्य चिकित्साधिकारी की तरफ से चिकित्सक, वार्ड ब्वाय आदि की नियुक्ति कर दी गई है और जरूरी दवाएं एवं किट भी वहां पर उपलब्ध करा दी गई है।

नैनी सेंट्रल में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। बीते एक हफ्ते से सर्किल चार के कैदियों की कोरोना जांच कराई जा रही है। जिसके तहत अभी तक कुल 1712 कैदियों की कोरोना संक्रमण की जांच हुई। जिनमें से 142 कोरोना संक्रमित मिले हैं। आज 397 कैदियों की जांच कराई गई। जिनमें 58 कैदी कोरोना संक्रमित मिले। गत दिवस 40 कोरोना संक्रमित कैदी जेल में पाए गए थे। इनमें से 30 कैदी ज्यादा बीमार हैं।

इतने व्यापक पैमाने पर कैदियों के संक्रमित होने से जेल प्रशासन परेशान हो गया था। सबसे ज्यादा कैदियों की सुरक्षा का मामला सामने आ रहा था। जिसको लेकर जिलाधिकारी को सारी समस्या से जेल प्रशासन ने अवगत कराया। अभी तो सिर्फ एक सर्किल के कैदियों की ही जांच चल रही है। जिसमें से अभी 100 कैदियों की जांच होना बाकी है। पूरी जेल के करीब 4200 कैदियों की जांच कराई जानी है।

सुरक्षा को देखते हुए डीएम के निर्देश पर उठाया गया कदम
कोरोना संक्रमित कैदियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित जेल प्रशासन ने जिलाधिकारी को इसके बारे में अवगत कराया। उसके बाद सीएमओ के साथ बैठक करके जिलाधिकारी ने वरिष्ठ जेल अधीक्षक पीएन पांडेय को जेल के अंदर ही कोविड 19 का स्थान तय करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी का आदेश मिलने पर जेल प्रशासन ने जेल के अंदर ही एक खाली पड़े अहाते को साफ सुथरा करके कोरोना संक्रमित कैदियों को वहीं पर शिफ्ट कर दिया। वहां उनके रहने, खाने, पहनने और सोने की व्यवस्था कर दी गई है।

चार चिकित्सक व छह वार्ड ब्वाय करेंगे संक्रमितों की देखभाल
वरिष्ठ जेल अधीक्षक पीएन पांडेय ने बताया कि जितने भी कैदी कोरोना संक्रमित मिलेंगे उन्हें जेल के अंदर ही बने कोविड सेंटर में क्वारंटीन किया जाएगा। सीएमओ की तरफ से दो चिकित्सकों और छह वार्ड ब्वाय की यहां पर अलग से तैनाती की गई है, जबकि दो चिकित्सक यहां पहले से तैनात थे। इस हिसाब से चार चिकित्सक यहां पर कोरोना संक्रमितों का इलाज करेंगे।

खाने के बर्तन से लेकर कपड़े तक किए गए अलग
कोरोना संक्रमित कैदियों के रहने के लिए जो क्वारैंटाइन सेंटर जेल के अंदर बनाया गया है। वहां उनके खाने के लिए अलग से बर्तन भी रखवाए गए हैं। जेल प्रशासन की ओर से बताया गया कि संक्रमितों को निर्धारित समय पर काढ़ा, इम्युनिटी बढ़ाने वाला भोजन ‌दिया जाएगा, साथ में योगाभ्यास भी कराया जाएगा। उनके कपड़े, बर्तन और सोने की व्यवस्था सबकुछ मुख्य जेल से एकदम अलग कर दी गई है।

0

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here