Yogi Adityanath Gorakhpur Latest News Updates: UP Chief Minister Yogi Adityanath In Gorakhpur Uttar Pradesh | भाजपा पदाधिकारियों की मीटिंग में छाया रहा खेमेबाजी का मुद्दा; नगर विधायक बोले- सांसद से विवाद नहीं संवाद था

0
45
.

गोरखपुर15 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।

  • मुख्यमंत्री योगी ने रविवार को गोरखपुर में बैठक की
  • पदाधिकारियों को खेमेबाजी से दूर रहकर गोरखपुर की छवि सुधारने का दिया निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को दो दिवसीय दौरे पर अपने गृह जनपद गोरखपुर पहुंचे। यहां उन्होंने एनेक्सी भवन में भाजपा विधायक, सांसदों और अन्य पदाधिकारियों के साथ बैठक की। हालांकि पीडब्ल्यूडी के सहायक अभियंता को लेकर नगर विधायक डॉक्टर राधा मोहन दास अग्रवाल व अन्य विधायकों, सांसद रवि किशन के बीच छिड़े संग्राम पर कोई बात नहीं हुई। लेकिन इशारों में मुख्यमंत्री योगी ने सभी को एक बनकर रहने और गोरखपुर की छवि को सुधारने का निर्देश दिया।

खेमेबाजी का मुद्दा छाया रहा मगर सीएम रहे चुप

बैठक में भाजपा पदाधिकारियों के बीच चल रही खेमेबाजी का मुद्दा छाया रहा। लेकिन मुख्यमंत्री योगी ने किसी बात पर कोई टिप्पणी नहीं की। उन्होंने कोरोनावायरस और इंसेफेलाइटिस को लेकर विधायकों और सांसदों को अभियान चलाकर जागरुकता फैलाने की बात कही। सांसद रवि किशन और विधायक राधा मोहन दास अग्रवाल दोनों ने संतुष्टि जाहिर करते हुए कहा कि उनके मुद्दे पर भी मुख्यमंत्री ने उनसे बात की है और सभी से एक साथ मिलजुल कर काम करने के निर्देश दिए हैं।

नगर विधायक बोले- विवाद नहीं संवाद था

बैठक के बाद बाहर निकले विधायक राधा मोहन दास अग्रवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री ने गोरखपुर की जल निकासी की समस्या पर विशेष ध्यान दिया। इस दौरान उनके हालिया प्रकरणों को लेकर विधायक और सांसद के बीच हुए विवाद पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि, यह विवाद नहीं संवाद था और लोकतंत्र में सबको अपनी बात रखने का अधिकार है।

इंजीनियर की पैरवी से सामने आई थी पार्टी की कलह

दरअसल, गोरखपुर शहर में देवरिया रोड पर सड़क निर्माण से उत्तर की ओर बसी कॉलोनियों में जलभराव के मामले में विधायक डॉक्टर राधा मोहन दास अग्रवाल ने लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता केके सिंह को हटाए जाने की उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य से पैरवी की थी। इसके बाद अभियंता को लखनऊ मुख्यालय अटैच किया गया है। लेकिन गोरखपुर ग्रामीण विधायक विपिन सिंह, पिपराइच विधायक महेंद्र पाल सिंह, कैंपियरगंज विधायक फतेह बहादुर सिंह और सहजनवां विधायक शीतल पांडेय ने मौर्य को पत्र लिखकर अभियंता को न हटाए जाने के लिए पत्र लिखा है। सांसद रवि किशन भी नगर विधायक के विरोध में खुलकर सामने आ गए थे। उन्होंने विधायक अग्रवाल से उनका इस्तीफा मांग लिया था।

0

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here