UP man allegedly dies in police custodial death in rae bareily police denies torture – यूपी : 19 साल के शख्स की पुलिस हिरासत में मौत, अवैध रूप से हिरासत में लेने का आरोप

0
34
.

रायबरेली पुलिस पर पांच लोगों को अवैध रूप से हिरासत में रखने का आरोप, एक की मौत.

रायबरेली:

उत्तर प्रदेश के रायबरेली में एक शख्स की कथित रूप से पुलिस हिरासत में मौत होने की खबर आई है. जानकारी है कि 19 साल के इस शख्स की रविवार की सुबह पुलिस कस्टडी में मौत हो गई. परिवार की ओर से विरोध-प्रदर्शन किए जाने और प्रताड़ना का आरोप लगाए जाने के बाद स्थानीय पुलिस थाने के प्रभारी को रविवार को निलंबित कर दिया गया था. हालांकि, पुलिस का कहना है कि हिरासत में लिए गए शख्स पर एक बाइक चुराने के आरोप में हिरासत में लिए गए इस शख्स में पहले ही न्यूमोनिया, सांस लेने में परेशानी जैसे लक्षण दिख रहे थे, जिन्हें कोरोनावायरस से जोड़कर देखा जा रहा है.

यह भी पढ़ें

19 साल से मोनू उर्फ मोहित को शुक्रवार को लखनऊ से 80 किलोमीटर दूर रायबरेली के लालगंज इलाके से गिरफ्तार किया गया था. उसपर मोटरसाइकिल चोरी में शामिल एक गैंग से कथित रूप से संबंध रखने के आरोप थे. मोहित दलित परिवार से संबंध रखता था. इसके पहले चोरी के मामले में चार अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया गया था. 

इन पांचों व्यक्तियों को अवैध रूप से पुलिस स्टेशन में 24 घंटों से ज्यादा वक्त तक हिरासत में रखा गया था. मोनू के परिवार का आरोप है कि उसे पुलिस हिरासत में यातनाएं दी गई थीं. उसके परिवार और स्थानीय लोगों ने उसकी मौत की खबर आने के बाद पुलिस थाने के सामने विरोध-प्रदर्शन किया था.

मोनू के भाई सोनू ने बताया, ‘उन्होंने (पुलिस) मुझे और मेरे भाई को उठाया था. वो लोग उससे पूछते रहे कि चाभी कहां है. उन्होंने थाने में मोहित को बुरी तरह मारा था.’ सोनू को भी मोनू के साथ हिरासत में लिया गया था, लेकिन उसे बाद में छोड़ दिया गया. 

पुलिस ने मोनू को प्रताड़ना देने वाले आरोपों से इनकार करते हुए दावा किया है कि उसकी मौत जिला अस्पताल में हुई है, हालांकिस वो उस वक्त उनकी हिरासत में ही था. उनका दावा है कि उसमें कोरोनावायरस होने जैसे लक्षण थे. रायबरेली के पुलिस चीफ स्वप्निल ममगैन का कहना है, ‘शनिवार की शाम को मोनू ने पेट दर्द की शिकायत की, तब उसे पास के डॉक्टर के पास ले जाया गया और उसे दवाइयां दी गईं. रविवार की सुबह वो फिर बीमार पड़ गया, फिर उसे तुरंत जिला अस्पताल ले जाया गया. यहां डॉक्टरों ने बताया कि उसमें न्यूमोनिया के लक्षण थे और ऑक्सीजन लेवल गिर गया था- उसे कोई शारीरिक चोट नहीं थी. सुबह 11 बजे के आसपास उसकी मौत हो गई. हम पोस्टमार्टम की वीडियो रिकॉर्डिंग करा रहे हैं. परिवार ने दो पुलिसकर्मियों के खिलाफ शिकायत दी है, उनकी जांच कराई जा रही है.’

हालांकि, वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने यह जरूर माना है कि उन्हें अवैध रूप से हिरासत में रखा गया था. ममगैन ने कहा, ‘पहली जांच में पता चला है कि आरोपियों को अवैध रूप से 24 घंटों से ज्यादा वक्त तक हिरासत में रखा गया था. इसके लिए हमने थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया है क्योंकि उन्हें आरोपियों को दो दिनों से ज्यादा वक्त तक अवैध रूप से हिरासत में नहीं रखना चाहिए था.’

Video: रायबरेली में हिरासत में लिए गए युवक की मौत पर हंगामा

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here