अमर सिंह के निधन से खाली राज्यसभा सीट के लिए मैदान में BJP के दो उम्मीदवार, कौन लेगा नाम वापस? | lucknow – News in Hindi

0
49
.

अमर सिंह के निधन से खाली हुई राज्यसभा सीट के लिए बीजेपी के दो नेताओं ने नामांकन भरा है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

बीजेपी के घोषित प्रत्याशी जफर इस्लाम (Zafar Islam) के नामांकन के बाद मंगलवार को यूपी बीजेपी के महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ला (Govind Narayan Shukla) ने दो सेट मे अपना नामांकन पत्र दाखिल किया. चार सितंबर को नाम वापसी की तिथि है लिहाजा इस दिन दोनों में से किसी एक को नाम वापस लेना होगा


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 1, 2020, 11:22 PM IST

लखनऊ. अमर सिंह (Amar Singh) के निधन से खाली हुई राज्यसभा सीट (Rajya Sabha Seat) के लिए बीजेपी (BJP) ने अपनी रणनीति मे बदलाव किया है. नामांकन दाखिल करने के अंतिम दिन पार्टी ने एक और नामांकन करवाया है. उत्तर प्रदेश बीजेपी के महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ला (Govind Narayan Shukla) ने घोषित प्रत्याशी जफर इस्लाम (Zafar Islam) के नामांकन के बाद अंतिम दिन दो सेट मे अपना नामांकन पत्र दाखिल किया. मंगलवार को नामांकन (Nomination) की अंतिम तिथि थी. जबकि चार सितंबर को नाम वापसी की तिथि है. इस दिन दोनों में से किसी एक व्यक्ति को नाम वापस लेना होगा.

गोविंद नारायण शुक्ला पार्टी के पुराने कार्यकर्ता हैं, जो अभी संगठन में महामंत्री हैं. वो अमेठी से आते हैं, जहां पूर्व में राहुल गांधी सांसद होते थे. माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण पॉलिटिक्स को देखते हुए पार्टी पशोपेश में है. इसलिए अंतिम दिन गोविंद नारायण शुक्ला का नामांकन कराया गया. बिहार विधानसभा चुनाव और जफर इस्लाम के काम करने के तरीके को देखते हुए बीजेपी ने उन्हें अपना घोषित प्रत्याशी बनाया है.

यूपी बीजेपी के महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ला ने मंगलवार को दो सेट में राज्यसभा चुनाव के लिए अपना नामांकन दाखिल किया (फाइल फोटो)

बीजेपी के घोषित प्रत्याशी हैं जफर इस्लामजफर इस्लाम द्वारा 29 अगस्त को नामांकन दाखिल किया गया था. लेकिन वो स्वास्थ्य कारणों से अपना नामांकन दाखिल करने लखनऊ नहीं आ सके थे. इस दौरान उनके प्रतिनिधि के रूप में संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने नामांकन दाखिल किया था. चार सितंबर को नाम वापसी की तारीख है इसलिए दोनों में से किसी एक नेता को अपना नाम वापस लेना होगा.

जफर इस्लाम बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और मीडिया के लिए जाना-माना चेहरा हैं. इसी साल मार्च में उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया को कांग्रेस से बीजेपी में सुगमता से शामिल करवाया था. राजनीति में आने से पहले जफर इस्लाम एक विदेशी बैंक के लिए काम करते थे. सात साल पहले वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से प्रभावित होकर बीजेपी में शामिल हुए थे. बाद में पार्टी द्वारा उन्हें अपना राष्ट्रीय प्रवक्ता पद का प्रभार सौंपा गया. जफर इस्लाम स्वभाव से मृदुभाषी हैं और उनका पीएम मोदी के साथ भी अच्छा संबंध बताया जाता है. जफर इस्लाम बीजेपी का मुखर और उदारवादी मुस्लिम चेहरा बनकर उभरे हैं. सोशल मीडिया में भी वो काफी एक्टिव रहते हैं. टीवी न्यूज चैनलों की डिबेट में भी नजर आते हैं.

मंगलवार को अंतिम तिथि को दो नामांकन हुए- गोविंद नारायण शुक्ला के अलावा निर्दलीय महेशचंद्र शर्मा ने भी नामांकन भरा है.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here