डॉ कफील खान की रिहाई पर प्रियंका गांधी बोलीं- इंसाफ पसंद लोगों को मुबारकबाद, रिहा करे UP सरकार | allahabad – News in Hindi

0
38
.

डॉ कफील खान की रिहाई पर प्रियंका गांधी ने किया ट्वीट (file photo)

CAA-NRC के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान भड़काऊ भाषण देने के मामले में डॉ. कफील खान (Dr Kafeel Khan) मथुरा जेल में बंद हैं. प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने यूपी की योगी सरकार से उनकी रिहाई की मांग की है.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 1, 2020, 5:00 PM IST

लखनऊ. नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और एनआरसी (NRC) को लेकर भड़काऊ भाषण देने के आरोप में जेल में बंद डॉ. कफील खान (Dr Kafeel Khan) को इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने उनपर लगाए गए NSA को गलत बताते हुए तुरंत रिहा करने के भी आदेश दिए हैं. इसी कड़ी में कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने ट्वीट करके योगी सरकार से डॉ कफील खान की जल्द रिहाई की मांग की.

मंगलवार को प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर लिखा, “आज इलाहाबाद हाई कोर्ट ने डॉ कफील खान के ऊपर से रासुका हटाकर उनकी तत्काल रिहाई का आदेश दिया.” आशा है कि यूपी सरकार डॉ कफील खान को बिना किसी विद्वेष के अविलंब रिहा करेगी. डॉ कफील खान की रिहाई के प्रयासों में लगे तमाम न्याय पसंद लोगों व उप्र कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को मुबारकबाद. बता दें कि इससे पहले प्रियंका गांधी ने राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को डॉ कफिल को न्याय दिलाने का अनुरोध करते हुए पत्र भी लिखा था.


बता दें कि भड़काऊ भाषण देने के आरोप में डॉ कफील खान मथुरा जेल में बंद हैं. यह आदेश चीफ जस्टिस गोविन्द माथुर और जस्टिस एसडी सिंह की खंडपीठ ने डॉ कफील खान की मां नुजहत परवीन की बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर दिया है.

सुप्रीम कोर्ट ने 15 दिन में फैसला लेने का दिया था निर्देश
गौरतलब है कि 11 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाईकोर्ट से डॉक्टर कफील खान की मां की अर्ज़ी पर 15 दिन में फैसला लेने को कहा है. डॉ. कफील अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) में संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के विरोध में हो रहे प्रदर्शनों के दौरान भड़काऊ बयान देने के आरोप में एनएसए के तहत जेल में बंद हैं. उनके ऊपर तीन बार एनएसए बढ़ायी गई है.

सोशल मीडिया पर चलाई थी रिहाई की मुहीम
इससे पहले डॉ. कफील की पत्नी ने ट्विटर पर अपने पति की रिहाई को लेकर 4 अगस्त को एक मुहिम भी चलाई थी, जिसे लोगों का काफी समर्थन मिला था. डॉ. कफील की पत्नी 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर डॉ. कफील के समर्थन में गुहार लगा चुकी है. उन्हें कथित रूप से CAA के विरोध के बीच 13 दिसंबर, 2019 को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में एक भड़काऊ भाषण देने के लिए इस साल जनवरी में मुंबई से गिरफ्तार किया गया था.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here