Amid tensions with China, central government orders to increase vigilance on other borders – चीन के साथ तनाव के बीच, केंद्र सरकार ने अन्य सीमाओं पर सतर्कता बढ़ाने का दिया आदेश

0
36
.

पिछले दो महीनों में SSB और नेपाल रक्षक बल के बीच झड़पों की सूचना मिली है

नई दिल्ली:

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भारत-नेपाल सीमा और उत्तराखंड (Uttarakhand) और सिक्किम (Sikkim) में ट्राइ-जंक्शन क्षेत्रों पर अधिक सतर्कता बरतने का आदेश दिया है. देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले सभी बलों को अतिरिक्त सतर्क रहने के लिए कहा गया है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “लद्दाख के चुशुल के पास चीनी हस्तकक्षेप सिर्फ एक शुरुआत है, इसलिए सीमाओं की रक्षा करने वाले सभी बलों को अतिरिक्त सतर्क रहने के लिए कहा गया है,” सूत्रों ने कहा कि ऐसी चिंताएं हैं कि चीन नेपाल के साथ अपने प्रभाव का इस्तेमाल परेशानी पैदा करने के लिए कर सकता है. और खुफिया एजेंसियों ने एसएसबी और भारत-तिब्बत सीमा गश्ती दल के साथ इस पर इनपुट साझा किए हैं.

यह भी पढ़ें

सिक्किम ट्राइ-जंक्शन क्षेत्र, जहां भारत, चीन और तिब्बत के क्षेत्र मिलते हैं, एक महत्वपूर्ण क्षेत्र माना जाता है. यह त्रिकोणीय जंक्शन डोकलाम के दक्षिणी किनारे पर स्थित है, जहां भारतीय सेना और चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के बीच 2017 में काफी लंबे समय तक तनाव रहा था. साथ ही साथ सीमावर्ती गश्ती टीमों को भी कालापानी क्षेत्र के पास उत्तराखंड में अतिरिक्त सतर्क रहने के लिए कहा गया है.

गृह मंत्रालय ने एसएसबी को कहा है कि भारत-नेपाल और भूटान बॉर्डर की सुरक्षा के लिए सतर्कता बढ़ाए. एक वरिष्ठ अधिकारी ने NDTV को बताया कि इसके अलावा, उत्तराखंड और सिक्किम में ट्राइ-जंक्शन क्षेत्रों में सैनिकों की 80 कंपनियां भेजी गई हैं.उन्होंने कहा कि अतिरिक्त सैनिक, हाल ही में जम्मू-कश्मीर से निकाले गए थे. 

LAC के पास सेना, वायुसेना को उच्च स्तर की सतर्कता बरतने के निर्देश : सूत्र

पिछले दो महीनों में, एसएसबी और नेपाल गार्डिंग फोर्स के बीच कई झड़पों की सूचना भी मिली है. कुछ दिनों पहले नेपाल ने पीलीभीत क्षेत्र में कंसर्टिना के तारों को उठाया था. एक अधिकारी ने कहा, “नेपाल ने इन कंटीले तारों को खंभे के पास 8 से 11 के पास रखा था, लेकिन सरकार ने इस मामले को नेपाल के अधिकारियों के साथ उठाया.”उन्होंने कहा कि भारत-नेपाल सीमा एक खुली सीमा है और दोनों देश एक-दूसरे को इस तरह के चिह्न लगाने से रोकते हैं. दोनों ही देश पीलीभीत क्षेत्र में 53 किलोमीटर की सीमा साझा करते हैं.

हालांकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वतंत्रता दिवस पर अपने नेपाली समकक्ष केपी सिंह ओली से बात करने के बाद अधिकारियों ने कहा कि नेपाल के साथ तनाव एक हद तक कम हो गया है. बीएसएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “हाल की घटनाओं से पता चलता है कि चीन एक और मोर्चा खोलना चाहता है और पाकिस्तान को प्रॉक्सी के रूप में इस्तेमाल कर रहा है.”

 

VIDEO: अब सिक्किम में भारतीय और चीनी सैनिकों की झड़प का वीडिया आया सामने

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here