बीएमसी में हुआ सैनिटाइज़र घोटाला जनता की जान से खिलवाड़

0
48
.

हाइलाइट्स:

  • महाराष्ट्र में हुआ सैनिटाइजर घोटाला भाजपा ने लगाया आरोप
  • कोरोना काल में हुए इस घोटाले में एक राजनितिक परिवार शामिल
  • फिल्म अभिनेता डिनो मोरियो के नजदीकी लोगों को मिला टेंडर
  • शेलार ने कहा कि विधानसभा के मानसून सत्र में उठाएंगे इस मुद्दे को

महाराष्ट्र बीजेपी के नेता और पूर्व मंत्री आशीष शेलार ने शिवसेना पर आरोप लगते हुए कहा है कि फिल्म अभिनेता डिनो मोरिया और शिवसेना के एक नेता के रिश्तों के बारे में सबको पता है। डिनो मोरिया के नजदीकी लोगों को स्वास्थ्य विभाग के ठेके दिए जाते हैं। दूसरी तरफ मुंबई की महापौर किशोरी पेडनेकर अपने बेटे को कोविद सेंटर बनाने का कॉन्ट्रैक्ट दिलवाती हैं। इन सारी बातों का खुलासा विधानसभा के आगामी मानसून सत्र में भाजपा द्वारा किया जायेगा।

कोरोना काल में पैदा हुई फर्जी कंपनियां
बीजेपी नेता नेता आशीष शेलार ने नवभारत टाइम्स ऑनलाइन को बताया कि पहले राज्य में 142 कंपनियां सैनिटाइजर बनाती थी। कोरोना महामारी को कमाई का मौका समझते हुए 110 नई कंपनियां अचानक पैदा हो गयी। इनमे से 16 कंपनियों पर एफडीए ने छापा मारकर कार्रवाई भी की थी। जांच में 8 कंपनियां फर्जी पायी गयी थीं। एफडीए को पत्र लिखने के बाद भी एक भी कंपनी की जांच नहीं की गई जबकि सरकार को 252 कंपनियों की जांच करनी चाहिए थी। आशीष शेलार ने आरोप लगाया कि मुंबई महानगरपालिका में हुए सैनिटाइजर घोटाले में एक राजनितिक परिवार का हाथ है।
एनजीओ ने लिए थे सैनिटाइज़र के नमूने
शेलार ने बताया की एक एनजीओ ने सभी सैनिटाइजर के नमूने लिए थे। जिसमे से जांच के बाद 48 कंपनियों के उत्पाद मानकों के अनुसार नहीं थे। बीएमसी को इस मामले श्वेत पत्र निकाल कर मामला हाउस में सबके सामने रखना चाहिए। भाजपा इस अधिवेशन में इस मामले की पुलिस और सीबीआई जांच की मांग करेगी।

जनता के स्वास्थ्य से खिलवाड़
बीएमसी ने इस घोटाले के साथ जनता के स्वास्थ्य से खिलवाड़ किया है। महानगरपालिका के अस्पतालों में रखे हज़ारों करोड़ के निम्न स्तर सैनिटाइजर और डिसइंफेक्टेंट को स्टोर कर के रखा गया और उनका इस्तेमाल किया जा रहा है। जो जनता के स्वास्थ्य को और भी ख़राब कर सकता है। इसी की वजह एक जनवरी के महीने में एक मरीज की आँखों की रौशनी भी चली गयी थी। शेलार ने कहा की मैं इस मामले में बीएमसी कमिश्नर से तीन बार मिला लेकिन उन्होंने मेरी बातों पर ध्यान नहीं दिया। ख़राब गुणवत्ता वाले सैनिटाइज़र की वजह से लोगों की तबियत बिगड़ रही है।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here