Kanpur Encounter News; Vikas Dubey Aide Jai Bajpai Three Brothers Surrendered Today In Court, Sent to Chaubepur Jail | पुलिस को चकमा देकर जय बाजपेई के तीनों भाईयों ने कोर्ट में किया सरेंडर, मकान की कुर्की का जारी हुआ था नोटिस

0
69
.

  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur Encounter News; Vikas Dubey Aide Jai Bajpai Three Brothers Surrendered Today In Court, Sent To Chaubepur Jail

कानपुर9 घंटे पहले

कोर्ट में अंतरिम जमानत अर्जी दाखिल की गई, लेकिन कोर्ट ने नहीं माना। आखिरकार तीनों को अस्थाई जेल चौबेपुर भेज दिया गया।

  • बिकरु गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोपी रहे विकास दुबे का खास साथी है जय बाजपेई
  • तीनों भाईयों पर पुलिस ने 25-25 हजार का इनाम घोषित किया, कोर्ट ने अस्थाई जेल भेजा

कानपुर शूटआउट के मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे के खास साथी और उसके फाइनेंसर जय बाजपेई पर पुलिस का शिकंजा लगातार कसता जा रहा है। शुक्रवार को जय बाजपेयी के तीन भाईयों ने पुलिस को चकमा देकर एडीजे-पंचम की कोर्ट में नाटकीय ढंग से सरेंडर कर दिया। पुलिस ने तीनों भाइयों के मकान की कुर्की के लिए नोटिस जारी किया था। साथ ही इससे पहले तीनों पर 25-25 हजार का इनाम भी घोषित किया गया था। कोर्ट में अंतरिम जमानत अर्जी दाखिल की गई, लेकिन कोर्ट ने नहीं माना। आखिरकार तीनों को अस्थाई जेल चौबेपुर भेज दिया गया।

तीनों पर 25-25 हजार का इनाम था।

तीन दिन पहले हुई थी मुनादी

चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरु गांव में बीते दो जुलाई की रात सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद मुख्य आरोपी विकास दुबे की फरारी में उसके खासी साथी जय बाजपेयी का नाम सामने आया था। जय बाजपेई जेल में है। वहीं, जय बाजपेयी के तीन भाई रजयकांत बाजपेयी, अजय कांत और शोभित बाजपेयी का भी आपराधिक इतिहास सामने आया। जिस पर पुलिस ने नजीराबाद थाने में गैंगस्टर एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था। लेकिन, गिरफ्तारी से पहले तीनों भाई फरार हो गए। पुलिस ने 25-25 हजार का इनाम घोषित किया। तीन दिन पहले ही कुर्की की कार्रवाई के लिए पुलिस ने मुनादी कराई थी।

गुरुवार को दाखिल हुई थी अर्जी

विशेष न्यायाधीश गैंगस्टर कोर्ट में सरेंडर के लिए गुरुवार को ही अर्जी दाखिल की गई थी। लेकिन, किसी के कारण से तीनों कोर्ट नहीं पहुंच पाए। शुक्रवार की दोपहर अधिवक्ता देवेंद्र द्विवेदी ने तीनों को कोर्ट में हाजिर कराया। अधिवक्ता ने कहा कि, पुलिस ने 323 और 504 के आधार पर गैंगस्टर लगाया है। इसके साथ ही तीनों पर इनाम भी घोषित कर दिया। इसका न्यायालय में विरोध किया था। अब पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ करने की प्रक्रिया में जुट गई है।

गैंगस्टर विकास दुबे (बाएं से दूसरा) के साथ जय बाजपेयी (दाएं से पहले)।

गैंगस्टर विकास दुबे (बाएं से दूसरा) के साथ जय बाजपेयी (दाएं से पहले)।

0

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here