Worlds Largest Economy America Is Under Threat Of Economic Ruin, Coronavirus, Covid-19 | दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था अमेरिका के ऊपर मंडरा रहा है ये भयानक खतरा

0
61
.

Coronavirus (Covid-19): अमेरिका में कोविड-19 से निपटने के लिये जारी उपायों पर हो रहे खर्च और अर्थव्यवस्था को गति देने के लिये 2,000 अरब डॉलर से अधिक के प्रोत्साहन उपायों को देखते हुए बजट घाटा रिकार्ड स्तर पर पहुंचने की आशंका है.

Bhasha | Updated on: 04 Sep 2020, 12:03:13 PM

Donald Trump (Photo Credit: फाइल फोटो)

Coronavirus (Covid-19): अमेरिकी सरकार (US Government) का बजट घाटा रिकार्ड 3,300 अरब डॉलर पहुंच जाने का अनुमान है. कोविड-19 (Coronavirus Epidemic) से निपटने के लिये जारी उपायों पर हो रहे खर्च और अर्थव्यवस्था (US Economy) को गति देने के लिये 2,000 अरब डॉलर से अधिक के प्रोत्साहन उपायों को देखते हुए बजट घाटा रिकार्ड स्तर पर पहुंचने की आशंका है. कांग्रेस बजट कार्यालय ने यह अनुमान जताया है. घाटे में वृद्धि का मतलब है कि संघीय कर्ज अगले साल सालाना सकल घरेलू उत्पाद को पार कर जाएगा.

यह भी पढ़ें: फ्रांस ने अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए पेश किया 100 अरब यूरो का भारी-भरकम पैकेज

व्यक्तिगत आयकर संग्रह पिछले साल के मुकाबले 11 प्रतिशत कम
यह स्थिति ठीक वैसी ही होगी जैसा कि विश्व युद्ध-दो के बाद हुई थी. उस समय संचयी कर्ज अर्थव्यवस्था के आकार से भी अधिक हो गया था. बुधवार को जारी 3,300 अरब डॉलर का अनुमान 2019 के घाटे से तीन गुना से भी अधिक है. वहीं 2008-09 में आयी नरमी के स्तर से दो गुना है. एक तरफ जहां सरकार के खर्च बढ़ रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ मंदी के कारण कर राजस्व कम हुआ है. व्यक्तिगत आयकर संग्रह पिछले साल के मुकाबले 11 प्रतिशत कम है जबकि कंपनी कर संग्रह 34 प्रतिशत कम चल रही है. कोरोना वायरस की रोकथाम के लिये अर्थव्यवस्था को बंद किया गया था. इसका असर अर्थव्यवस्था और लोगों के रोजगार पर पड़ा.

यह भी पढ़ें: IMF ने भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर जारी किया बेहद डराने वाला अनुमान 

रोजगार से हाथ धने वालों को राहत देने के लिये 1,200 डॉलर का सीधे भुगतान और प्रोत्साहन उपायों की घोषणा की गयी. इससे अल्पकाल में अर्थव्यवस्था को राहत मिली. बढ़ते खर्च को देखते हुए सांसद और व्हाइट हाउस पांचवें वायरस राहत पैकेज के आकार को लेकर आपस में उलझ रहे हैं. रिपब्लिकन सांसदों में महामारी से निपटने को लेकर बढ़ती लागत को लेकर चिंता बढ़ने लगी है, जबकि डेमोक्रेटिक नियंत्रण वाले सदन ने मई में 3,500 अरब डॉलर के पैकेज को पारित किया था. हालांकि, सदन की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी ने इस कम कर 2,200 अरब डॉलर करने की इच्छा जतायी है.

 


 

 



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here