पूर्व SP विधायक आरिफ अनवर हाशमी गिरफ्तार, धोखाधड़ी और सरकारी जमीनें हड़पने का आरोप | lucknow – News in Hindi

0
119
.

धोखाधड़ी और फर्जी दस्तावेजों के आधार पर सरकारी जमीनों को हड़पने के आरोपी आरिफ अनवर हाशमी पूर्व में दो बार समाजवादी पार्टी के विधायक रह चुके हैं

पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी (Former SP MLA Arif Anwar Hashmi) और उनके परिजनों पर कूटरचित दस्तावेजों के सहारे फर्जी अभिलेख बनाकर सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जा (Land Grabbing) करने का भी आरोप है. इस संबंध में बलरामपुर के सादुल्लाह नगर थाने में दो अलग-अलग मुकदमे दर्ज हैं


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 5, 2020, 5:56 PM IST

बलरामपुर. समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी (Former SP MLA Arif Anwar Hashmi) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. हाशमी पर धोखाधड़ी (Fraud) और लोक संपत्ति निवारण अधिनियम जैसे गंभीर मुकदमे दर्ज थे. पूर्व विधायक और उनके परिजनों पर कूटरचित दस्तावेजों के सहारे फर्जी अभिलेख बनाकर सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जा (Land Grabbing) करने का भी आरोप है. इस संबंध में बलरामपुर के सादुल्लाह नगर थाने में दो अलग-अलग मुकदमे दर्ज हैं. पहले मुकदमे की जांच क्राइम ब्रांच की टीम कर रही है जबकि दूसरे मुकदमे की विवेचना स्थानीय पुलिस कर रही है. दोनों ही मुकदमों में धोखाधड़ी कर सरकारी जमीन कब्जाने का आरोप है.

आरोपी आरिफ अनवर हाशमी पर लोक संपत्ति निवारण अधिनियम जैसी गंभीर धाराओं में भी मुकदमा दर्ज किया गया है. इन दोनों ही मुकदमों में आरिफ अनवर हाशमी और उनके परिजन और राजस्वकर्मी भी आरोपी हैं. शनिवार को भारी संख्या में पुलिसबल के साथ क्राइम ब्रांच की टीम ने पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी को उनके घर सादुल्लाह नगर से गिरफ्तार किया. गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने आरिफ अनवर हाशमी को न्यायालय में पेश किया.

बता दें कि आरिफ अनवर हाशमी वर्ष 2007 में सादुल्लाह नगर विधानसभा क्षेत्र से समाजवादी पार्टी के टिकट पर जीतकर विधायक बने थे. वहीं वर्ष 2012 में उन्होंने एसपी के ही टिकट पर उतरौला विधानसभा क्षेत्र से चुनाव जीता था. आरिफ अनवर हाशमी पर सरकारी अभिलेखों में हेराफेरी कर फर्जी दस्तावेजों के जरिए ग्राम समाज की जमीन, तालाब, नवीन परती और सरकारी स्कूल की जमीन हड़पने का आरोप है. एक वर्ष पूर्व वादी रमाकांत दुबे और ज्ञानचंद सोनी की तहरीर पर पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी के खिलाफ सादुल्लाह नगर थाने में धोखाधड़ी का पहला मुकदमा दर्ज किया गया था जिसकी जांच क्राइम ब्रांच की टीम कर रही थी.

आरिफ अनवर हाशमी और उनके परिजनों के खिलाफ थाने में दो मुकदमा दर्जवहीं 30 अगस्त, 2020 को वादी अनिल श्रीवास्तव की तहरीर पर हाशमी और उनके 13 अन्य सहयोगियों के खिलाफ सादुल्लाह नगर थाने में धोखाधड़ी और जालसाजी का दूसरा मुकदमा दर्ज किया गया. इनमें आरिफ अनवर हाशमी के भाई और राजस्वकर्मी भी आरोपी बनाए गए हैं. हाशमी और उनके भाइयों पर मुकदमा दर्ज होने के बाद इनके शस्त्र लाइसेंसों के निरस्त्रीकरण (कैंसिल करने) की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है. दो दिन पूर्व पुलिस अधीक्षक (एसपी) देवरंजन वर्मा ने पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी और उनके भाई मारूफ अनवर हाशमी के चार शस्त्र लाइसेंसों के निरस्त्रीकरण की रिपोर्ट जिलाधिकारी (डीएम) कृष्णा करुणेश को भेजी है.

एसपी देवरंजन वर्मा ने बताया कि जिस मुकदमे की जांच क्राइम ब्रांच की टीम कर रही थी, उसको जालसाजी और धोखाधड़ी कर सरकारी जमीनों पर कब्जा किए जाने के पुख्ता सबूत हाथ लगे हैं. उन्होंने बताया कि सादुल्लाह नगर थाने में दो मुकदमे दर्ज होने के बाद समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी को गिरफ्तार कर लिया गया है. आरिफ अनवर हाशमी की गिरफ्तारी से राजनीतिक गलियारों में हड़कंप मचा गया है.



Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here