महाराष्ट्र में महिलाएं असुरक्षित हो जा रही हैं दस प्रतिशत अपराध बढ़े

0
52
.

हाइलाइट्स:

  • आशीष शेलार ने लगाए सीएम पर गंभीर आरोप कहा सीएम सिर्फ घर में ही रहते हैं जनता से मिलकर उनको जमाना हो गया है
  • शेलार ने कहा की इस सरकार को जनता से कोई सरोकार नहीं है इनको सिर्फ अपने अहंकार में ही जीना है
  • सरकार ने एक पैसे की भी मदद जनता को नहीं दी है जो पैसे केंद्र ने भेजे थे उनको को ही बांटा गया है
  • शेलार ने सवाल उठाया, मेट्रो कारशेड किसको फायदा पहुंचाने के लिए शिफ्ट किया जा रहा है

मुंबई
महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री और मौजूदा बीजेपी विधायक आशीष शेलार ने नवभारत टाइम्स ऑनलाइन से खास बातचीत में उद्धव ठाकरे सरकार पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

कोरोना काल में जनता के बीच नहीं गए सीएम
सीएम उद्धव ठाकरे पर बात करते हुए हुए आशीष शेलार ने कहा, ‘ मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को अपने स्वास्थ्य की चिंता करनी चाहिए। यह ठीक बात है लेकिन जनता के बीच में ना जाना उनके दुःख दर्द को न समझना यह बिलकुल गलत है। सीएम साहब बीते पांच में महीनों में सिर्फ तीन बार ही बाहर निकले हैं। जिसमे से पंढरपुर , पुणे और राज्य में आए तूफान के समय रायगढ़ में गए थे। उसके बाद आजतक वो घर से बाहर नहीं निकले हैं। राज्य के अधिकारी तो उनसे ऑनलाइन मुलाकात कर लेते हैं। लेकिन महाराष्ट्र की एक करोड़ जनता तो उनकी शक्ल देखने को तरस गयी है। सीएम से ज्यादा एक्टिव तो शरद पवार जी हैं जो जनता के बीच में जा रहे हैं।

जनता की नहीं बल्कि घमंड वाली सरकार है
आशीष शेलार ने मौजूदा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा, ‘ इस सरकार को जनता से कोई लेना देना नहीं है। यह सरकार एक घमंडी सरकार है फिर चाहे सुशांत सिंह का मामला सीबीआई को देने का हो या फिर अंतिम वर्ष के छात्रों (final year students ) को परीक्षा लिए बिना ही पास करने फैसला , नीट और जेईई के स्टूडेंट्स एग्जाम देना चाह रहे थे लेकिन यह सरकार उनकी परीक्षा लेना ही नहीं चाह रही थी।

निजी बिल्डर को फायदा पहुंचाने के लिए मेट्रो कारशेड शिफ्ट किया गया
शेलार ने मेट्रो कारशेड शिफ्ट करने को लेकर सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं, उन्होंने कहा, ‘ मेट्रो कारशेड को शिफ्ट करने का कदम बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। हमारी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट, एनजीटी, पर्यावरण विभाग और अन्य सम्बंधित विभागों से बाकायदा अनुमति हासिल करने के बाद में मेट्रो कारशेड का निर्माण शरू किया था। यह सरकार की साजिश हो सकती है किसी निजी बिल्डर को फायदा पहुंचाने की, इसके अलावा अब फिर से यह सभी मंजूरी लेनी होगी, जिसमें विलम्ब होगा इस कदम से नुकसान ही होगा।

राज्य में महिला उत्पीडन बढ़ा
आशीष शेलार ने कहा, ‘ राज्य में महिलाओं के उत्पीड़न को रोकने में सरकार पूरी तरह से विफल रही है। सीआईडी की रिपोर्ट के मुताबिक महिला उत्पीड़न के मामले 10 फीसदी से ज्यादा बढ़ें हैं। घर से लेकर अस्पताल तक महिलाएं कहीं भी सुरक्षित नहीं है। कोविड सेंटर में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। जो चिंता का विषय है इस मुद्दे को भी हम सदन में उठाएंगे।

सरकार ने एक पैसे की भी मदद नहीं की
शेलार ने कहा, ‘ महाराष्ट्र सरकार ने जनता को अपने खजाने से एक रुपए की भी मदद नहीं की है, जो पैसे केंद्र सरकार ने दिए हैं उसे ही जनता में बांटकर अपनी पीठ थपथपाई जा रही है। राज्य में कोरोना से बचाने वाली जीवनरक्षक दवा रेमडेसिवीर को सरकार पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं करवा पाई है।

ऐसा गृहमंत्री पहली बार देखा
सरकार के ऊपर सीधा हमला बोलते हुए शेलार ने कहा, ‘ ऐसा गृहमंत्री मैंने पहली बार देखा है जो किसी को राज्य में आने से रोक रहे हैं और उसे यहाँ से चले जाने के लिए कह रहे हैं। निश्चित तौर पर कंगना ने मुंबई पुलिस के बारे में गलत कहा है और बीजेपी उसका समर्थन बिलकुल भी नहीं करती है। लेकिन जहाँ तक उनको यहाँ पर आने से रोकना और उन्हें सबक सिखाने की बात कही जा रही है हम समर्थन नहीं करते हैं। हम आज भी अपनी भूमिका पर कायम है की सुशांत सिंह मामले में सरकार किसी बड़े आदमी को बचाने का प्रयास कर रही थी। इसलिए मुंबई पुलिस पर दबाव बनाया जा रहा था। इसी वजह से मुंबई पलिस की छवि भी ख़राब हुई।

पूरी मुंबई में फैला है ड्रग्स का कारोबार

आशीष शेलार बांद्रा पश्चिम से विधानसभा से विधायक है उन्होने अपने क्षेत्र में फैले हुए ड्रग्स के कारोबार को लेकर सरकार और मुंबई पुलिस से कार्रवाई की मांग की है। शेलार के मुताबिक पूरी मुंबई में यह काला कारोबार फैला हुआ है लेकिन पुलिस इस मामले को गंभीरता से नहीं ले रही है।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here